Thursday, June 1, 2023
Homeराजनीति'जामा मस्जिद में जल चढ़ा तो... मुसलमान बर्दास्त नहीं करेगा': जहाँगीरपुरी में बुलडोजर से...

‘जामा मस्जिद में जल चढ़ा तो… मुसलमान बर्दास्त नहीं करेगा’: जहाँगीरपुरी में बुलडोजर से भड़के सपा सांसद बर्क, बोले- ऐसा हुआ तो हजारों आदमियों का खून चढ़ेगा

"ऐसा हुआ तो हजारों आदमियों को खून चढ़ेगा। इसको मुसलमान कभी बर्दाश्त नहीं करेगा। हम हमन चाहते हैं, ऐसी बात क्यों करते हो। मैं गुजारिश करता हूँ कि...."

अपने विवादित बयानों को लेकर अक्सर चर्चा में रहने वाले संभल के सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क ने एक बार फिर भड़काऊ बयान दिया है। बर्क इस दौरान संभल की जामा मस्जिद में जल चढ़ाने वाली बात पर भी भड़कते नजर आए और उन्होंने ऐलान कर दिया कि यदि मस्जिद में जल चढ़ा तो हजारों लोगों का खून बहेगा। इसके साथ ही सपा सांसद ने प्रशासन को भी चेतावनी देते हुए हालात ठीक करने की हिदायत दे डाली।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, दिल्ली में हनुमान जयंती पर हुए दंगे के बाद जहाँगीरपुरी मस्जिद में हुई बुलडोजर कार्रवाई से नाराज सांसद बर्क ने कहा, “मस्जिद में तोड़फोड़ मुसलमानों को दबाने की कोशिश है। ऐसे में हिन्दुस्तान के अंदर मुसलमान जिंदा कैसे रहेगा। जहाँगीरपुरी में जो जुल्म हुआ है वह बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है। रमजान महीने में मस्जिद पर जो बुलडोजर चलाया गया है इससे बुरी बात नहीं हो सकती। इसका में दिल से निन्दा करता हूँ।”

उन्होंने कहा कि मस्जिद और उसके आसपास के क्षेत्र से हटाए गए अतिक्रमण का जायजा लेने के लिए अब वे जहाँगीरपुरी जाएँगे। अपने पौत्र और विधायक जियाउर्रहमान बर्क के साथ एक संयुक्त प्रेस वार्ता के दौरान बर्क ने कहा, “22 अप्रैल को वे जहाँगीरपुरी जाएँगे और देखेंगे कि कौन सा अतिक्रमण था जिस पर बुलडोजर चलाया गया है।” साथ ही दिल्ली में हुई अतिक्रमण पर कार्रवाई के लिए भाजपा सरकार को जिम्मेदार ठहराते हुए बर्क ने इस्तीफा भी माँगा।

वहीं जामा मस्जिद में जल चढ़ाने वाली बात पर बर्क ने कहा, “ऐसा हुआ तो हजारों आदमियों को खून चढ़ेगा। इसको मुसलमान कभी बर्दाश्त नहीं करेगा। हम हमन चाहते हैं, ऐसी बात क्यों करते हो। मैं गुजारिश करता हूँ कि प्रशासन को अलर्ट रहना चाहिए। ईद पर बिजली पानी की व्यवस्था होनी चाहिए। प्रशासन से माँग है कि इस बात का ध्यान रखा जाए कि नफरत न पनपने पाए। जामा मस्जिद पर जल चढ़ाने की बात कही, लेकिन हमने मुसलमानों को समझा-बुझाकर हालात को काबू किया है। मै यही गुजारिश करता हूँ कि ईद और अलविदा पर माकूल इंतजाम होने चाहिए।”

गौरतलब है कि यह पहली बार नहीं है जब सपा सांसद ऐसे भड़काऊ बयान दिए हों। इससे कुछ दिन पहले भी बर्क ने अपने एक बयान में कहा था कि बच्चियों पर नियंत्रण के लिए हिजाब जरूरी है। साथ ही उन्होंने कहा था कि इस्लाम कहता है कि जब बच्ची जवान होने लगे तो उसे हिजाब में रहना जरूरी है। हिजाब इसलिए भी जरूरी है जिससे बच्चियाँ कंट्रोल में रहें और हालात संभले रहें।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

GDP पर गलत साबित हुए कॉन्ग्रेस के ‘अर्थशास्त्री’ रघुराम राजन, राहुल गाँधी से कहा था- 5% भी हुआ तो भाग्यशाली होंगे, 7.2% रहा ग्रोथ

वित्त वर्ष 2022-23 में भारतीय अर्थव्यवस्था 7.2 प्रतिशत की दर से बढ़ी है। जीडीपी के आँकड़े सामने के बाद से आरबीआई के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन चर्चा में हैं।

दिल्ली में PM मोदी और प्रचंड की मुलाकात, हुए कई समझौते: नेपाल के नए नागरिकता कानून पर राष्ट्रपति ने लगाई मुहर, चीन को झटका

नेपाल के पीएम पुष्प कमल दहल प्रचंड चार दिवसीय भारत दौरे पर हैं। इस दौरान नेपाल ने अपने विवादास्पद नागरिकता कानून में संशोधन को मंजूरी दे दी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
259,224FollowersFollow
415,000SubscribersSubscribe