Monday, July 22, 2024
Homeराजनीतिगडकरी ने 1 किलो पर ₹1000 करोड़ का किया वादा, सांसद ने 7 महीने...

गडकरी ने 1 किलो पर ₹1000 करोड़ का किया वादा, सांसद ने 7 महीने में कम किए 32 किलो: अब उज्जैन के विकास के लिए मिले ₹2300 करोड़

इस साल फरवरी में गडकरी ने फिरोजिया को वजन घटाने की चुनौती दी थी। उनसे कहा था कि एक किलो वजन कम करने पर उनके क्षेत्र में विकास कार्यों के लिए 1000 करोड़ रुपए मिलेंगे।

अनिल फिरोजिया (Anil Firojiya) मध्य प्रदेश के उज्जैन से बीजेपी के सांसद हैं। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के एक चैलेंज को स्वीकार कर उन्होंने अपने क्षेत्र में विकास कार्यों के लिए करीब 2300 करोड़ रुपए हासिल किए हैं।

फिरोजिया ने केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) की चुनौती स्वीकार करते हुए अपना 32 किलो वजन कम किया है। इस साल फरवरी में गडकरी ने उन्हें वजन घटाने की चुनौती दी थी। उनसे कहा था कि एक किलो वजन कम करने पर उनके क्षेत्र में विकास कार्यों के लिए 1000 करोड़ रुपए मिलेंगे।

जब फिरोजिया को यह चुनौती दी गई थी तब वे 130 किलो के थे। अब उनका वजन 98 किलो है। वजन घटाने के उन्होंने लिए क्या-क्या किया इसके बारे में भी बताया है। सांसद ने कहा, “मैं सुबह 5.30 बजे जग जाता हूँ और फिर मॉर्निंग वॉक पर जाता हूँ। मॉर्निंग वॉक में दौड़, एक्सरसाइज और योग शामिल हैं। मैं आयुर्वेदिक डाइट चार्ट फॉलो करता हूँ और हल्का नाश्ता लेता हूँ। लंच और डिनर में सलाद, हरी सब्जियाँ, मिक्स अनाज की एक रोटी शामिल होती है। कभी-कभी गाजर का सूप और ड्राइफ्रूट्स भी खा लेता हूँ।”

भाजपा सांसद ने बताया कि उन्होंने वजन घटाने के बाद 14 अक्टूबर 2022 को नितिन गडकरी से मुलाकात की। केंद्रीय मंत्री उनके वजन घटाने की बात से बहुत खुश हुए। वादे के मुताबिक, उन्होंने उज्जैन के लिए 2300 करोड़ रुपए के विकास कार्यों को मंजूरी दे दी है।

गडकरी की चुनौती मिलने के तीन महीने के भीतर ही फिरोजिया ने 12 किलो और सात महीने में 32 किलो वजन कम किया है। सांसद के अनुसार, वजन घटाने में उनकी पत्नी और बेटी का बड़ा योगदान रहा। उन्होंने न केवल उनकी डाइट का ख्याल रखा, बल्कि उन्हें लगातार वर्कआउट के लिए भी प्रेरित किया। वह कहते हैं, “मैं पहले इतना मोटा नहीं था। राजनीति के चक्कर में खानपान का सिस्टम गड़बड़ा गया। इसके चलते मैं अपने शरीर पर बिल्कुल भी ध्यान नहीं दे पाया। विधायक रहते देर रात खाना खाकर सो जाता था। वजन बढ़कर 130 किलो हो गया। इस दौरान जब नितिन गडकरी से चैलेंज मिला तो और क्षेत्र के विकास की बात आई तो मैंने वजन कम करने का प्रण लिया।”

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आम सैनिकों जैसी ड्यूटी, सेम वर्दी, भारतीय सेना में शामिल हो चुके हैं 1 लाख अग्निवीर: आरक्षण और नौकरी भी

भारतीय सेना में शामिल अग्निवीरों की संख्या 1 लाख के पार हो गई है, 50 हजार अग्निवीरों की भर्ती की जा रही है।

भारत के ओलंपिक खिलाड़ियों को मिला BCCI का साथ, जय शाह ने किया ₹8.50 करोड़ मदद का ऐलान: पेरिस में पदकों का रिकॉर्ड तोड़ने...

बीसीसीआई के सचिव जय शाह ने बताया कि ओलंपिक अभियान के लिए इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन (IOA) को बीसीसीआई 8.5 करोड़ रुपए दे रही है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -