Saturday, September 18, 2021
HomeराजनीतिTMC सांसद महुआ मोइत्रा ने हिंदू नव वर्ष पर शुभकामनाओं को 'कट्टरता' से जोड़ा

TMC सांसद महुआ मोइत्रा ने हिंदू नव वर्ष पर शुभकामनाओं को ‘कट्टरता’ से जोड़ा

महुआ मोइत्रा द्वारा हिंदू नववर्ष को कट्टरता से जोड़ने पर सोशल मीडिया पर कई लोगों ने टीएमसी सांसद की क्लास लगा दी।

तृणमूल कॉन्ग्रेस (TMC) की सांसद महुआ मोइत्रा को सेक्युलरिज्म के चक्कर में अब हिंदू नववर्ष भी कट्टरपंथ लगने लगा है। उनके अनुसार बीजेपी द्वारा हिंदू नव वर्ष की शुभकामनाएँ देना ‘कट्टरता’ है।

महुआ मोइत्रा का ट्वीट

चैत्र नवरात्रि के पहले दिन 12 अप्रैल 2021 को हिंदू कैलेंडर के अनुसार नया साल विक्रम संवत 2078 शुरू हुआ। बहुत सारे हिंदू नए साल का जश्न चैत्र महीने में इसकी शुरुआत पर मनाते हैं। ठीक इसी तरह बहुत सारे हिंदू, विशेष रूप से गुजरात में कार्तिक महीने में दिवाली के अगले दिन को नए साल के रूप में मनाते हैं। यही कारण है कि हिंदू धर्म में अलग-अलग समुदाय साल के अलग-अलग दिनों को नए साल के रूप में मनाते हैं। इसके अलावा भारत के विभिन्न हिस्सों में, हिंदू कैलेंडर के महीनों में भी भिन्नता देखने को मिलती है। जबकि देश के कुछ हिस्सों में यह चैत्र है, कुछ में वैशाख से शुरू हो गया है, जो बंगाल, असम और त्रिपुरा में लोगों के लिए नया साल है।

लेकिन, ऐसा प्रतीत होता है कि टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा इस बात से नाखुश थीं कि भाजपा ने हिंदुओं को नए साल की शुभकामनाएँ दी है। इतना ही नहीं वह शुभकामनाओं को ‘रेडिकलाइजेशन’ कह रही हैं।

बंगालियों को लेकर उन्होंने दावा किया कि पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश में नए साल की शुभकामनाएँ ‘पोइला बैसाख’ से शुरू होती हैं, न कि ‘हिंदू नव वर्ष‘ से। पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश की संस्कृतियाँ एक हैं और बांग्लादेश एक इस्लामिक राष्ट्र है।

महुआ द्वारा हिंदू नववर्ष को कट्टरता से जोड़ने पर सोशल मीडिया पर कई लोगों ने टीएमसी सांसद की क्लास लगा दी।

कुछ ने यह भी बताया कि बांग्लादेश में जो लोग पोइला बैशाख मनाते हैं, वो वास्तव में हिंदू हैं।

कुछ लोगों ने इसे हिंदुत्व को लेकर उनकी अज्ञानता बताई।

हिंदू नव वर्ष का जश्न मनाने वालों को ‘कट्टर’ बताने की कोशिश में किए गए इस ट्वीट से महुआ की हिंदू घृणा दिखती है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘फर्जी प्रेम विवाह, 100 से अधिक ईसाई लड़कियों का यौन शोषण व उत्पीड़न’: केरल के चर्च ने कहा – ‘योजना बना कर हो रहा...

केरल के थमारसेरी सूबा के कैटेसिस विभाग ने आरोप लगाया है कि 100 से अधिक ईसाई लड़कियों का फर्जी प्रेम विवाह के नाम पर यौन शोषण किया गया।

डॉ जुमाना ने किया 9 बच्चियों का खतना, सभी 7 साल की: चीखती-रोती बच्चियों का हाथ पकड़ लेते थे डॉ फखरुद्दीन व बीवी फरीदा

अमेरिका में मुस्लिम डॉक्टर ने 9 नाबालिग बच्चियों का खतना किया। सभी की उम्र 7 साल थी। 30 से अधिक देशों में है गैरकानूनी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
122,951FollowersFollow
409,000SubscribersSubscribe