Friday, July 30, 2021
Homeराजनीतिदो बार UP के कार्यवाहक CM रहे कॉन्ग्रेसी नेता रिज़वी BJP में शामिल, PM...

दो बार UP के कार्यवाहक CM रहे कॉन्ग्रेसी नेता रिज़वी BJP में शामिल, PM मोदी की कार्यशैली से हैं प्रभावित

"अल्पसंख्यकों में बीजेपी के बारे में एक प्रकार की ग़लतफ़हमी और भ्रम पैदा करने का काम किया जा रहा है। हमें बीजेपी को लेकर इस प्रकार के भ्रम को दूर करना है।"

कॉन्ग्रेस पार्टी के दिग्गज नेता और उत्तर प्रदेश में दो बार कार्यवाहक मुख्यमंत्री रह चुके डॉ अम्मार रिज़वी ने बुधवार (23 अक्टूबर) को भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) का हाथ थाम लिया। उन्होंने बीजेपी महासचिव अरुण सिंह की मौजूदगी में दिल्ली स्थित बीजेपी मुख्यालय में सदस्यता ग्रहण की। बीजेपी में शामिल होते ही रिजवी ने प्रधानमंत्री मोदी की नीतियों की जमकर प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि वो प्रधानमंत्री मोदी की कार्यशैली से काफी प्रभावित रहे हैं। अपना अनुभव साझा करते हुए रिजवी ने कहा कि जब वो हज यात्रा पर जा रहे थे, तब सऊदी अरब में लोग पीएम मोदी की ख़ूब तारीफ़ कर रहे थे।

बीजेपी पार्टी की सदस्यता प्राप्त करने के दौरान उन्होंने कहा, “अल्पसंख्यकों में बीजेपी के बारे में एक प्रकार की ग़लतफ़हमी और भ्रम पैदा करने का काम किया जा रहा है। हमें बीजेपी को लेकर इस प्रकार के भ्रम को दूर करना है।” उन्होंने याद दिलाया कि उनके ऑल इंडिया माइनोरिटी फॉर डेमोक्रेसी ने लोकसभा चुनाव में राजनाथ सिंह का समर्थन किया था। उन्होंने कहा कि वो बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और पार्टी के कार्यकारी उपाध्यक्ष जेपी नड्डा के मार्गदर्शन में काम करेंगे।

बता दें कि मूल रूप से सीतापुर के रहने वाले डॉ अम्मार रिज़वी यूपी में कॉन्ग्रेस के वरिष्ठ नेता रहे हैं और यूपी में दो बार कार्यवाहक मुख्यमंत्री भी रह चुके हैं। उन्होंने इस साल अप्रैल में कॉन्ग्रेस पार्टी के नेतृत्व पर दल-बदलुओं को तरजीह और कॉन्ग्रेस कार्यकर्ताओं की उपेक्षा का आरोप लगाते हुए प्रांतीय संगठनों के सभी पदों से इस्तीफ़ा दे दिया था। हिन्दू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी की हत्या की भरसक निंदा करते हुए रिजवी ने कहा था कि हिंसा किसी भी समस्या का हल नहीं है। कमलेश तिवारी के परिवार के प्रति उन्होंने गहरी संवेदना व्यक्त की थी।

ग़ौरतलब है कि बुधवार को झारखंड में विपक्ष के 6 विधायक भी बीजेपी में शामिल हुए थे। इनमें से तीन विधायक झामुमो के और दो कॉन्ग्रेस के हैं। एक अन्य विधायक नौजवान संघर्ष मोर्चा के भानु प्रताप शाही हैं। झामुमो छोड़ने वाले विधायक में कुणाल षाड़ंगी, जेपी पटेल और चमारा लिंडा थे। वहीं, कॉन्ग्रेस से सुखदेव भगत और मनोज भगत ने भाजपा का दामन थामा। इनके अलावा पूर्व डीजीपी डीके पांडेय और पूर्व आईएएस सुचित्रा सिन्हा ने भी भाजपा की सदस्यता ली।

राँची में महामिलन समारोह के दौरान मुख्यमंत्री रघुवर दास की मौजूदगी में सभी छ: विपक्षी विधायकों ने बीजेपी की औपचारिक रूप से सदस्यता ग्रहण की। इस दौरान मुख्यमंत्री के अलावा नंद किशोर यादव, लक्ष्मण गिलुवा के साथ तमाम दिग्गज नेता भी कार्यक्रम में मौजूद रहे।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

विजय माल्या के किंगफिशर एयरलाइंस ने IDBI को डूबोए थे जितने पैसे, पाई-पाई ब्याज के साथ वसूल: मुनाफे में 318% का उछाल

कभी जिस IDBI को भगोड़े कारोबारी विजय माल्या ने डूबो दिया उस बैंक ने इस तिमाही में भारी मुनाफा कमाया है। वजह किंगफिशर एयरलाइंस से सारी वसूली बैंक ने कर ली है।

‘मनमोहन सिंह ने की थी मनमर्जी, मुसलमान स्पेशल क्लास नहीं’: सुप्रीम कोर्ट में सच्चर कमेटी की सिफारिशों को चुनौती

सुप्रीम कोर्ट में सच्चर कमेटी की सिफारिशों को लागू करने को चुनौती दी गई है। याचिका 'सनातन वैदिक धर्म' नामक संगठन के छह अनुयायियों ने दायर की है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,994FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe