Thursday, January 20, 2022
Homeराजनीति3 और पाकिस्तान बनाएँगे... कहाँ तक ले जाएँगे ये सब, कभी रुकोगे कि नहीं:...

3 और पाकिस्तान बनाएँगे… कहाँ तक ले जाएँगे ये सब, कभी रुकोगे कि नहीं: TMC पर अमित शाह

"बंगाल में बीजेपी के अलावा कोई हिंसा को नहीं रोक सकता है। क्योंकि हम हिंसा में विश्वास नहीं करते हैं। किसी भी पार्टी का कोई भी कार्यकर्ता नहीं मरना नहीं चाहिए।"

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनावों से पहले हो रही हिंसा पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने इस मामले में ट्वीट किया, “चुनावी हिंसा बंगाल की संस्कृति का हिस्सा कभी नहीं रहा। CPM और TMC चुनावी हिंसा को लेकर आई हैं। राज्य में अब तक 130 बीजेपी कार्यकर्ताओं की हत्या हुई है। इस सांप्रदायिकता की हद तो तब होती है, TMC के नेता आपत्तिजनक बयान देते हैं और दीदी इसका खंडन तक नहीं करती हैं। ये बंगाल को कहाँ ले जाना चाहते हैं।”

गृह मंत्री शाह ने यह बात एबीपी बांग्ला को दिए साक्षात्कार में कही। उन्होंने आरोप लगाया कि कम्यूनिस्ट और TMC की सरकारें बंगाल में चुनावी हिंसा को पीक पर ले गईं। यह देश का पहला राज्य है, जहाँ पंचायत चुनाव में वॉट्सएप पर पर्चा एक्सेप्ट करना पड़ा और ममता दीदी इसे डिग्री मानती हैं। अमित शाह ने कहा:

“मैं बंगाल की जनता को करबद्ध विनती करने आया हूँ कि बंगाल में बीजेपी के अलावा कोई हिंसा को नहीं रोक सकता है। क्योंकि हम हिंसा में विश्वास नहीं करते हैं। किसी भी पार्टी का कोई भी कार्यकर्ता नहीं मरना नहीं चाहिए।”

अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए गृहमंत्री अमित शाह ने कहा, “ममता दीदी हमें कहती हैं कि हम हिंसा कर रहे हैं और मेरी ही पार्टी के लोग मर रहे हैं, शायद ऐसा ममता दीदी ही कह सकती हैं। कोई और नहीं कह सकता है। कोई TMC का व्यक्ति कह रहा है कि 30 प्रतिशत मुसलमान एक हो जाए तो तीन और पाकिस्तान बन जाएँगे। कहाँ तक ले जाएँगे ये सब, कभी रुकोगे कि नहीं।”

दुर्गा पूजा को लेकर चुनाव के कारण दीदी में परिवर्तन

दुर्गा पूजा को लेकर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी द्वारा शुरू किए कॉर्निवल पर अमित शाह ने कहा कि दीदी में ये परिवर्तन 2019 के चुनाव के बाद आया है। अन्यथा उससे पहले तो दुर्गा विसर्जन के लिए ऑर्डर लाना पड़ता था। पुलिस इसकी इजाजत तक नहीं देती थी।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

महाराष्ट्र के नगर पंचायतों में BJP सबसे आगे, शिवसेना चौथे नंबर की पार्टी बनी: जानिए कैसा रहा OBC रिजर्वेशन रद्द होने का असर

नगर पंचायत की 1649 सीटों के लिए मंगलवार को मतदान हुआ था। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद यह चुनाव ओबीसी आरक्षण के बगैर हुआ था।

भगवान विष्णु की पौराणिक कहानी से प्रेरित है अल्लू अर्जुन की नई हिंदी डब फिल्म, रिलीज को तैयार ‘Ala Vaikunthapurramuloo’

मेकर्स ने अल्लू अर्जुन की नई हिंदी डब फिल्म के टाइटल का मतलब बताया है, ताकि 'अला वैकुंठपुरमुलु' से अधिक से अधिक दर्शकों का जुड़ाव हो सके।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
152,319FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe