Wednesday, September 22, 2021
Homeराजनीति'स्वागत है महाराज, साथ है शिवराज': BJP के हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया को ट्विटर पर...

‘स्वागत है महाराज, साथ है शिवराज’: BJP के हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया को ट्विटर पर बधाई की बहार

"आज मैं बहुत खुश हूँ। अब सरकार शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में बनेगी। हम खुश हैं क्योंकि मैंने उनके अंतर्गत काम किया है और जानती हूँ कि हमारे पास जनता के लिए कितनी लाजवाब योजनाएँ थी। मगर, आज वो नहीं हैं। मैं अपने भतीजे को शुभकामनाएँ देती हूँ और उम्मीद करती हूँ बुआ-भतीजे की जोड़ी अच्छा करेगी।"

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बुधवार (मार्च 11, 2020) को यानी आज भारतीय जनता पार्टी का हाथ थाम लिया। उन्होंने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा की उपस्थिति में पार्टी की सदस्यता ली। इस अवसर पर उन्होंने नड्डा समेत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह का आभार जताया। उन्होंने इस फैसले को अपने जीवन के लिए नया रास्ता बताया। साथ ही ये भी कहा कि अब कॉन्ग्रेस वो पार्टी नहीं रही जो पहले थी।

सिंधिया के इस फैसले के बाद भाजपा में शामिल होने से पार्टी नेताओं में एक अलग ही खुशी देखने को मिल रही है। ट्विटर पर बधाई संदशों की बहार आ गई। प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने सिंधिया का इस अवसर पर अलग ही अंदाज में स्वागत किया। सिंधिया के भाजपा में शामिल होते ही उन्होंने ट्वीट पर लिखा, “स्वागत है महाराज, साथ है शिवराज।” कुछ ही देर के भीतर में साढ़े तीन हजार लोगों ने इसे रीट्वीट कर दिया। साथ ही एक हजार लोगों ने इसपर अपनी प्रतिक्रिया दे डाली।

ज्योतिरादित्य के भाजपा में शामिल होते ही उनकी बुआ यशोधरा राजे ने भी इस पर अपनी खुशी जाहिर की और भतीजे को ढेरों शुभकामनाएँ दी। उन्होंने मीडिया से बातचीत में कहा, “आज मैं बहुत खुश हूँ। अब सरकार शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में बनेगी। हम खुश हैं क्योंकि मैंने उनके अंतर्गत काम किया है और जानती हूँ कि हमारे पास जनता के लिए कितनी लाजवाब योजनाएँ थी। मगर, आज वो नहीं हैं। मैं अपने भतीजे को शुभकामनाएँ देती हूँ और उम्मीद करती हूँ बुआ-भतीजे की जोड़ी अच्छा करेगी।”

सिंधिया के पार्टी में शामिल होने के बाद इसकी खुशी राजस्थान में भी दिखाई दी। यशोधरा राजे की बड़ी बहन और राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने लिखा, “आज यदि राजमाता साहब हमारे बीच होतीं तो आपके इस निर्णय पर जरूर गर्व करती। ज्योतिरादित्य ने राजमाता जी द्वारा विरासत में मिले उच्च आदर्शों का अनुसरण करते हुए देशहित में यह फैसला लिया है, जिसका मैं व्यक्तिगत और राजनीतिक दोनों ही तौर पर स्वागत करती हूँ।”

अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री ने भी उनका पार्टी में स्वागत करते हुए लिखा, “भाजपा परिवार से जुड़ने पर आपका हार्दिक अभिनंदन है। मुबारक हो, ज्योतिरादित्य सिंधिया जी। भाजपा एक ऐसी पार्टी है जो जनता की सेवा के लिए समर्पित है और हमेशा राष्ट्र को पहले रखती है। ये पार्टी काम करने योग्य है। यहाँ आपको अपना सही उद्देश्य मिलेगा।”

अकाली दल के नेता मंजिंदर सिंह सिरसा ने भी सिंधिया को कॉन्ग्रेस छोड़ने पर ट्विटर पर बधाई दी। उन्होंने लिखा, “युवा और जीवंत लोग बुजुर्गों और भ्रष्टाचारियों की पार्टी-कॉन्ग्रेस को छोड़ रहे हैं। स्वागत ज्योतिरादित्य सिंधिया।”

गौरतलब है सिंधिया के भाजपा में शामिल होने पर जहाँ भाजपा के नेताओं और समर्थकों में खुशी की लहर है। वहीं कॉन्ग्रेसी नेता उन्हें अवसरवादी कहने से नहीं चूक रहे। राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने इस पर बयान जारी करते हुए कहा है कि ऐसे अवसरवादियों को जल्द से जल्द पार्टी को छोड़ ही देना चाहिए। कॉन्ग्रेस पार्टी ने उन्हें 18 साल दिए। उन्होंने मौक़ा आने पर मौकापरस्ती दिखाई। लोग उन्हें सबक जरूर सिखाएँगे।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘जो कौम अपने इतिहास व परंपराओं को भूला देती है, वह अपने भूगोल की भी रक्षा नहीं कर पाती’: दादरी में CM योगी

सीएम ने कहा, "राजा मिहिर भोज नौंवी सदी के एक महान धर्मरक्षक थे। जो कौम अपने इतिहास व परंपराओं को विस्मृत कर देती है, वह अपने भूगोल की भी रक्षा नहीं कर पाती।''

‘साड़ी स्मार्ट ड्रेस नहीं’- दिल्ली के अकीला रेस्टोरेंट ने महिला को रोका: ‘ओछी मानसिकता’ पर भड़के लोग, वीडियो वायरल

अकीला रेस्टोरेंट के स्टाफ ने महिला से कहा कि चूँकि साड़ी स्मार्ट आउटफिट नहीं है इसलिए वो उसे पहनने वाले लोगों को अंदर आने की अनुमति नहीं देते।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,748FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe