Sunday, June 16, 2024
Homeराजनीति'संकल्प है मेरा... कभी कोई परेशानी नहीं आने दूँगा' : कोरोना काल में जो...

‘संकल्प है मेरा… कभी कोई परेशानी नहीं आने दूँगा’ : कोरोना काल में जो बच्चे हुए अनाथ, उनके ‘मामा’ बन झूमे CM चौहान, डांस देख लोगों ने कहा- आपके होते कौन अकेला

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने इस कार्यक्रम का वीडियो शेयर करते हुए लिखा है, "किसी की मुस्कुराहटों पे हो निसार, किसी का दर्द मिल सके तो ले उधार जी5ना इसी का नाम है। मैंने संकल्प लिया है कि इन बच्चों के जीवन में कभी भी कोई परेशानी नहीं आने दूँगा। यह मामा व पूरे मध्यप्रदेश की जिम्मेदारी है। मेरे बच्चों, तुम्हारी हर जरूरत तुम्हारा मामा पूरी करेगा।"

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रविवार (23 अक्टूबर 2022) को कोरोना महामारी के दौरान अनाथ बच्चों के साथ दीवाली मनाई है। सीएम चौहान के साथ उनकी पत्नी साधना चौहान भी थीं। इस मौके पर शिवराज सिंह चौहान और उनकी पत्नी ने बच्चों के साथ जमकर डांस किया। साथ ही, बच्चों को सीएम बाल आशीर्वाद योजना के तहत 5-5 हजार रुपए के चेक भी सौंपे हैं।

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में स्थित मुख्यमंत्री आवास में आयोजित दीवाली के इस रंगारंग कार्यक्रम में सीएम शिवराज ने बच्चों के साथ दीवाली मनाकर उनका हौसला बढ़ाया है। इस मौके पर, सीएम शिवराज ने बच्चों से कहा है कि मामा का घर मस्ती करने के लिए होता है। इसलिए, खूब मस्ती करो और दीवाली मनाओ। किसी भी बच्चे को निराश होने और चिंता करने की जरूरत नहीं हैं।

कोविड-19 के कारण अनाथ हो चुके बच्चों के साथ दीवाली मनाते हुए मुख्यमंत्री ने ‘नदिया चले-चले रे धारा, तुझको चलना होगा…’ गाना भी गाया। उनके गाने पर बच्चे झूम रहे थे। बच्चों को नाचता देख वह खुद भी मंच से उतरकर नीचे आ गए और उनके साथ डांस करने लगे। इसके बाद, उन्होंने अपनी पत्नी साधना सिंह चौहान को भी बुला लिया और वह भी नाचती हुई दिखाई दीं।

खुद को मध्य प्रदेश के प्रत्येक बच्चे का मामा बताने वाले सीएम शिवराज सिंह चौहान ने इस कार्यक्रम का वीडियो शेयर करते हुए लिखा है, “किसी की मुस्कुराहटों पे हो निसार, किसी का दर्द मिल सके तो ले उधार जीना इसी का नाम है। मैंने संकल्प लिया है कि इन बच्चों के जीवन में कभी भी कोई परेशानी नहीं आने दूँगा। यह मामा व पूरे मध्यप्रदेश की जिम्मेदारी है। मेरे बच्चों, तुम्हारी हर जरूरत तुम्हारा मामा पूरी करेगा।”

यही नहीं, इस कार्यक्रम के दौरान, सीएम शिवराज ने अधिकारियों को कोविड में अनाथ बच्चों का व्हाट्सएप ग्रुप बनाने के भी निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि इन व्हाट्सएप ग्रुप में ही ये बच्चे अपनी समस्या बताएँगे। साथ ही, सीएम ने अनाथ बच्चों के लिए साल में एक बार खेल ओर सांस्कृति कार्यक्रम की प्रतियोगिता आयोजन करने का भी ऐलान किया है।

अनाथ बच्चों के साथ दीवाली मनाने को लेकर ट्विटर यूजर्स ने सीएम शिवराज सिंह चौहान की तारीफ की है। मोनू सिंह राठौर नामक यूजर ने लिखा “अनाथ बच्चों के साथ खुशियाँ इस प्रकार बाँटी जाती हैं। यह मामा जी का राज है। तुम सुखपूर्वक, आनंद के साथ अपना जीवन सुगमता से व्यतीत करो, यही तुम्हारे मामा शिवराज का संकल्प है।”

बृजेश जैन नामक यूजर ने लिखा “सीएम शिवराज सिंह चौहान का डांस देखिए। बच्चों के साथ मस्ती भरा डांस करते हुए मामा सीएम।”

वहीं, आकाश चंद साहू नामक यूजर ने ट्वीट कर कहा “मुझे लगता है आज मामा श्री दिल से हँसे हैं। बहुत बहुत धन्यवाद मामा श्री शिवराज सिंह चौहान जी।”

विकास सिंह राजपूत नामक यूजर ने ट्विटर पर लिखा “मामा के होते भला कौन अकेला है। बहुत सराहनीय, शिवराज सिंह चौहान जी।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

J&K में योग दिवस मनाएँगे PM मोदी, अमरनाथ यात्रा भी होगी शुरू… उच्च-स्तरीय बैठक में अमित शाह का निर्देश – पूरी क्षमता लगाएँ, आतंकियों...

2023 में 4.28 लाख से भी अधिक श्रद्धालुओं ने बाबा अमरनाथ का दर्शन किया था। इस बार ये आँकड़ा 5 लाख होने की उम्मीद है। स्पेशल कार्ड और बीमा कवर दिया जाएगा।

परचून की दुकान से लेकर कई हजार करोड़ के कारोबार तक, 38 मुकदमों वाले हाजी इक़बाल ने सपा-बसपा सरकार में ऐसी जुटाई अकूत संपत्ति:...

सहारनपुर में मिर्जापुर का रहने वाला मोहम्मद इकबाल परचून की दुकान से काम शुरू कर आगे बढ़ता गया। कभी शहद बेचा, तो फिर राजनीति में आया और खनन माफिया भी बना।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -