Monday, December 6, 2021
Homeराजनीतिदहशतगर्दों को कुचल कर रख देंगे: कमलेश तिवारी के परिजनों से मिलेंगे योगी आदित्यनाथ

दहशतगर्दों को कुचल कर रख देंगे: कमलेश तिवारी के परिजनों से मिलेंगे योगी आदित्यनाथ

कमलेश तिवारी ने 2015 में पैगम्बर मुहम्मद को लेकर एक विवादित टिप्पणी की थी, जिसके बाद देशभर के कट्टरपंथियों उनके खिलाफ प्रदर्शन किया था। कई उलेमा और मौलवियों ने तो यहाँ तक कह दिया था कि 'कमलेश तिवारी का सर काटने वाले को लाखों का इनाम दिया जाएगा।'

हिन्दू महासभा के पूर्व अध्यक्ष और हिन्दू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी की हत्या पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि यह दहशत पैदा करने की एक शरारत है। उन्होंने कहा कि इस मामले में अभी तक तीन गिरफ्तारियाँ हुई हैं और कार्रवाई लगातार चल रही है। मामला एक स्पेशल इन्वेस्टीगेशन को देकर प्रभावी कार्रवाई करने के आदेश दे दिए गए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस जघन्य वारदात में शामिल तत्वों को पाताल से भी ढूंढ़ निकाला जाएगा और कड़ी से कड़ी सजा दिलाई जाएगी।

लखनऊ में हुई इस घटना का ज़िक्र करते हुए योगी आदित्यनाथ ने बताया कि हत्यारे जब कमलेश के घर में आए तो उन्होंने साथ बैठकर चाय पी और जलपान किया। लेकिन इसके ठीक बाद उनके निजी सहायक को हत्यारों ने समान लाने के बहाने बाहर भेजकर कमलेश की हत्या कर दी।

हिन्दू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी ने 2015 में पैगम्बर मुहम्मद को लेकर एक विवादित टिप्पणी की थी, जिसके बाद देशभर के कट्टरपंथियों ने उनके खिलाफ प्रदर्शन किया था। कई उलेमा और मौलवियों ने तो यहाँ तक कह दिया था कि ‘कमलेश तिवारी का सर काटने वाले को लाखों का इनाम दिया जाएगा।’

इसी तक़रीर के बाद ही देश में माहौल बिगड़ना शुरू हो गया था। देवबंद से लेकर सहारनपुर और पश्चिम बंगाल में मजहबी भीड़ ने जमकर हंगामा किया था। पश्चिम बंगाल के मालदा में 2.5 लाख मजहबियों ने इकट्ठा होकर कालियाचक बाज़ार में दुकानों में लूट मचाई थी, सड़क पर खड़ी बसें जला दी थीं और पुलिस के एक थाने को भी आग के हवाले कर दिया था। कुछ लोगों की जानें भी गई थीं।

बता दें कि जब कमलेश की हत्या की तस्वीरें इन्टरनेट के ज़रिये लोगों तक पहुँचीं तो गला रेती हुई और गोली लगी लाश को देखकर हर कोई विचलित हो गया। सोशल मीडिया पर भी कुछ अराजक तत्वों ने बेशर्मी दिखाते हुए कमलेश के हत्यारों के समर्थन में निहायत ही घटिया कमेन्ट लिखे, जिनमें अधिकतर कट्टरपंथी थे।

हत्या के 24 घंटों के भीतर ही यूपी पुलिस ने इस मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया जिनके नाम मोहसिन शेख, फैजान और राशिद अहमद पठान हैं। इस पर जानकारी देते हुए उत्तर प्रदेश पुलिस के डीजीपी ओपी सिंह ने जानकारी देते हुए बताया, “हम गुजरात एंटी-टेररिज्म स्क्वाड (एटीएस) के साथ मिलकर काम कर रहे हैं। हालाँकि, अभी तक इस मामले में किसी भी आतंकवादी संगठन के संलिप्त होने का कोई सबूत नहीं मिला है।

मुख्यमंत्री योगी ने यह भी कहा कि भय और दहशत का माहौल फ़ैलाने वाले जो भी तत्व हैं, हम उन्हें और उनके मंसूबों को कुचल कर रख देंगे। उन्होंने कहा कि इस प्रकार की किसी भी वारदात को स्वीकार नहीं किया जाएगा। उन्होंने आश्वासन दिया कि ऐसा करने वालों को बक्शा नहीं जाएगा। रविवार (अक्टूबर 20, 2019) को सीएम योगी आदित्यनाथ मृतक कमलेश तिवारी के परिजनों से मुलाक़ात करेंगे। सूत्रों के मुताबिक कमलेश तिवारी का परिवार रविवार शाम को लखनऊ में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात करेगा। सरकार तिवारी के परिवार को आर्थिक मदद देने के साथ ही परिवार के लिए सुरक्षा मुहैया कराएगी।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘पिता को 15 टुकड़ों में काटा, बैग में भरकर झेलम किनारे फेंका’: USA में पल्लवी जोशी ने दुनिया को बताया कश्मीरी पंडितों का दर्द

अभिनेत्री पल्लवी जोशी ने बताया कि 'द कश्मीर फाइल्स' के निर्माण के दौरान उन्होंने कई कश्मीरी पंडितों के इंटरव्यूज लिए, जो अपने-आप में एक दर्द भरा अनुभव था।

UAE में खुले में नमाज पर ₹20000 जुर्माना: ‘द गार्डियन’ के लिए मुस्लिम पीड़ित और हिन्दू गुंडे, सड़कों को बता रहा ‘नमाज साइट्स’

90% सुन्नी मुस्लिम जनसंख्या वाले UAE में सड़क किनारे नमाज पढ़ने पर Dh 1000 (20,484 रुपए) के जुर्माने का प्रावधान है। गुरुग्राम पर हंगामा क्यों?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
141,816FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe