Saturday, July 24, 2021
Homeराजनीतिकंगना रनौत को गाली देने वाले 3 नेताओं का CM उद्धव ने किया प्रमोशन:...

कंगना रनौत को गाली देने वाले 3 नेताओं का CM उद्धव ने किया प्रमोशन: संजय राउत बने शिवसेना के मुख्य प्रवक्ता

शिवसेना के सांसद अरविंद सावंत, प्रियंका चतुर्वेदी और धीरशिल माने, महाराष्ट्र के मंत्री अनिल परब, उदय सामंत और गुलाबराव पाटिल, विधायक नीलम गोरे, प्रताप सरनाईक और सुनील प्रभु सहित 10 नेताओं को प्रवक्ता के रूप में नियुक्त किया गया। मुंबई की मेयर किशोरी पेडनेकर को भी प्रवक्ता बनाया गया।

लगातार विवादों में रहने वाले शिवसेना नेता और पार्टी मुखपत्र ‘सामना’ के एग्जीक्यूटिव एडिटर संजय राउत के परफॉरमेंस से खुश होकर उन्हें उद्धव ठाकरे ने पार्टी का मुख्य प्रवक्ता के पद से नवाजा है। संजय राउत ने हाल ही में कंगना रनौत के लिए आपत्तिजनक शब्द का प्रयोग किया था और बाद में कहा था कि वो उन्हें ‘नॉटी’ कहना चाह रहे थे। संजय राउत को अब शिवसेना में प्रमोशन मिला है। वो पार्टी के मुख्य प्रवक्ता बन गए हैं।

मंगलवार (सितम्बर 8, 2020) को शिवसेना सुप्रीमो और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने ‘सामना’ के जरिए इसकी घोषणा की। शिवसेना के सांसद अरविंद सावंत, प्रियंका चतुर्वेदी और धीरशिल माने, महाराष्ट्र के मंत्री अनिल परब, उदय सामंत और गुलाबराव पाटिल, विधायक नीलम गोरे, प्रताप सरनाईक और सुनील प्रभु सहित 10 नेताओं को प्रवक्ता के रूप में नियुक्त किया गया। मुंबई की मेयर किशोरी पेडनेकर को भी प्रवक्ता बनाया गया।

ज्ञात हो कि मुंबई की मेयर और शिवसेना नेता किशोर पेडनेकर ने भी कंगना रनौत पर आपत्तिजनक टिप्पणी करते हुए उन्हें ‘कंस मामा का वरदान’ बताया था। मेयर ने ‘टीवी 9 मराठी’ के एक ट्वीट की रिप्लाई में मराठी भाषा में ये टिप्पणी की थी। उस खबर में बताया गया था कि कंगना ने मुंबई को अपनी कर्मभूमि बताते हुए कहा था कि वो इस शहर को माँ यशोदा के रूप में देखती हैं, जिसने उन्हें अपनाया और उन्हें अपनी कर्मभूमि के लिए प्यार को साबित करने की कोई ज़रूरत नहीं।

प्रवक्ता बनाए गए प्रताप सरनाईक भी कंगना के खिलाफ धमकी भरी टिप्पणी कर चुके हैं। विधायक ने कहा था कि अगर अभिनेत्री मुंबई में घुसती हैं तो उनकी टाँगें तोड़ दी जाएँगी। धमकी देने के मामले में NCW ने महाराष्ट्र के डीजीपी को पत्र लिखा था। रेखा शर्मा ने कहा था कि कंगना को शिवसेना विधायक की धमकी काफी आपत्तिजनक है। जिन तीन नेताओं का प्रमोशन हुआ, वो सभी कंगना रनौत के खिलाफ टिप्पणी कर चुके हैं।

बाद में संजय राउत ने अपनी सफाई दी और कहा कि महाराष्ट्र में इसका दूसरा मतलब होता है। यहाँ पर इसका मतलब नॉटी और बेईमान होता है। संजय राउत ने कहा, “अगर कोई राजनीति करना चाहता है या फिर माहौल बनाना चाहता है तो किसी भी शब्द का कोई भी अर्थ निकाला जा सकता है। हमारे महाराष्ट्र में जब भी बात करते हैं तो हरामखोर का मतलब नॉटी और बेईमान कहा जाता है। कंगना रनौत नॉटी गर्ल है। मैंने देखा और पढ़ा है कि वह मजाक करती हैं। मैंने अपनी भाषा में कंगना को बेईमान कहा।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

दैनिक भास्कर के ₹2,200 करोड़ के फर्जी लेनदेन की जाँच कर रहा है IT विभाग: 700 करोड़ की आय पर टैक्स चोरी का खुलासा

मीडिया समूह की तलाशी में छह वर्षों में ₹700 करोड़ की आय पर अवैतनिक कर, शेयर बाजार के नियमों का उल्लंघन और लिस्टेड कंपनियों से लाभ की हेराफेरी के आयकर विभाग को सबूत मिले हैं।

पेगासस विवाद के पीछे बीडीएस या कतर, वॉशिंगटन पोस्ट की संपादक ने भी फोन नम्बरों की पुष्टि से किया इनकार: एनएसओ सीईओ

स्पाइवेयर पेगासस के मालिक एनएसओ ग्रुप के सीईओ ने कहा, ''मौजूदा 'स्नूपगेट' विवाद के पीछे बीडीएस मूवमेंट या कतर का हाथ हो सकता है।''

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,047FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe