Tuesday, May 21, 2024
Homeराजनीतिसावन में मटन, नवरात्रि में मछली... लालू फैमिली की नीयत पर उठे सवाल: नेटिजन्स...

सावन में मटन, नवरात्रि में मछली… लालू फैमिली की नीयत पर उठे सवाल: नेटिजन्स बोले- मुस्लिमों को खुश करने के लिए तेजस्वी यादव ने डाला वीडियो

नवरात्रि के पहले दिन तेजस्वी द्वारा मछली खाने की वीडियो शेयर किए जाने के बाद हिंदू भड़के हुए हैं। कहा जा रहा है कि ऐसा जानबूझकर तेजस्वी ने किया है ताकि उनके मुस्लिम वोटर्स को इससे खुशी मिले और हिंदू आहत हों। इसी मामले पर भाजपा नेताओं ने भी राजद को घेरा है।

चैत्र नवरात्रि के पहले दिन राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता व बिहार के पूर्व उप-मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने अपने ट्विटर पर मछली खाते हुए वीडियो पोस्ट की है। उन्होंने अपनी वीडियो के साथ बताया है कि ये 8 अप्रैल 2024 की है। इस वीडियो में तेजस्वी यादव खाई हुई मछली के कांटे के साथ बार-बार अपनी थाली दिखाते हैं। उनकी वीडियो देखने के बाद हिंदू आहत हैं। सवाल हो रहा है कि क्या ये जानते हुए कि हिंदू लोग नवरात्रि में मांस का सेवन नहीं करते, ये सब मुस्लिम वोटर्स को खुश करने के लिए किया जा रहा है, जैसा उनके पिता लालू यादव ने सावन के समय में मटन खाकर किया था। भाजपा ने भी तेजस्वी के हिंदू होने पर सवाल खड़े किए हैं।

वीडियो में क्या है

बता दें कि तेजस्वी यादव ने 9 अप्रैल 2024 को अपने एक्स अकॉउंट पर एक वीडियो शेयर की थी। इस वीडियो में वो अपने दिन की व्यस्तता बताते हुए मछली दिखा रहे थे। वीडियो में उन्हें कहते सुना गया था, “पूरे दिन हम प्रचार किए हैं। हम लोगों को अब यही 10-15 मिनट मिला है कि हम लोग लंच कर सकें। आज मुकेश जी खाना लाए हैं, मछली लाए हैं जो एक कांटे की है। बहुत ही स्वादिष्ट खाना है। साथ में रोटी है, नमक है, प्याज है और हरी मिर्च है। मुकेश जी को मछली खिलाने के लिए धन्यवाद।”

इसके बाद विकासशील इंसान पार्टी के अध्यक्ष मुकेश साहनी इस वीडियो में बताते दिखते हैं कि ये मछली मिथिलांचल में कोसी नदी में पाई जाती है। इसे चेचरा मछली कहते हैं। जो भी समय मिल रहा है उस दौरान हम हेलिकॉप्टर में ही लंच कर ले रहे हैं। आगे वह वीडियो में मछली के साथ मिर्जी दिखाते हुए कहते हैं, “इस वीडियो को देखने के बाद कुछ लोगों को मिर्ची लगेगा, वो मिर्ची हमसे माँग लें। हम लोग निश्चित रूप से सामाजिक न्याय के लिए लड़ाई लड़ रहे हैं।”

भाजपा ने उठाए सवाल

तेजस्वी की 3 मिनट की वीडियो को देख हिंदू भड़के हुए हैं। कहा जा रहा है कि ऐसा जानबूझकर तेजस्वी ने किया है ताकि उनके मुस्लिम वोटर्स को इससे खुशी मिले और हिंदू आहत हों। इसी मामले पर भाजपा नेताओं ने भी राजद को घेरा है।

विजय सिन्हा ने कहा, “ये लोग सनातनी बनना चाहते हैं लेकिन सनातनी संस्कार सीख नहीं पाए… सावन में मटन खाते हैं और नवरात्र में मछली खाना, वोट के लिए इतना गिर गए हैं ये लोग, धर्म, संस्कार को लज्जित करते हैं। ये लोग धर्म का अपमान करते हैं।”

वहीं गिरिराज सिंह ने कहा, “तेजस्वी जी सीजनल सनातनी हैं, तुष्टिकरण के पोषक हैं। जब इनकी सरकार थी तो वोट की खातिर इनके पिताजी ने रोहिंग्या और बांग्लादेशी घुसपैठियों को अवैध तरीके से बसाया। काफी संख्या में ऐसे लोग आए थे। ये वोट के सौदागर नहीं हैं। न कि सनातन के पुजारी हैं। ये सनातन का लबादा ओढ़कर तुष्टिकरण की राजनीति करते हैं।”

इसी तरह हिंदू भी उनकी वीडियो देख अपना गुस्सा जाहिर कर रहे हैं। जितेंद्र प्रताप लिखते हैं, “नवरात्रि में हिंदू लोग नॉनवेज नहीं खाते लेकिन सिर्फ मुसलमानों को खुश करने के लिए और यह दिखाने के लिए कि मैं हिंदू धर्म के रीति रिवाज को नहीं मानता तेजस्वी यादव ने यह वीडियो डाला है।”

एक यूजर ने पूछा कि जब मछली खाई पिछले दिन थी, तो उसी दिन उसको पोस्ट करते। नवरात्रि के पहले दिन पोस्ट करके क्या साबित करना चाहते हैं।

सोनू कुमार लिखते हैं, “नवरात्रि में तेजस्वी यादव मछली खा रहे हैं, बड़ी शान से वीडियो बनाकर हिंदू को दिखा रहे हैं, ये हिंदू की भावना को आहत करना है।”

गौरतलब है कि अभी पिछले ही साल लालू यादव का सावन पर मटन खाने का फोटो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ था। उस समय भी हिंदुओं की नाराजगी इसी बात से थी कि आखिर ये लोग सावन के पवित्र महीने में मटन खाकर, उसकी तस्वीरें खिंचाकर क्या साबित करना चाहते हैं। तस्वीर में मीसा भारती के दिल्ली आवास पर राहुल गाँधी के साथ लालू यादव मटन खाते दिखे थे।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जहाँ से लड़ रही लालू की बेटी, वहाँ यूँ ही नहीं हुई हिंसा: रामचरितमानस को गाली और ‘ठाकुर का कुआँ’ से ही शुरू हो...

रामचरितमानस विवाद और 'ठाकुर का कुआँ' विवाद से उपजी जातीय घृणा ने लालू यादव की बेटी के क्षेत्र में जंगलराज की यादों को ताज़ा कर दिया है।

निजी प्रतिशोध के लिए हो रहा SC/ST एक्ट का इस्तेमाल: जानिए इलाहाबाद हाई कोर्ट को क्यों करनी पड़ी ये टिप्पणी, रद्द किया केस

इलाहाबाद हाई कोर्ट ने एक मामले की सुनवाई करते हुए SC/ST Act के झूठे आरोपों पर चिंता जताई है और इसे कानून प्रक्रिया का दुरुपयोग माना है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -