PM मोदी को चोर और गौतम गंभीर को जीप से बाँधने वाली शेहला रशीद को पॉर्न स्टार से तकलीफ क्यों?

शेहला रशीद के पॉर्न अभिनेता जॉनी सिन्स से अपनी 'मेडिकल जाँच' कराने का मीम झूठा है। लेकिन शेहला तो खुद ऐसे मीम शेयर करने के लिए कुख्यात रही हैं।

JNU में पार्ट-टाइम छात्रा, फुल-टाइम नारेबाज रहीं शेहला रशीद ने एक ट्विटर यूज़र @BeingAlhind के खिलाफ दिल्ली पुलिस से शिकायत की है, और उसके खिलाफ कार्रवाई की माँग की है। क्यों? क्योंकि उसने शेहला रशीद की एक तस्वीर फोटोशॉप कर एक (पोर्न) अभिनेता के साथ लगा दी थी, और कैप्शन लिखा था, “शेहला रशीद की हुई तबीयत ख़राब। एस्कॉर्ट के डॉक्टर जॉनी करेंगे इलाज।” 

शेहला और उनके समर्थक इस फोटोशॉप को ‘आपत्तिजनक’ बता रहे हैं, और इस कृत्य को शेहला का ‘उत्पीड़न’। उन्हें न केवल इसमें पीयूष गोयल को (जिनका ‘गुनाह’ केवल शेहला को फोटोशॉप करने की ‘हिमाकत’ करने वाले को ट्विटर पर फॉलो करना भर है) घसीटने में कोई शर्म या झिझक नहीं है, बल्कि शेहला का एक समर्थक लिखता है “Followed by @PiyushGoyalOffc. That explains.” जिसे शेहला रीट्वीट करतीं हैं। इसका सीधा-सीधा मतलब है कि अभिषेक बख्शी नामक यह शख्स इस कथित ‘अपराध’ की जड़ पीयूष गोयल को बता रहा है, और रशीद उसका समर्थन करती हैं रीट्वीट कर।

यह फोटोशॉप-विशेष, जो तकनीकी रूप से अपराध है या नहीं, यह तो पुलिस और अदालत ही तय करेंगे, लेकिन इस बात पर विचार करना आवश्यक है कि अगर @BeingAlhind ने शेहला रशीद की तस्वीर एक ऐसी परिस्थिति के साथ जोड़कर अपराध किया है, जिसमें उनके मौजूद होने का कोई कानूनी साक्ष्य नहीं है, तो शेहला रशीद को भी कुछ समय पहले उनके द्वारा शेयर किए गए इस मीम का जवाब देना चाहिए:

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

जैसे शेहला रशीद के अभिनेता जॉनी सिन्स से अपनी ‘मेडिकल जाँच’ कराने का मीम झूठा है, वैसे ही गौतम गंभीर को जीप से बाँधे जाने का यह मीम भी तथ्यात्मक रूप से झूठा है। साथ ही, @BeingAlhind के मीम में तो शेहला के साथ किसी भी तरह की हिंसा या उन्हें नुकसान पहुँचाने की बात नहीं हो रही है, जबकि इस मीम को तो गंभीर के साथ हिंसा के लिए उकसावे के तौर पर भी देखा जा सकता है (क्योंकि जिस इंसान पर शेहला का बनाया मीम आधारित है, उसे जीप से बाँधे जाने को शेहला के लिबरल गैंग ने उसके साथ ‘हिंसा’ ही बताया था)! या फिर एक अभिनेता (जो हमारी और शेहला की ही तरह एक इंसान है, और शायद शेहला से अधिक नैतिकता/ईमानदारी से अपनी जीविका कमाता है) के साथ मीम बनाना एक ‘हिंसक’ मीम से अधिक बुरा है?

ऐसे में शेहला रशीद को जवाब देना चाहिए कि अगर उन्हें अपने खिलाफ बने मीम में किसी भी तरह की हिंसा या हमले के बिना भी पुलिस कार्रवाई की दरकार है, तो क्यों न गंभीर भी इस मीम के लिए उनके खिलाफ थाने चले जाएँ? और अगर कानूनी दाँव-पेंच परे भी हटा दें तो आज अपना मीम बनने पर इतना बुरा लगने के बाद शेहला गंभीर को ट्वीट कर उनसे माफ़ी माँगेंगी?

शेहला रसीद की कहानी और भी है। वो यह मीम कांड सिर्फ गंभीर के साथ ही नहीं बल्कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम के साथ भी कर चुकी हैं।

जिस इंसान को “मेरा पीएम चोर है” वाला टीशर्ट फोटोशॉप करके पहनाने का काम शेहला ने किया है, उस शख्स ने आज तक ऐसी कोई टी-शर्ट पहनी ही नहीं है। तो फिर देश के प्रधानमंत्री (लोकतांत्रिक तरीके से चुने गए, वही लोकतंत्र जिसके लिए वो हिजाब लपेट कश्मीर में राजनीतिक पार्टी लॉन्च करती हैं) को चोर बोलने वाली शेहला के साथ इस अपराध के लिए क्या किया जाए?

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by paying for content

बड़ी ख़बर

नरेंद्र मोदी, डोनाल्ड ट्रम्प
"भारतीय मूल के लोग अमेरिका के हर सेक्टर में काम कर रहे हैं, यहाँ तक कि सेना में भी। भारत एक असाधारण देश है और वहाँ की जनता भी बहुत अच्छी है। हम दोनों का संविधान 'We The People' से शुरू होता है और दोनों को ही ब्रिटिश से आज़ादी मिली।"

ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

92,234फैंसलाइक करें
15,601फॉलोवर्सफॉलो करें
98,700सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: