Wednesday, May 22, 2024
Homeराजनीतितेजस्वी यादव की रैली में भगदड़, कोई 5 तो कोई 10 टीशर्ट लेकर चलता...

तेजस्वी यादव की रैली में भगदड़, कोई 5 तो कोई 10 टीशर्ट लेकर चलता बना: मंच पर चढ़ गई भीड़, वीडियो में दिखी जमीन पर पड़ी टूटी-फूटी कुर्सियाँ

उनमें से कई युवक थे, ऐसे में महागठबंधन के जो नेता वहाँ पर मौजूद थे वो भी कुछ खास नहीं कर पाए। वीडियो वायरल होने के बाद राजद की फजीहत हो रही है।

बिहार के औरंगाबाद में तेजस्वी यादव की रैली में भगदड़ मच गई। बिखरी हुई कुर्सियों और लड़ते लोगों का वीडियो भी वायरल हुआ है। बता दें कि तेजस्वी यादव रफीगंज में चुनावी सभा करने के लिए पहुँचे थे। रैली में पहुँचे लोगों के बीच मंच पर चढ़ने के लिए होड़ लग गई। इस वजह से सैकड़ों कुर्सियाँ टूट गईं। ऐसे में काफी समय के लिए रैली में अफरातफरी का माहौल बना रहा। असल में हंगामा तब हुआ जब तेजस्वी यादव रैली से जा चुके थे लेकिन बाकी कई नेता मौजूद थे।

तेजस्वी यादव की इस रैली में टीशर्ट बाँटे जा रहे थे। बेकाबू हुए लोगों के बीच टीशर्ट लूटने की होड़ मच गई। इनमें कई RJD कार्यकर्ता और आम लोग भी शामिल थे। मंच पर गट्ठर में बाँध कर इन टीशर्ट्स को रखा गया था। सोशल मीडिया पर इसका वीडियो जम कर वायरल हो रहा है। वहीं रैली के दौरान कई लोग बैरिकेड्स पर चढ़ कर तेजस्वी यादव के समर्थन में नारेबाजी भी करने लगे। लोग इधर-उधर भागने लगे। किसी तरह भीड़ पर काबू पाए जाने के बाद ये सभा संपन्न हो सकी और तेजस्वी यादव भाषण देकर निकल गए।

टीशर्ट की गट्ठर लोग लूट कर ले गए। एक नहीं, बल्कि कोई 5 तो कोई 10 टीशर्ट लेकर चलता बना। हालाँकि, टीशर्ट्स की ये खेप लोगों में बाँटने के लिए ही लाई गई थी, लेकिन ये अंदाज़ा नहीं था कि इसे लूट लिया जाएगा। लोग एक-दूसरे से टीशर्ट्स भी लूटने लगे। लोग तू-तू मैं-मैं पर उतारू हो गए। उनमें से कई युवक थे, ऐसे में महागठबंधन के जो नेता वहाँ पर मौजूद थे वो भी कुछ खास नहीं कर पाए। वीडियो वायरल होने के बाद राजद की फजीहत हो रही है।

जहाँ तक औरंगाबाद लोकसभा क्षेत्र की बात है, यहाँ पहले ही चरण में 19 अप्रैल को मतदान होना है। फ़िलहाल यहाँ से भाजपा के सुशील कुमार सिंह सांसद हैं। ये इलाका राजपूत बहुल माना जाता रहा है और सांसद भी इसी समाज से बनते रहे हैं। BJP ने एक बार फिर से मौजूदा MP पर ही भरोसा जताया है। महागठबंधन की तरफ से राजद के अभय कुशवाहा मैदान में हैं। चुनाव में यहाँ राष्ट्रीय मुद्दे ही ज़्यादा हावी हैं। महिलाएँ राम मंदिर से खुश हैं और विरोधी भी मान रहे हैं कि नक्सली घटनाओं में कमी आई है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पश्चिम बंगाल में 2010 के बाद जारी हुए हैं जितने भी OBC सर्टिफिकेट, सभी को कलकत्ता हाई कोर्ट ने कर दिया रद्द : ममता...

कलकत्ता हाई कोर्ट ने बुधवार 22 मई 2024 को पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार को बड़ा झटका दिया। हाईकोर्ट ने 2010 के बाद से अब तक जारी किए गए करीब 5 लाख ओबीसी सर्टिफिकेट रद्द कर दिए हैं।

महाभारत, चाणक्य, मराठा, संत तिरुवल्लुवर… सबसे सीखेगी भारतीय सेना, प्राचीन ज्ञान से समृद्ध होगा भारत का रक्षा क्षेत्र: जानिए क्या है ‘प्रोजेक्ट उद्भव’

न सिर्फ वेदों-पुराणों, बल्कि कामंदकीय नीतिसार और तमिल संत तिरुवल्लुवर के तिरुक्कुरल का भी अध्ययन किया जाएगा। भारतीय जवान सीखेंगे रणनीतियाँ।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -