Sunday, May 19, 2024
Homeराजनीतिनमाज के लिए मस्जिद जाना पड़ता है, विधानसभा में चाहिए कमरा: UP के सपा...

नमाज के लिए मस्जिद जाना पड़ता है, विधानसभा में चाहिए कमरा: UP के सपा विधायक इरफान सोलंकी की सुनिए डिमांड

इस वीडियो पर सीएम योगी आदित्यनाथ के सूचना सलाहकार शलभ मणि त्रिपाठी ने प्रतिक्रिया दी है। वह कहते हैं, “ये यूपी है झारखंड नहीं, और यहाँ योगी जी की सरकार है कॉन्ग्रेस की नहीं, अब यहाँ वोट के लिए न तो आतंकी छोड़े जाएँगे न ही बनेगा कोई नमाज रूम!”

उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी के विधायक हाजी इरफान सोलंकी ने विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित को चिट्ठी लिख कर विधानसभा में नमाज के लिए एक कमरा देने की माँग की है। उनका तर्क है कि विधानसभा की कार्यवाही के दौरान इबादत के समय उनके समुदाय के लोगों को नमाज अता करने के लिए मस्जिद जाना पड़ता है। इससे कार्यवाही में शामिल होने में परेशानी आती है। अगर अंदर एक छोटा सा कमरा मिल जाए तो बाहर जाने वाली समस्या से कुछ विधायकों को आजादी मिल सकेगी।

अपनी वीडियो में इरफान सोलंकी ने झारखंड का उदाहरण देते हुए बताया कि वो इस तरह की परेशानी का सामना पिछले 15 साल से कर रहे हैं। जब भी नमाज का समय होता है तो मुसलमान विधायक कार्यवाही छोड़ कर नमाज अता करने जाते हैं। अगर विधानसभा में ही एक प्रेयर रूम हो। तो ये परेशानी खत्म हो जाएगी।

वह कहते हैं, “कभी-कभी ऐसा होता है कि हमारे यहाँ तो नमाज का समय फिक्स है। 1 बजे वाली 1 बजे होगी 5 बजे वाली 5 बजे होगी, जो उसका टाइम है उसी समय होगी। अगर एक प्रेयर रूम छोटा सा ही सही…जहाँ लोग जाएँ, अपनी नमाज पढ़ें और वापस आएँ। इससे वह लोग हाउस में ही रहेंगे। इससे कार्यवाही नहीं छूटेगी। बहुत सी बार ऐसा होता है कि किसी विधायक का कोई सवाल लगा हुआ है। उसी समय मान लीजिए अजान का समय है और वो न तो सवाल छोड़ सकता है और न ही नमाज।”

अपनी माँग उठाते हुए इरफान कहते हैं, “नमाज और पूजा आस्था का विषय है। मेरा मानना है जहाँ आस्था की बात होती है वहाँ बड़े-बड़े अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर भी एक छोटा सा प्रेयर रूम बना दिया गया है ताकि लोग अपनी इबादत करके आगे बढ़ सकें। अगर विधानसभा अध्यक्ष समझते हैं ये अच्छा काम है तो वो एक कमरा दे सकते हैं। इससे न किसी को हानि होगी और न ही कोई तकलीफ होगी।”

इस वीडियो की कवरेज पर योगी आदित्यनाथ के सूचना सलाहकार शलभ मणि त्रिपाठी ने प्रतिक्रिया दी है। वह कहते हैं, “ये यूपी है झारखंड नहीं, और यहाँ योगी जी की सरकार है कॉन्ग्रेस की नहीं, अब यहाँ वोट के लिए न तो आतंकी छोड़े जाएँगे न ही बनेगा कोई नमाज रूम!”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिसे वामपंथन रोमिला थापर ने ‘इस्लामी कला’ से जोड़ा, उस मंदिर को तोड़ इब्राहिम शर्की ने बनवाई थी मस्जिद: जानिए अटाला माता मंदिर लेने...

अटाला मस्जिद का निर्माण अटाला माता के मंदिर पर ही हुआ है। इसकी पुष्टि तमाम विद्वानों की पुस्तकें, मौजूदा सबूत भी करते हैं।

रोफिकुल इस्लाम जैसे दलाल कराते हैं भारत में घुसपैठ, फिर भारतीय रेल में सवार हो फैल जाते हैं बांग्लादेशी-रोहिंग्या: 16 महीने में अकेले त्रिपुरा...

त्रिपुरा के अगरतला रेलवे स्टेशन से फिर बांग्लादेशी घुसपैठिए पकड़े गए। ये ट्रेन में सवार होकर चेन्नई जाने की फिराक में थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -