Saturday, January 22, 2022
Homeराजनीतिगूँगे-बहरे दलित को राष्ट्रपति बनाती है BJP: 'सबसे बड़े' दलित नेता उदित राज ने...

गूँगे-बहरे दलित को राष्ट्रपति बनाती है BJP: ‘सबसे बड़े’ दलित नेता उदित राज ने किया राष्ट्रपति पद का अपमान

कॉन्ग्रेस में शामिल होने के बाद लगातार भाजपा पर हमले कर रहे उदित राज को लेकर पार्टी पहले ही असहज थी और टिकट की घोषणा में हुई देरी ने भाजपा का काम आसान कर दिया। बाद में शत्रुघ्न सिन्हा की तरह टिकट कटने के बाद उन्होंने स्वतः पार्टी छोड़ दी और राहुल गाँधी से जा मिले।

अपने आप को देश का सबसे बड़ा दलित नेता बताने वाले उदित राज ने भाजपा पर निशाना साधते हुए प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति पद का अपमान किया है। नॉर्थ वेस्ट दिल्ली से 2014 में बीजेपी के टिकट पर जीते उदित राज ने ट्वीट कर ख़ुद को ‘बोलने वाला’ दलित नेता बताया और कहा कि भाजपा को दलितों से नफ़रत है और वो ‘बोलने वाले’ दलित की जगह सीट हारना पसंद करेंगे। बता दें कि हाल ही में उदित राज का टिकट काटकर नॉर्थ वेस्ट दिल्ली से प्रसिद्ध पंजाबी सूफी गायक हंस राज हंस को टिकट दे दिया गया था। हंस राज हंस दलित वाल्मीकि समुदाय से आते हैं। इससे बिफरे उदित राज ने भाजपा छोड़कर कॉन्ग्रेस ज्वाइन कर लिया था। उदित राज टिकट की घोषणा में हुई देरी के बाद से ही पार्टी को धमकाने लगे थे। लगातार विवादित बयानों के कारण पार्टी ने उनसे किनारा कर लिया।

उदित राज के इस ट्वीट पर पलटवार करते हुए दिल्ली भाजपा के प्रवक्ता तेजिंदर बग्गा ने उनसे पूछा कि क्या उनका दर्द अभी तक गया नहीं है? बता दें कि तेजिंदर बग्गा और उदित राज कई दिनों ने ट्विटर पर उलझे हुए हैं और हाल ही में तेजिंदर बग्गा ने कहा था कि उदित राज उन्हें मैसेज भेजकर उनके ट्वीट को रीट्वीट करने का निवेदन करते थे। कॉन्ग्रेस में शामिल होने के बाद लगातार भाजपा पर हमले कर रहे उदित राज को लेकर पार्टी पहले ही असहज थी और टिकट की घोषणा में हुई देरी ने भाजपा का काम आसान कर दिया। बाद में शत्रुघ्न सिन्हा की तरह टिकट कटने के बाद उन्होंने स्वतः पार्टी छोड़ दी और राहुल गाँधी से जा मिले।

हालाँकि, जब तक नॉर्थ वेस्ट दिल्ली का भाजपा द्वारा टिकट का ऐलान नहीं हुआ था, तब तक वो चुप भी रह सकते थे और इन्तजार कर सकते थे लेकिन बड़बोले उदित राज ने सीधा अमित शाह और नरेंद्र मोदी को घेरना शुरू कर दिया। उनका टिकट काटकर पार्टी ने साफ़ सन्देश दे दिया है कि भाजपा में रहकर पार्टी की विचारधारा के ख़िलाफ़ बार-बार बोलने वालों के लिए, यहाँ कोई जगह नहीं है। पिछले 5 वर्षों में कई मौकों पर उदित राज ने या तो अपनी ही पार्टी पर निशाना साधा या फिर कुछ ऐसा बयान दिया, जिससे पार्टी की फजीहत हुई और कार्यकर्ताओं में भ्रम पैदा हुआ। यहाँ तक कि उन्होंने यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तक के बयानों पर सार्वजनिक रूप से पलटवार किया।

नॉर्थ वेस्ट दिल्ली में आम आदमी पार्टी की तरफ से गुगन सिंह प्रत्याशी हैं। कॉन्ग्रेस ने राजेश लिलोठिया पर भरोसा जताया है। आम आदमी पार्टी से गठबंधन के विरोधी रहे लिलोठिया दिल्ली कॉन्ग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष भी हैं। गुगन सिंह 2017 में भाजपा छोड़कर आम आदमी पार्टी में शामिल हुए थे। जालंधर से ताल्लुक रखने वाले हंस राज हंस ने 2016 के अंत में भाजपा जॉइन की थी।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

केस ढोते-ढोते पिता भी चल बसे, माँ रहती हैं बीमार : दिल्ली दंगों में पहली सज़ा दिनेश यादव को, गरीब परिवार ने कहा –...

दिल्ली हिन्दू विरोधी दंगों में दिनेश यादव की गिरफ्तारी के बाद उनके पिता की मौत हो गई थी। पुलिस पर लगा रिश्वत न देने पर फँसाने का आरोप।

‘ईसाई बनने को कहा, मना करने पर टॉयलेट साफ़ करने को मजबूर किया’: तमिलनाडु में 17 साल की लड़की की आत्महत्या, माता-पिता ने बताई...

परिजनों ने आरोप लगाया कि हॉस्टल वॉर्डन द्वारा लावण्या प्रताड़ित किया गया था और मारा-पीटा गया था, क्योंकि उसने ईसाई मजहब में धर्मांतरण से इनकार किया था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
152,725FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe