Tuesday, July 23, 2024
Homeराजनीति'केजरीवाल की घटिया राजनीति का शिकार बने गायक सिद्धू मूसेवाला': बरसे सिरसा, 30 राउंड...

‘केजरीवाल की घटिया राजनीति का शिकार बने गायक सिद्धू मूसेवाला’: बरसे सिरसा, 30 राउंड फायरिंग, खून से लथपथ गाड़ी का आया वीडियो

"लोगों की पहले सुरक्षा हटाओ, फिर उनके नाम को अखबारों में छपवाओ। वो लिस्टें बाजार में बँटवाओ। मैंने कल ही ट्वीट कर कहा था कि तुम ये पाप कर रहे हो।"

पंजाब के युवा गायक और कॉन्ग्रेस नेता सिद्धू मूसेवाला की दिन-दहाड़े गोली मारकर हत्या कर दी गई। मामले में बीजेपी नेता मनजिंदर सिंह सिरसा ने पंजाब सरकार और सीएम भगवंत मान पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि सिद्धू मूसेवाला की मौत के जिम्मेदार भगवंत मान और अरविंदर केजरीवाल की घटिया राजनीति है।

उन्होंने एक वीडियो रिलीज कर कहा, “प्रसिद्ध सिंगर सिद्धू मूसेवाला ने पंजाब की शान बढ़ाई थी। अरविंद केजरीवाल और भगवंत मान की घटिया राजनीति के चलते आज उन पर 20 गोलियों के साथ कातिलाना हमला किया गया। एक राजनीतिक पार्टी ने घटिया काम करना शुरू किया। लोगों की पहले सुरक्षा हटाओ, फिर उनके नाम को अखबारों में छपवाओ। वो लिस्टें बाजार में बँटवाओ। मैंने कल ही ट्वीट कर कहा था कि तुम ये पाप कर रहे हो। पहले लोगों की सुरक्षा को हटाते हो और फिर उनके नामों की कॉन्फिडेंशियल लिस्ट को छापते हो। इससे किसी की जान जा सकती है।”

सिरसा के मुताबिक, लोगों को पता था कि सिद्धू मूसेवाला की सुरक्षा छीन ली गई है इसके बाद उस पर हमला हुआ, जिसमें उनकी मौत हो गई। इस मामले में भगवंत मान और अरविंद केजरीवाल के खिलाफ धारा 302 का केस दर्ज होना चाहिए।

पत्रकार आदित्यराज कौल ने कहा कि सिद्धू मूसेवाला ने पंजाब में गन कल्चर पर कभी गाने गाए थे और आज उसी गन ने उनकी जान ले ली।

रिपोर्ट के मुताबिक, सिद्धू मूसेवाला के वायरल वीडियो में देखा जा सकता है कि उनकी गाड़ी की खिड़कियाँ पूरी तरह से टूट चुकी हैं और सीटें खून से लथपथ हैं। इस हमले में गोलीबारी में चालक समेत दो और लोग घायल हो गए। दावा किया गया है कि उनकी गाड़ी पर कम से कम 30 से अधिक राउंड फायर किए गए। उनके दो सहयोगियों की हालत गंभीर है और उन्हें इलाज के लिए दूसरी जगह ट्रांसफर किया जा सकता है।

गौरतलब है कि रविवार (29 मई 2022) को पंजाब के मानसा गाँव में गोली चलाई गई थी। इसमें उनकी मौत हो गई है। बता दें कि ये घटना ठीक पंजाब में ठीक उस समय हुई है जब भगवंत सरकार के कहने पर पंजाब पुलिस ने पंजाब के 424 लोगों को दी गई सुरक्षा को हटाया था। इसमें एक सिद्धू मूसेवाला भी थे। घटना संबंधी एक वीडियो सामने आई है। इसमें मूसेवाला खून से लथपथ गाड़ी में बैठे हैं।

उल्लेखनीय है कि सिद्धू मूसे वाला इन पंजाब चुनावों में कॉन्ग्रेस की टिकट पर मानसा से चुनाव लड़े थे और आप के उम्मीदवार से हार का मुंह देखा था। इसके बाद वह पिछले माह अपने नए गाने बलि का बकरा में आप समर्थकों को निशाना बनाकर भी विवाद में आए थे। इस गाने में उन्होंने आम आदमी पार्टी के समर्थकों को गद्दार कहा था। इसके अलावा पिछले साल वह एके-47 के साथ दिखे थे तब भी उनके विरुद्ध एफआईआर हुई थी। मूसे वाला को लोग खालिस्तानी प्रशंसक के तौर पर भी जानते हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

20000 महिलाओं को रेप-मौत से बचाने के लिए जब कॉन्ग्रेसी मंत्री ने RSS से माँगी थी मदद: एक पत्र में दर्ज इतिहास, जिसे छिपा...

पत्र में कहा गया था कि आरएसएस 'फील्ड वर्क' के लिए लोगों को अत्यधिक प्रशिक्षित करेगा और संघ प्रमुख श्री गोलवरकर से परामर्श लिया जा सकता है।

कागज तो दिखाना ही पड़ेगा: अमर, अकबर या एंथनी… भोले के भक्तों को बेचना है खाना, तो जरूरी है कागज दिखाना – FSSAI अब...

सुप्रीम कोर्ट ने अपने आदेश में कहा कि कांवड़ रूट में नाम दिखने पर रोक लगाई जा रही है, लेकिन कागज दिखाने पर कोई रोक नहीं है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -