Tuesday, June 18, 2024
Homeराजनीतिहिंदी सुन कर भड़के कॉन्ग्रेस सांसद शशि थरूर, केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया को कहा-...

हिंदी सुन कर भड़के कॉन्ग्रेस सांसद शशि थरूर, केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया को कहा- लोगों का अपमान हुआ

पोल्‍लाची (तमिलनाडु) से डीएमके सांसद केएस सुंदरम ने कोयंबटूर से इंटरनेशन फ्लाइट शुरू होने को लेकर अंग्रेजी में सवाल किया। इसका उत्तर केंद्रीय मंत्री ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया ने हिंदी में दिया। इसके बाद डिं‍डिगुल (तमिलनाडु) से डीएमके के एक अन्य सांसद पी वेलुसामी ने अंग्रेजी में सवाल‍ किया। इस प्रश्न का उत्तर भी सिंधिया ने हिंदी में दिया।

हिंदी और अंग्रेजी भाषा को लेकर दो पूर्व सहयोगियों के बीच गुरुवार (3 फरवरी 2022) को लोकसभा में कार्यवाही के दौरान बहसबाजी हो गई। संसद में प्रश्नकाल के दौरान अंग्रेजी में प्रश्न पूछे गए। इसका उत्तर केंद्रीय उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) ने हिंदी में दिया तो कॉन्ग्रेस नेता शशि थरूर (Congress Leader Shashi Tharoor) भड़क गए। वे इसे अपमान बताते हुए नाराज हो गए।

दरअसल, पोल्‍लाची (तमिलनाडु) से डीएमके सांसद केएस सुंदरम ने कोयंबटूर से इंटरनेशन फ्लाइट शुरू होने को लेकर अंग्रेजी में सवाल किया। इसका उत्तर केंद्रीय मंत्री ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया ने हिंदी में दिया। इसके बाद डिं‍डिगुल (तमिलनाडु) से डीएमके के ही एक और सांसद पी वेलुसामी ने अंग्रेजी में सवाल‍ किया। यह उड़ान योजना से जुड़ा था। इस प्रश्न का उत्तर भी सिंधिया ने हिंदी में दिया।

मध्य प्रदेश के गुना से लोकसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया जवाब देकर बैठे ही थे कि केरल के तिरुवनंतपुरम से कॉन्ग्रेस थरूर उखड़ गए। कॉन्ग्रेस के दोनों पुराने सहयोगियों के बीच तनाव उभर आया और दोनों के बीच बहस होने लगी। ज्योतिरादित्य पहले कॉन्ग्रेस में थे और 2012 से 2014 तक मनमोहन सिंह सरकार में उनके पास ऊर्जा मंत्रालय का स्वतंत्र प्रभार था।

गुस्साए थरूर ने कहा कि कृपया हिंदी में जवाब ना दें। यह लोगों का अपमान है। मंत्री अंग्रेजी में बोलते हैं। इसका जवाब देते हुए सिंधिया ने कहा कि सदन के सदस्य के लिए टिप्पणी करना अजीब बात है। उन्होंने कहा, “मैं हिंदी में बोलता हूँ तो सदन के सदस्य को आपत्ति है, जबकि सदन में एक अनुवादक भी है।”

दोनों के बीच जारी गर्मागर्म बहस को देखते हुए सदन के स्पीकर ने तुरंत हस्तक्षेप किया। स्पीकर ओम बिरला ने कहा कि हिंदी में जवाब देना अपमान नहीं है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘अच्छा! तो आपने मुझे हराया है’: विधानसभा में नवीन पटनायक को देखते ही हाथ जोड़ कर खड़े हो गए उन्हें हराने वाले BJP के...

विधानसभा में लक्ष्मण बाग ने हाथ जोड़ कर वयोवृद्ध नेता का अभिवादन भी किया। पूर्व CM नवीन पटनायक ने कहा, "अच्छा! तो आपने मुझे हराया है?"

‘माँ गंगा ने मुझे गोद ले लिया है, मैं काशी का हो गया हूँ’: 9 करोड़ किसानों के खाते में पहुँचे ₹20000 करोड़, 3...

"गरीब परिवारों के लिए 3 करोड़ नए घर बनाने हों या फिर पीएम किसान सम्मान निधि को आगे बढ़ाना हो - ये फैसले करोड़ों-करोड़ों लोगों की मदद करेंगे।"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -