Monday, August 2, 2021
Homeराजनीतिबुरहान वानी के गाँव में भी हार गया गुपकार गैंग, लोगों ने काम करने...

बुरहान वानी के गाँव में भी हार गया गुपकार गैंग, लोगों ने काम करने और राज करने वालों में देखा फर्क: रविशंकर प्रसाद

गुपकार गठबंधन को बुरहान वानी के गाँव में भी हार का सामना करना पडता है तो समझ लीजिए कि कश्मीर की हवा का रुख क्या है। उन्होंने याद दिलाया कि बुरहान वानी की मौत किस तरह इन्हीं दलों ने बड़ा मुद्दा बना दिया था।

जम्मू-कश्मीर में जिला विकास परिषद (DDC Election) के चुनाव के नतीजे सामने आने के बाद भारतीय जनता पार्टी (BJP) केंद्र शासित प्रदेश की सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है। इन चुनावों में बीजेपी को 74 सीटों पर जीत हासिल हुई है।

पार्टी की इस बड़ी जीत पर सारे भाजपा नेता खुश हैं। इसी क्रम में केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने आज (दिसंबर 23, 2020) प्रेस कॉन्फ्रेंस की और इस ऐतिहासिक जीत को जम्मू-कश्मीर की जनता, उनकी आशा और विकास की विजय बताया।

उन्होंने गुपकार गठबंधन को लेकर कहा कि ये बना इसीलिए था क्योंकि इन्हें मालूम था कि ये अकेले भाजपा को हरा नहीं पाएँगे। आज बीजेपी को एनसी, कॉन्ग्रेस और पीडीपी से ज्यादा सीट मिली हैं। उन्होंने दावा किया कि प्रदेश में जिन निर्दलीयों ने विजय हासिल की है उनमें से अधिकतर भाजपा समर्थित हैं।

घाटी में कमल खिलने पर उन्होंने कहा, “मैं पीएम मोदी, जम्मू कश्मीर के लोगों पार्टी के कार्यकर्ता और नेता सभी का अभिनंदन करता हूँ। पुलवामा में कुल 7.4 फ़ीसदी वोट पड़े, जबकि सोपोर में 23.8 फीसदी वोटिंग हुई, वहीं बांदीपोरा में 51.7 फीसदी वोटिंग हुई है।”

प्रसाद ने कहा कि भाजपा की ये जीत, पीएम मोदी ने जो कश्मीर के भविष्य के लिए सोचा था उस सोच की जीत है। उन्होंने इस बात पर गौर करवाया कि गुपकार गठबंधन को बुरहान वानी के गाँव में भी हार का सामना करना पडता है तो समझ लीजिए कि कश्मीर की हवा का रुख क्या है। उन्होंने याद दिलाया कि बुरहान वानी की मौत किस तरह इन्हीं दलों ने बड़ा मुद्दा बना दिया था।

उन्होंने जीत के आँकड़े साझा करते हुए कुछ इलाकों को चिह्नित किया और कहा कि इन इलाकों को हॉट बेड कहा जाता था। लेकिन यहाँ की जनता क्या चाहती है इसे समझना होगा। उन्होंने अनुच्छेद 370 के बाद पहली बार प्रदेश में हुए चुनावों पर कहा कि यहाँ की जनता ने पहली बार ईमानदारी से चुनाव देखे। जब फारूख अब्दुल्ला जीते थे उस समय सिर्फ 7 फीसद वोटिंग हुई थी। 

वह बोले कि जम्मू-कश्मीर की जनता ने आतंकियों को वोट के माध्यम से तमाचा मारा है। जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के बाद यहाँ के लोगों ने जमीन पर विकास देखा। कश्मीर के आवाम ने राज करने वाले और काम करने वालों के बीच अंतर को देखा। कश्मीर में पहली बार केंद्र का पैसा पंचायत में पहुँचा है।

प्रेस कॉन्फ्रेंस में रविशंकर प्रसाद ने निर्दलीय उम्मीदवारों की तारीफ की और इंजीनियर एजाज को लेकर कहा कि उन्होंने जीतने के बाद जो बोला वो कश्मीर की नई आवाज है। ये कश्मीर की नई शुरूआत है। कश्मीर की जम्हूरियत नई अंगड़ाई ले रही है। लोकतंत्र आशा और उत्साह की अंगड़ाई ले रहा है।

बता दें कि इस बार डीडीसी चुनाव में 51 फीसदी वोटिंग हुई है। नतीजों से पता चला है कि इस बार भाजपा का वोट शेयर भी गुपकार गठबंधन से अच्छा है। जानकारी के मुताबिक बीजेपी का वोट शेयर 38.74 फीसदी है और गुपकार गैंग का कुल वोट शेयर 32.96 फीसदी  है। भाजपा को कुल 4,87,364 वोट मिले और एनसी, पीडीपी तथा कांग्रेस का कुल वोट मिलाकर 4,77,000 है, जो भाजपा के वोट से काफी कम है। 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एक गोल्ड मेडल अनवर सरदार को भी’: उधर टोक्यो ओलंपिक में इजरायल का राष्ट्रगान बजा, इधर सोशल मीडिया पर अनु मलिक की धुनाई

उधर टोक्यो ओलंपिक में इजरायल का राष्ट्रगान बजा, इधर सोशल मीडिया पर बॉलीवुड के बड़े संगीतकारों में से एक अनु मलिक की लोगों ने धुनाई चालू कर दी।

इंडिया जीता… लेकिन सब गोल पंजाबी खिलाड़ियों ने किया: CM अमरिंदर सिंह के ट्वीट में भारत-पंजाब अलग-अलग क्यों?

पंजाब मुख्यमंत्री ने ट्वीट में कहा, ”इस बात को जानकर खुश हूँ कि सभी 3 गोल पंजाब के खिलाड़ी दिलप्रीत सिंह, गुरजंत सिंह और हार्दिक सिंह ने किए।”

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,611FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe