Saturday, May 18, 2024
Homeराजनीतिकॉन्ग्रेस को अमेठी में नहीं मिल रहा उम्मीदवार, क्या वाड्रा से बची आस? बोले...

कॉन्ग्रेस को अमेठी में नहीं मिल रहा उम्मीदवार, क्या वाड्रा से बची आस? बोले प्रियंका गाँधी के पति- लोग चाहते हैं कि अपनी राजनीति की शुरुआत यहीं से करूँ

रॉबर्ट वाड्रा ने कहा, "लोग जानते हैं कि हमने कितना प्रयास किया… वे सोशल मीडिया पर मुझसे जुड़ते हैं, मेरे कार्यालय के बाहर मुझसे मिलते हैं, मेरा जन्मदिन मनाते हैं," उन्होंने कहा, "मेरी अलग पार्टी लाइन के नेताओं से भी दोस्ती है। उनको यह लगता है कि अगर मैं सांसद बनता हूँ तो अलग स्तर पर काम हो पाएगा।"

लोकसभा चुनाव 2024 में यूपी की अमेठी सीट पर कॉन्ग्रेस अभी तक उम्मीदवार तय करने में नाकाम रही है। पिछले लोकसभा चुनाव में राहुल गाँधी के यहाँ से हारने के बाद कॉन्ग्रेस बुरी तरह हिली हुई है। हालाँकि, गाँधी परिवार की यह परंपरागत सीट के लिए पार्टी को एक अदद उम्मीदवार की तलाश है। इस बीच राहुल गाँधी के बहनोई रॉबर्ट वाड्रा ने यहाँ से चुनाव लड़ने में रुचि दिखाई है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, कॉन्ग्रेस की नेता प्रियंका गांधी के पति रॉबर्ट वाड्रा ने कहा कि अमेठी की जनता चाहती है कि वे अपने राजनीतिक सफर की शुरुआत अमेठी से करें। वाड्रा का कहना है कि अमेठी की जनता मानती है कि उसने मौजूदा सांसद को चुनकर बड़ी गलती कर दी है। बता दें कि इस सीट से स्मृति ईरानी भाजपा की सांसद हैं।

रॉबर्ट वाड्रा ने कहा कि वर्षों से गाँधी परिवार ने अमेठी, रायबरेली, सुल्तानपुर, जगदीशपुर जैसे क्षेत्रों में मेहनत किया है। इसके कारण वहाँ के लोगों की प्रगति हुई है। उन्होंने कहा, “जो कोई भी रायबरेली या अमेठी का प्रतिनिधित्व करता है उसे लोगों की प्रगति, उनकी सुरक्षा के लिए काम करना चाहिए और भेदभाव की राजनीति नहीं करनी चाहिए।”

वाड्रा ने दावा किया कि अमेठी के लोगों को लगता है कि स्मृति को ईरानी को सांसद बनाकर उन्होंने गलती की। वाड्रा ने दावा कि या कि अमेठी के लोग चाहते हैं कि गाँधी परिवार वापस आए और फिर से अमेठी का प्रतिनिधित्व करे। उन्होंने कहा, “यहाँ तक कि मुझसे भी आशा करते हैं कि मैं अपना पहला राजनीतिक कदम यहाँ रखूँ।”

रॉबर्ट वाड्रा ने कहा, “लोग जानते हैं कि हमने कितना प्रयास किया… वे सोशल मीडिया पर मुझसे जुड़ते हैं, मेरे कार्यालय के बाहर मुझसे मिलते हैं, मेरा जन्मदिन मनाते हैं,” उन्होंने कहा, “मेरी अलग पार्टी लाइन के नेताओं से भी दोस्ती है। उनको यह लगता है कि अगर मैं सांसद बनता हूँ तो अलग स्तर पर काम हो पाएगा।”

प्रियंका गाँधी के चुनाव लड़ने के लेकर उन्होंने कहा, “मैं हमेशा चाहता हूँ कि प्रियंका गाँधी पहले सांसद बनें। उसके बाद मैं भी संसद आ सकता हूँ। मैं दूसरे नेताओं से मिलता हूँ तो वे पूछते हैं कि आप राजनीति में आने में देर क्यों लगा रहा हैं। आप हमारी पार्टी से आ जाइए।” वाड्रा ने कहा कि सही समय आने पर वे फैसला लेंगे।

बता दें कि कई घोटालों में फँसे कॉन्ग्रेस महासचिव प्रियंका गाँधी के पति रॉबर्ट वाड्रा में सक्रिय राजनीति का आने का संकेत पहली बार नहीं दिया है। उन्होंने जुलाई 2022 में भी कहा था कि अगर लोग चाहेंगे तो वह सक्रिय राजनीति में आने पर विचार करेंगे। उनकी यह टिप्पणी नेशनल हेराल्ड अखबार से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में सोनिया गाँधी से पूछताछ के बाद आई है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘अनुच्छेद 370 को हमने कब्रिस्तान में गाड़ दिया, इसे वापस नहीं लाया जा सकता’: PM मोदी बोले- अलगाववाद को खाद-पानी देने वाली कॉन्ग्रेस ने...

पीएम मोदी ने कहा, "आजादी के बाद गाँधी जी की सलाह पर अगर कॉन्ग्रेस को भंग कर दिया गया होता, तो आज भारत कम से कम पाँच दशक आगे होता।

स्वाति मालीवाल पर AAP का यूटर्न: पहले पार्टी ने कहा कि केजरीवाल के पीए विभव ने की बदतमीजी, अब महिला सांसद के आरोप को...

कल तक स्वाति मालीवाल के साथ खड़ा रहने का दावा करने वाली आम आदमी पार्टी ने अब यू टर्न ले लिया है और विभव कुमार के बचाव में खड़ी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -