Sunday, September 26, 2021
Homeराजनीति'इधर से घास डालूँगा, उधर से दूध निकलेगा': विज्ञापन में कॉन्ग्रेसियों को हुए सोनिया-राहुल...

‘इधर से घास डालूँगा, उधर से दूध निकलेगा’: विज्ञापन में कॉन्ग्रेसियों को हुए सोनिया-राहुल के दर्शन, दफ्तर में तोड़फोड़

“वर्तमान महामारी के साथ हम लोगों को मूड को हल्का करने का प्रयास कर रहे हैं, वो भी उस श्रेणी में जो गंभीर है और स्वास्थ्य को बढ़ावा देती है। यह अभियान हमारे मिलेनियल्स और जनरल जेड के साथ महत्वपूर्ण ब्रांड के विचार को बढ़ाने का एक शानदार तरीका है। इसका फॉर्मेट सबसे अच्छा, पैरोडिकल और प्रभावशाली है।”

मुंबई में स्टोरिया (Storia) फूड्स ऐंड बेवरेज प्राइवेट लिमिटेड नाम की कंपनी के विज्ञापन पर विवाद हो गया है। विज्ञापनों में कंपनी ने अपने नए रेंज के मिल्कशेक लॉन्च किए थे। स्टोरिया शेक्स के लिए उन्होंने पहली बार हर प्लेटफॉर्म पर विज्ञापन दिया। इसकी टैग लाइन थी- विश इट नेवर गेट्स ओवर।

कंपनी ने अपने ब्रांड के लिए 3 एड रिलीज किए। हर एड 45 सेकेंड का है और स्टोरिया शेक फ्लेवर को प्रमोट करता है। पहले एड में क्रिकेट लीग प्रेस कॉन्फ्रेंस का सीन है। दूसरे एड में दिखाया गया है कि कलाकार कैसे वर्कआउट मिलने के बाद स्टोरिया का ड्रिंक न मिलने पर नाराज हो जाता है। सबसे आखिरी और विवादित स्टोरिया के चॉकलेट शेक का विज्ञापन है। कारण इसमें थोड़ी राजनीति का टच है।

तीनों एड किसी न किसी की पैरोडी है। लेकिन जो आखिरी वाला है उसमें दिख रही महिला और युवक कथित तौर पर सोनिया गाँधी और राहुल गाँधी के गेटअप में दिखते हैं। बस यही वजह है इस एड के विवाद में आने का।

इसमें देख सकते हैं शेक पी रही है और खत्म होने पर दुखी मन से कहती हैं- इट्स ऑल ओवर। इसके बाद उसका बेटा कहता है, “डोंट वरी मम्मी। मैं एक ऐसी मशीन बनाऊँगा इधर से घास डालूँगा उधर से दूध निकलेगा।” इतने में महिला कहती है कि वो मशीन नहीं गाय होती है! थोड़ी देर में उसे स्टोरिया का चॉकलेट शेक मिलता है और अपने बेटे की बातें सुन वो पूछती है कि ये कब ओवर होगा। 

इस पैरोडी के कारण कॉन्ग्रेस नेता आज मुंबई के अंधेरी ईस्ट में स्थित बेवरेज कंपनी के कार्यालय पहुँच गए। सामने आई वीडियो में देख सकते हैं किकोरोना पाबंदियों के बावजूद कई कार्यकर्ताओं ने दफ्तर में घुसकर तोड़फोड़ मचाई। वीडियो में देख सकते हैं कि दफ्तर में हर चीज इधर-उधर है और जगह-जगह काँच टूटे पड़े हुए हैं। अंत में कुछ कॉन्ग्रेस नेताओं को दफ्तर में सोनिया गाँधी जिंदाबाद, राहुल गाँधी जिंदाबाद, मुंबई कॉन्ग्रेस जिंदाबाद के नारे लगाते भी देखा जा सकता है। 

रिपोर्ट के अनुसार, मुंबई पुलिस ने कॉन्ग्रेसियों को हिरासत में ले लिया है। कंपनी के संस्थापक व मैनेजिंग डायरेक्टर ने कहा, “हम स्टोरिया में अपने उपभोक्ताओं के प्रति एक जिम्मेदारी महसूस करते हैं क्योंकि जो हम उन्हें देते हैं वो सीधा उनके जीवन और स्वास्थ्य पर असर डालता है… हम इस 360 कैम्पेन के जरिए अपने उपभोक्ताओं तक पहुँचने के लिए उत्सुक हैं वो भी एक मजेदार और प्रभावशाली तरीके। ”

शाह ने कहा, “वर्तमान महामारी के साथ हम लोगों को मूड को हल्का करने का प्रयास कर रहे हैं, वो भी उस श्रेणी में जो गंभीर है और स्वास्थ्य को बढ़ावा देती है। यह अभियान हमारे मिलेनियल्स और जनरल जेड के साथ महत्वपूर्ण ब्रांड के विचार को बढ़ाने का एक शानदार तरीका है। इसका फॉर्मेट सबसे अच्छा, पैरोडिकल और प्रभावशाली है।”

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

65 घंटे में 24 बड़ी बैठकें: फ्लाइट से लेकर होटल तक बैठकें करते रहे 71 साल के PM मोदी, अब दिल्ली में भी व्यस्त...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने अमेरिका दौरे में 65 घंटों के भीतर 24 बड़ी बैठकों में हिस्सा लिया है। इनमें से 4 लंबी बैठकें तो फ्लाइट में ही हुईं।

मंदिर तोड़े, गाँव के गाँव मुस्लिम बना दिए, राजाओं का भी धर्मांतरण: बंद हो जिहादी सूफियों को ‘संत’ कहना, वामपंथियों ने किया गुणगान

उदाहरण से समझिए कि जिन सूफियों को 'संत' कहा गया, वो 'काफिरों के इस्लामी धर्मांतरण' के लिए आए थे। मंदिर तोड़े। सुल्तानों का काम आसान करते थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
124,410FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe