Friday, June 21, 2024
Homeराजनीति'मंडी से र*डी': कंगना पर टिप्पणी में कॉन्ग्रेसी हरीश अहीर ने सुप्रिया श्रीनेत और...

‘मंडी से र*डी’: कंगना पर टिप्पणी में कॉन्ग्रेसी हरीश अहीर ने सुप्रिया श्रीनेत और मृणाल पांडे को पीछे छोड़ा, बवाल के बाद पोस्ट डिलीट कर दूसरे पर मढ़ा ‘दोष’

कॉन्ग्रेस नेता चाहते हैं कि लोग ये विश्वास करें कि उनकी 'टीम' ने उनकी जानकारी के विपरीत कंगना रनौत के खिलाफ एक सामूहिक हमला किया। हालाँकि, आक्रोश के मद्देनजर उनकी सावधानीपूर्वक लिखी गई दलील से संकेत मिलता है कि ऐसे घृणित पोस्ट के लिए जिम्मेदार 'टीमों' को उनके नेताओं की अनुमति थी।

कॉन्ग्रेस नेता सुप्रिया श्रीनेत और पार्टी के मुखपत्र नेशनल हेराल्ड की संपादक मृणाल पांडे के बाद एक और नेता हरीश अहीर (एचएस अहीर) अभिनेत्री कंगना रनौत के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी पोस्ट की थी। हालाँकि, जब सोशल मीडिया पर छिछालेदर शुरू हुई तो सुप्रिया और पांडे की तरह अहीर ने भी अपना पोस्ट डिलीट कर दिया और इसकी जिम्मेवारी किसी दूसरे पर डाल दी।

मजे की बात यह है कि उनके ट्वीट की भाषा जैसी कॉन्ग्रेस की राष्ट्रीय प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत और कॉन्ग्रेस के मुखपत्र की संपादक मृणाल पांडे की ट्वीट से भी गंदी थी। अहीर ने भी कंगना रनौत को लेकर जो घटिया बात कही थी, वह किसी महिला के लिए असहनीय है।। उन्होंने कहा था, “मंडी से र*डी।”

हालाँकि, बाद में एचएस अहीर ने पोस्ट को डिलीट करने के बाद कहा, “मेरे एक्स खाते तक पहुँच रखने वाले किसी व्यक्ति ने बिल्कुल घृणित और आपत्तिजनक पोस्ट की थी, जिसे हटा दिया गया है।” अहीर गुजरात कॉन्ग्रेस में किसान मोर्चा के राज्य सह-संयोजक पद पर हैं। ये बात उनके ट्विटर प्रोफाइल में लिखा हुआ है।

दरअसल, सुप्रिया श्रीनेत ने कंगना रनौत के खिलाफ सेक्सिस्ट पोस्ट के लिए अपनी ‘टीम के सदस्यों’ को दोषी ठहराते हुए एक वीडियो पोस्ट किया। उन्होंने कहा, “कई लोगों की मेरे फेसबुक और इंस्टाग्राम अकाउंट तक पहुँच है। इनमें से एक व्यक्ति ने आज एक बहुत ही घृणित और आपत्तिजनक पोस्ट किया था।”

उन्होंने कहा, “मैं उस व्यक्ति की पहचान करने की कोशिश कर रही हूँ, जिसने ऐसा किया है। इसके अलावा, मेरे नाम का दुरुपयोग करके बनाए गए पैरोडी अकाउंट की रिपोर्ट एक्स में की गई है।” सु्प्रिया का यह स्पष्टीकरण उस पोस्ट को लेकर आया है, जिसमें उन्होंने कंगना की उत्तेजक तस्वीर के साथ लिखा था, “क्या भाव चल रहा है मंडी में कोई बताएगा?”

इसी तरह खुद को नारीवादी बताने वाली कॉन्ग्रेस के मुखपत्र नेशनल हेराल्ड की संपादक मृणाल पांडे ने एक्स पर लिखा, “शायद यूँ कि मंडी में सही रेट मिलता है?” हालाँकि, चौतरफा छीछालेदर के बाद मृणाल पांडे ने अपना ट्वीट डिलीट कर दिया है।

कॉन्ग्रेस नेताओं एवं समर्थकों की अजीब एवं एक समान वाली भाषा में दी गई दलील में कोई दम नहीं है। आमतौर पर नेताओं की ओर से उनकी टीम द्वारा पोस्ट की जाने वाली हर सामग्री उनकी सहमति के बाद की जाती है। वहीं, अधिकांश प्रमुख हस्तियाँ अपनी ‘टीम’ को अपने व्यक्तिगत सोशल मीडिया खातों तक पहुँच प्रदान नहीं करती हैं।

कॉन्ग्रेस नेता चाहते हैं कि लोग ये विश्वास करें कि उनकी ‘टीम’ ने उनकी जानकारी के विपरीत कंगना रनौत के खिलाफ एक सामूहिक हमला किया। हालाँकि, आक्रोश के मद्देनजर उनकी सावधानीपूर्वक लिखी गई दलील से संकेत मिलता है कि ऐसे घृणित पोस्ट के लिए जिम्मेदार ‘टीमों’ को उनके नेताओं की अनुमति थी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

सियालकोट से स्वात घूमने गया युवक, इस्लामी भीड़ ने पहले पीटा फिर आग में झोंका: पाकिस्तान में ईशनिंदा के आरोप में एक और हत्या,...

पाकिस्तान में युवक पर ईशनिंदा का आरोप लगाकर इस्लामी कट्टरपंथियों ने उसे पुलिस थाने से निकालकर मार डाला। इस दौरान थाने में भी आग लगा दी गई।

टेलीग्राम पर ₹500 में मिल रहा था UGC-NET का पेपर, CBI कर रही जाँच: सॉल्वर गैंग का सरगना खुद पास नहीं कर पाया था...

पेपर लीक कराने वाला और एग्जाम की तैयारी कराने वाले सॉल्वर गैंग का सरगना अतुल वत्स कभी खुद भी नीट की तैयारी कर रहा था, लेकिन वो फेल हो गया था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -