Saturday, April 20, 2024
Homeराजनीतिममता बनर्जी के घर के पास TMC ने 'मोदी-शाहसुरमर्दिनी' का लगाया पोस्टर, भाजपा ने...

ममता बनर्जी के घर के पास TMC ने ‘मोदी-शाहसुरमर्दिनी’ का लगाया पोस्टर, भाजपा ने कहा- इससे पता चलती है उनकी ‘संस्कृति’

इससे पहले 2 सितंबर को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की मूर्ति बनाई गई थी, जिसकी देवी दुर्गा की तरह दस भुजाएँ थीं। इस मूर्ति को देवी दुर्गा की मूर्ति के साथ कोलकाता के एक दुर्गा पूजा पंडाल में रखने की बात कही गई थी।

नवरात्रि की शुरुआत हो चुकी है। इसके साथ ही पश्चिम बंगाल में माँ दुर्गा के नाम पर भी राजनीति शुरू हो गई है। इसी क्रम में तृणमूल कॉन्ग्रेस के कार्यकर्ताओं ने हरीश मुखर्जी स्ट्रीट पर एक होर्डिंग लगाया है, जिसमें मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की हाथ जोड़कर एक तस्वीर है। इस होर्डिंग में टीएमसी ने उन्हें ‘मोदी-शाहसुरमदिनी’ बताया है। ममता बनर्जी हरीश मुखर्जी स्ट्रीट पर ही रहती हैं।

होर्डिंग में जो कैप्शन है उसका मतलब ‘महिषासुरमर्दिनी’ है, अर्थात ‘राक्षस महिषासुर’ का वध करने वाली। महिषासुर का वध किया करने के कारण ही माँ दुर्गा को महिषासुरमर्दिनी कहा जाता है। इस पोस्टर के माध्यम से ममता बनर्जी के समर्थक कहना चाह रहे हैं कि जैसे देवी दुर्गा ने महिषासुर का वध किया था, वैसे ही उनकी पार्टी की सुप्रीमो ममता बनर्जी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह की ‘हत्या’ करेंगे।

रविवार (3 अक्टूबर) को हुई मतगणना के बाद पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी द्वारा भाजपा की अपनी निकटतम प्रतिद्वंद्वी प्रियंका टिबरेवाल को 58,832 मतों के अंतर से हराने के बाद संभवत: यह पोस्टर सामने आया है। टीएमसी के लोकसभा सांसद और राष्ट्रीय प्रवक्ता महुआ मोइत्रा ने सबसे पहले होर्डिंग की तस्वीर शेयर की।

हालाँकि, तृणमूल कॉन्ग्रेस ने कहा कि पोस्टर ‘अति उत्साही’ समर्थकों द्वारा लगाया गया था न कि पार्टी द्वारा। हालाँकि, पोस्टर को ध्यान से देखने पर पता चलता है कि होर्डिंग के नीचे दाएँ कोने में ‘वार्ड नं 83 तृणमूल महिला कॉन्ग्रेस’ लिखा हुआ है। इससे स्पष्ट होता है कि यह होर्डिंग टीएमसी की महिला विंग द्वारा लगाई गई थी।

कोलकाता में ममता बनर्जी के आवास के पास लगा होर्डिंग

टीएमसी की इस करतूत पर भाजपा ने उसकी आलोचना करते हुए कहा कि यह होर्डिंग तृणमूल कॉन्ग्रेस के दुस्साहस और उसकी संस्कृति को दर्शाता है।

यह पहली बार नहीं है, जब तृणमूल कॉन्ग्रेस के कार्यकर्ताओं ने अपनी सुप्रीमो और पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी को देवी दुर्गा के रूप में चित्रित करने की कोशिश की है। 2 सितंबर को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की मूर्ति बनाई गई थी, जिसकी देवी दुर्गा की तरह दस भुजाएँ थीं। इस मूर्ति को देवी दुर्गा की मूर्ति के साथ कोलकाता के एक दुर्गा पूजा पंडाल में रखने की बात कही गई थी।

ममता बनर्जी से मिलती-जुलती मूर्ति बनाई जा रही है, जिसकी माँ दुर्गा के समान दस भुजाएँ हैं।

तब टीएमसी पर कटाक्ष करते हुए भाजपा नेता अमित मालवीय ने ट्वीट किया था, “बंगाल चुनाव के बाद जिस तरह से भीषण हिंसा हुई है, उससे ममता बनर्जी के हाथ निर्दोष बंगालियों के खून से रंगे हैं। यह देवी दुर्गा का अपमान है। ममता बनर्जी को इसे रोकना चाहिए। वह बंगाल के हिंदुओं की संवेदनाओं को ठेस पहुँचा रही है।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बच्चा अगर पोर्न देखे तो अपराध नहीं भी… लेकिन पोर्नोग्राफी में बच्चे का इस्तेमाल अपराध: बाल अश्लील कंटेंट डाउनलोड के मामले में CJI चंद्रचूड़

सुप्रीम कोर्ट ने चाइल्ड पॉर्नोग्राफी से जुड़े मद्रास हाई कोर्ट के फैसले को चुनौती देने वाली याचिका पर फैसला सुरक्षित रख लिया है।

मोहम्मद जमालुद्दीन और राजीव मुखर्जी सस्पेंड, रामनवमी पर जब पश्चिम बंगाल में हो रही थी हिंसा… तब ये दोनों पुलिस अधिकारी थे लापरवाह: चला...

चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल में रामनवमी पर हुई हिंसा को रोक पाने में नाकाम थाना प्रभारी स्तर के 2 अधिकारियों को सस्पेंड किया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe