Tuesday, May 28, 2024
Homeराजनीतिअयोध्या में मंदिरों-मठों पर नहीं लगेगा कमर्शियल टैक्स, CM योगी ने संतों के आग्रह...

अयोध्या में मंदिरों-मठों पर नहीं लगेगा कमर्शियल टैक्स, CM योगी ने संतों के आग्रह को माना: अष्टमी-नवमी को VIP दर्शनार्थियों की सुविधा पर रोक

रअसल, फैजाबाद का नाम बदलकर अयोध्या जिला घोषित करने के बाद अयोध्या नगर निगम की भी घोषणा हुई थी। तब से टैक्स में भारी बढ़ोत्तरी हो गई थी।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (UP CM Yogi Adityanath) ने श्रीराम की नगरी अयोध्या (Ayodhya) के मंदिर, मठ और अन्य धार्मिक स्थलों से ली जाने वाली व्यवसायिक कर (Commercial Tax) पर रोक दिया है। स्थानीय नगर निगम को इनसे लाखों रुपए टैक्स के रूप में मिलते थे।

मुख्यमंत्री योगी ने राज्य के दोबारा मुख्यमंत्री बनने के बाद पहली बार अयोध्या पहुँचे। इस दौरान मंडल की समीक्षा बैठक में उन्होंने यह आदेश दिया। दरअसल, अयोध्या के मंदिर एवं मठों के महंतों ने सीएम योगी से टैक्स से बाहर करने के लिए कई बार आग्रह किया था। इसके बाद सीएम योगी ने उन्हें आश्वस्त किया था।

अयोध्या प्रवास के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हनुमानगढ़ी मंदिर और श्रीराम जन्मभूमि में जाकर माथा टेका और रामनवमी के दौरान उत्सव की तैयारियों की समीक्षा की। उन्होंने अधिकारियों को श्रीराम जन्मोत्सव को दिव्य और भव्य रूप से मनाने का निर्देश भी दिया। इस दौरान मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष नृत्य गोपाल दास, महंत कौशल किशोर सहित कई संतों ने उनसे मुलाकात की।

अयोध्या नगर निगम के महापौर ऋषिकेश उपाध्याय ने कहा, “आज मुख्यमंत्री जी ने सभी अधिकारियों को निर्देश दे दिया है कि मठ, मंदिर और धर्मशालाओं से चैरिटेबल के रूप में टैक्स लिया जाए, लेकिन कमर्शियल टैक्स ना लिया जाए। इससे संत बहुत खुश हैं। अयोध्या में 8 हजार मठ-मंदिर है और इनका टैक्स माफ करने संबंधित प्रस्ताव हम लोग सदन में जल्दी ही पास करेंगे।”

वहीं, हनुमानगढ़ी के महंत राजू दास ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को कोटि-कोटि धन्यवाद और आभार। उन्होंने कहा, “हमारे गुरुदेव ने कई बार मुख्यमंत्री से अयोध्या के मठों और मंदिरों का टैक्स माफ करने के लिए कहा था। पहले सालाना 250 रुपए से लेकर 300 रुपए तक का टैक्स लगता था, लेकिन नगर निगम बनने के बाद से मंदिरों में एक लाख से लेकर 3 लाख रुपए तक का टैक्‍स आता है।”

दरअसल, अयोध्या जिला बनने से पहले फैजाबाद नगरपालिका और अयोध्या नगरपालिका टैक्स का संचालन और सुविधाओं का ख्याल रखती थीं। फैजाबाद का नाम बदलकर अयोध्या जिला घोषित करने के बाद अयोध्या नगर निगम की भी घोषणा हुई थी। तब से टैक्स में बढ़ोत्तरी हो गई थी।

अष्टमी-नवमी को अयोध्या में VIP दर्शन नहीं

आम लोगों की भावनाओं को समझते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने VIP लोगों से कहा है कि वे नवरात्रि में अष्टमी एवं नवमी को मंदिरों में दर्शन करने के लिए नहीं जाएँ। अगर इस दौरान वे दर्शन के लिए जाते हैं तो उन्हें VIP सुविधा नहीं दी जाएगी और उन्हें आम दर्शनार्थी की तरह भगवान के दर्शन करने होंगे।

उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिया कि अगर कोई भी अधिकारी इस दौरान दर्शन के लिए आता है तो उसे विशेष सुविधा ना दी जाए। उन्होंने इस दौरान रामनवमी के दौरान VIP प्रोटोकॉल पर रोक लगाने की घोषणा की है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

2014 – प्रतापगढ़, 2019 – केदारनाथ, 2024 – कन्याकुमारी… जिस शिला पर विवेकानंद ने की थी साधना वहीं ध्यान धरेंगे PM नरेंद्र मोदी, मतगणना...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सातवें चरण के लिए प्रचार-प्रसार का शोर थमने के साथ थी 30 मई को ही कन्याकुमारी पहुँच जाएँगे, 4 जून को होनी है मतगणना।

पंजाब में Zee मीडिया के सभी चैनल ‘बैन’! मीडिया संस्थान ने बताया प्रेस की आज़ादी पर हमला, नेताओं ने याद किया आपातकाल

जदयू के प्रवक्ता KC त्यागी ने इसकी निंदा करते हुए कहा कि AAP का जन्म मीडिया की फेवरिट संस्था के रूप में हुआ था, रामलीला मैदान में संघर्ष के दौरान मीडिया उन्हें खूब कवर करता था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -