Saturday, May 18, 2024
Homeराजनीति334 में से 329 सीटों पर लहराया भगवा: त्रिपुरा निकाय चुनावों में BJP का...

334 में से 329 सीटों पर लहराया भगवा: त्रिपुरा निकाय चुनावों में BJP का लगभग क्लीन स्वीप, TMC-वामपंथी हुए फेल

भारतीय जनता पार्टी ने सबसे अच्छा प्रदर्शन खोवाई म्युनिसिपल काउंसिल (KMC) में किया है, जहाँ 15 की 15 सीटें उसके ही खाते में गई हैं।

ताज़ा अपडेट: त्रिपुरा निकाय चुनावों में भारतीय जनता पार्टी ने 334 में से 239 सीटों पर जीत दर्ज की है। मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब ने इसके लिए राज्य की जनता का आभार जताया है। साथ ही उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन में हम राज्य के 37 लाख लोगों के भले के लिए कार्य कर रहे हैं।

त्रिपुरा में हुए निकाय चुनावों में भाजपा ने काफी अच्छा प्रदर्शन किया है। जिन 13 शहरी निकायों में चुनाव हुए हैं, उनमें ‘अगरतल्ला म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन (AMC)’ भी शामिल है। बता दें कि उत्तर-पूर्वी राज्य त्रिपुरा में कुल 20 शहरी निकाय हैं। त्रिपुरा में फ़िलहाल भाजपा की ही सत्ता है और बिप्लब कुमार देब राज्य के मुख्यमंत्री हैं। ‘अगरतल्ला म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन (AMC)’ में 51 में से 19 सीटों पर भाजपा उम्मीदवारों ने अच्छा प्रदर्शन किया है। अन्य जगहों पर भी भाजपा का प्रदर्शन शानदार रहा है।

भारतीय जनता पार्टी ने सबसे अच्छा प्रदर्शन खोवाई म्युनिसिपल काउंसिल (KMC) में किया है, जहाँ 15 की 15 सीटें उसके ही खाते में गई हैं। इसी तरह ‘मेलाघर म्युनिसिपल काउंसिल (MMC)’ में कुल 13 सीटें हैं, जिनमें सभी पर भाजपा ने कब्ज़ा जमाया है। सोनमुड़ा नगर पंचायत में भी भाजपा ने सभी 13 सीटें अपने नाम कर ली हैं। वहीं कैलाशहर में 17 में से 16 सीटों पर भाजपा के उम्मीदवार आगे हैं। यहाँ एक सीट पर CPI(M) ने लीड ले रखी है।

वहीं बेलोनिया की बात करें तो यहाँ 17 में से 13 सीटों पर भाजपा उम्मीदवारों ने बड़ी जीत दर्ज की है, वहीं बाकी की 4 सीटों पर मतगणना अभी भी जारी है। सबरूम नगर पंचायत में भी भाजपा ने क्लीन स्वीप किया है और 9 में से 9 सीटें अपने नाम कर ली हैं। वहीं ‘कुमारघाट म्युनिसिपल काउंसिल’ की बात करें तो वहाँ भी सभी 15 सीटों पर भाजपा उम्मीदवार बड़े वोटों के अंतर से आगे चल रहे हैं। कुल मिला कर इस चुनाव परिणाम में भाजपा की बल्ले-बल्ले है।

बताते चलें कि कुल 222 सीटों पर चुनाव हुआ था। यहाँ कुल 334 सीटें हैं, लेकिन भाजपा उम्मीदवार पहले ही 112 सीटों पर निर्विरोध जीत दर्ज कर चुके हैं, जहाँ किसी अन्य दल ने उम्मीदवार ही नहीं दिए। भाजपा आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर तंज कसते हुए कहा कि त्रिपुरा तो शुरुआत है, उन्हें अभी और झटके लगने बाकी हैं। उन्होंने कहा कि हिंसा और धमकी की राजनीति अब नहीं चलेगी। बता दें कि तृणमूल कॉन्ग्रेस (TMC) उत्तर-पूर्व में पाँव पसारने की जुगत भी है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

स्वाति मालीवाल बन गई INDI गठबंधन में गले की फाँस? राहुल गाँधी की रैली के लिए केजरीवाल को नहीं भेजा गया न्योता, प्रियंका कह...

दिल्ली में आयोजित होने वाली राहुल गाँधी की रैली में शामिल होने के लिए AAP प्रमुख अरविंद केजरीवाल को न्योता नहीं दिया गया है।

‘अनुच्छेद 370 को हमने कब्रिस्तान में गाड़ दिया, इसे वापस नहीं लाया जा सकता’: PM मोदी बोले- अलगाववाद को खाद-पानी देने वाली कॉन्ग्रेस ने...

पीएम मोदी ने कहा, "आजादी के बाद गाँधी जी की सलाह पर अगर कॉन्ग्रेस को भंग कर दिया गया होता, तो आज भारत कम से कम पाँच दशक आगे होता।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -