Monday, May 20, 2024
Homeराजनीतिरामपुर से सपा प्रत्याशी मोहिबुल्लाह नदवी ने आम्बेडकर की चित्र पर नहीं चढ़ाया फूल:...

रामपुर से सपा प्रत्याशी मोहिबुल्लाह नदवी ने आम्बेडकर की चित्र पर नहीं चढ़ाया फूल: सोशल मीडिया पर उठ रहे सवाल, दलित-मुस्लिम एकता में आयोजित हुई थी सभा

बताया जा रहा है कि तमाम नेताओं ने बारी-बारी से डॉक्टर अम्बेडकर की मूर्ति पर फूल चढ़ाए, लेकिन समाजवादी प्रत्याशी मोहिबुल्लाह नदवी ने इससे किनारा कर लिया। कार्यक्रम के समापन के बाद समाजवादी पार्टी प्रत्याशी मीडिया से रूबरू हुए। इसी दौरान एक पत्रकार ने उनसे पूछ लिया कि 'आपने बाबासाहेब भीमराव अम्बेडकर के चित्र पर फूल क्यों नहीं चढ़ाए।'

उत्तर प्रदेश के रामपुर से समाजवादी पार्टी से प्रत्याशी मोहिबुल्लाह नदवी का सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है। इस वीडियो में दिख रहा है कि मोहिबुल्लाह नदवी ने डॉक्टर भीमराव आम्बेडकर के चित्र पर फूल नहीं चढ़ाया। सोशल मीडिया पर इसे डॉक्टर आम्बेडकर का अपमान बताया जा रहा है। वीडियो में नदवी कहते हुए दिख रहे हैं कि उन्होंने अपने अंदाज में माल्यार्पण कर दिया है।

वीडियो के अंत में दिख रहा है कि इसके बाद नदवी वहाँ से तेजी से निकल गए। फूल चढ़ाने से इनकार करने से संबंधित जब पत्रकारों ने सवाल पूछा तो पुलिस का एक जवान और एक टोपी वाला व्यक्ति उसे मोहिबुल्लाह तक पहुँचने से रोकता है। यह वीडियो रविवार (14 अप्रैल 2024) को BK स्पीड न्यूज़ नाम के एक यूट्यूब चैनल पर शेयर हुआ है।

इस वीडियो की शुरुआत में पत्रकार ने बताया है कि रामपुर में 14 अप्रैल को डॉक्टर भीमराव आम्बेडकर की जयंती पर एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। इसमें समाजवादी पार्टी के तमाम नेता शामिल हुए थे। आयोजन का मकसद भी दलित-मुस्लिम एकता को मजबूती देना था। तमाम मंचासीन वक्ताओं ने अपने सम्बोधन दिए। कार्यक्रम के दौरान डॉक्टर आम्बेडकर के चित्र पर माल्यार्पण किया गया।

बताया जा रहा है कि तमाम नेताओं ने बारी-बारी से डॉक्टर अम्बेडकर की मूर्ति पर फूल चढ़ाए, लेकिन समाजवादी प्रत्याशी मोहिबुल्लाह नदवी ने इससे किनारा कर लिया। कार्यक्रम के समापन के बाद समाजवादी पार्टी प्रत्याशी मीडिया से रूबरू हुए। इसी दौरान एक पत्रकार ने उनसे पूछ लिया कि ‘आपने बाबासाहेब भीमराव अम्बेडकर के चित्र पर फूल क्यों नहीं चढ़ाए।’

इस सवाल पर मोहिबुल्लाह थोड़ा असहज हो गए। उन्होंने बस इतना कहा, “मैंने अपने तरीके से माल्यार्पण किया है।” हालाँकि, पत्रकार मोहिबुल्लाह नदवी के इस जवाब से संतुष्ट नहीं हुए। उन्होंने अपने सवाल को जारी रखा। महज कुछ ही सेकेंड के बाद मोहिबुल्लाह नदवी वीडियो में भागते नजर आए। वो फूल चढ़ाने वाले सवाल पर जवाब देने के लिए तैयार ही नहीं थे।

पत्रकारों ने भी उनका पीछा करना जारी रखा। पत्रकारों को पीछे पड़ा देखकर मोहिबुल्लाह नदवी की सुरक्षा में तैनात एक पुलिसकर्मी बीच में आ गया। उसने सवाल पूछ रहे मीडियाकर्मियों को रोक दिया। इस रोकटोक में नमाजी टोपी पहने एक अन्य व्यक्ति को भी देखा जा सकता है, जो मोहिबुल्लाह का सहयोगी बताया जा रहा है।

यह आयोजन रामपुर के बिलासपुर थाना क्षेत्र में पड़ने वाले गुजरेला गाँव में हुआ था। आयोजक INDI गठबंधन के घटक कॉन्ग्रेस पार्टी के नेता संजय कपूर थे। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कोई भी पदाधिकारी इस मामले पर बोलने के लिए तैयार नहीं है। सोशल मीडिया पर तमाम लोग इसे इस्लामी और शरिया कानून से जोड़ रहे हैं। हालाँकि, ऑपइंडिया इस वीडियो की पुष्टि नहीं करता है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

J&K के बारामुला में टूट गया पिछले 40 साल का रिकॉर्ड, पश्चिम बंगाल में सर्वाधिक 73% मतदान: 5वें चरण में भी महाराष्ट्र में फीका-फीका...

पश्चिम बंगाल 73% पोलिंग के साथ सबसे आगे है, वहीं इसके बाद 67.15% के साथ लद्दाख का स्थान रहा। झारखंड में 63%, ओडिशा में 60.72%, उत्तर प्रदेश में 57.79% और जम्मू कश्मीर में 54.67% मतदाताओं ने वोट डाले।

भारत पर हमले के लिए 44 ड्रोन, मुंबई के बगल में ISIS का अड्डा: गाँव को अल-शाम घोषित चला रहे थे शरिया, जिहाद की...

साकिब नाचन जिन भी युवाओं को अपनी टीम में भर्ती करता था उनको जिहाद की कसम दिलाई जाती थी। इस पूरी आतंकी टीम को विदेशी आकाओं से निर्देश मिला करते थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -