Friday, January 27, 2023
Homeराजनीतिममता बनर्जी के घर के पास TMC ने 'मोदी-शाहसुरमर्दिनी' का लगाया पोस्टर, भाजपा ने...

ममता बनर्जी के घर के पास TMC ने ‘मोदी-शाहसुरमर्दिनी’ का लगाया पोस्टर, भाजपा ने कहा- इससे पता चलती है उनकी ‘संस्कृति’

इससे पहले 2 सितंबर को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की मूर्ति बनाई गई थी, जिसकी देवी दुर्गा की तरह दस भुजाएँ थीं। इस मूर्ति को देवी दुर्गा की मूर्ति के साथ कोलकाता के एक दुर्गा पूजा पंडाल में रखने की बात कही गई थी।

नवरात्रि की शुरुआत हो चुकी है। इसके साथ ही पश्चिम बंगाल में माँ दुर्गा के नाम पर भी राजनीति शुरू हो गई है। इसी क्रम में तृणमूल कॉन्ग्रेस के कार्यकर्ताओं ने हरीश मुखर्जी स्ट्रीट पर एक होर्डिंग लगाया है, जिसमें मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की हाथ जोड़कर एक तस्वीर है। इस होर्डिंग में टीएमसी ने उन्हें ‘मोदी-शाहसुरमदिनी’ बताया है। ममता बनर्जी हरीश मुखर्जी स्ट्रीट पर ही रहती हैं।

होर्डिंग में जो कैप्शन है उसका मतलब ‘महिषासुरमर्दिनी’ है, अर्थात ‘राक्षस महिषासुर’ का वध करने वाली। महिषासुर का वध किया करने के कारण ही माँ दुर्गा को महिषासुरमर्दिनी कहा जाता है। इस पोस्टर के माध्यम से ममता बनर्जी के समर्थक कहना चाह रहे हैं कि जैसे देवी दुर्गा ने महिषासुर का वध किया था, वैसे ही उनकी पार्टी की सुप्रीमो ममता बनर्जी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह की ‘हत्या’ करेंगे।

रविवार (3 अक्टूबर) को हुई मतगणना के बाद पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी द्वारा भाजपा की अपनी निकटतम प्रतिद्वंद्वी प्रियंका टिबरेवाल को 58,832 मतों के अंतर से हराने के बाद संभवत: यह पोस्टर सामने आया है। टीएमसी के लोकसभा सांसद और राष्ट्रीय प्रवक्ता महुआ मोइत्रा ने सबसे पहले होर्डिंग की तस्वीर शेयर की।

हालाँकि, तृणमूल कॉन्ग्रेस ने कहा कि पोस्टर ‘अति उत्साही’ समर्थकों द्वारा लगाया गया था न कि पार्टी द्वारा। हालाँकि, पोस्टर को ध्यान से देखने पर पता चलता है कि होर्डिंग के नीचे दाएँ कोने में ‘वार्ड नं 83 तृणमूल महिला कॉन्ग्रेस’ लिखा हुआ है। इससे स्पष्ट होता है कि यह होर्डिंग टीएमसी की महिला विंग द्वारा लगाई गई थी।

कोलकाता में ममता बनर्जी के आवास के पास लगा होर्डिंग

टीएमसी की इस करतूत पर भाजपा ने उसकी आलोचना करते हुए कहा कि यह होर्डिंग तृणमूल कॉन्ग्रेस के दुस्साहस और उसकी संस्कृति को दर्शाता है।

यह पहली बार नहीं है, जब तृणमूल कॉन्ग्रेस के कार्यकर्ताओं ने अपनी सुप्रीमो और पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी को देवी दुर्गा के रूप में चित्रित करने की कोशिश की है। 2 सितंबर को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की मूर्ति बनाई गई थी, जिसकी देवी दुर्गा की तरह दस भुजाएँ थीं। इस मूर्ति को देवी दुर्गा की मूर्ति के साथ कोलकाता के एक दुर्गा पूजा पंडाल में रखने की बात कही गई थी।

ममता बनर्जी से मिलती-जुलती मूर्ति बनाई जा रही है, जिसकी माँ दुर्गा के समान दस भुजाएँ हैं।

तब टीएमसी पर कटाक्ष करते हुए भाजपा नेता अमित मालवीय ने ट्वीट किया था, “बंगाल चुनाव के बाद जिस तरह से भीषण हिंसा हुई है, उससे ममता बनर्जी के हाथ निर्दोष बंगालियों के खून से रंगे हैं। यह देवी दुर्गा का अपमान है। ममता बनर्जी को इसे रोकना चाहिए। वह बंगाल के हिंदुओं की संवेदनाओं को ठेस पहुँचा रही है।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नाक से दिया जाने वाला दुनिया का पहला कोरोना वैक्सीन भारत ने किया लॉन्च: बाजार में 800 रुपए है कीमत, सरकार को आधी से...

भारत ने विश्व का कोरोना के लिए पहला स्वदेशी नेजल वैक्सीन विकसित किया है। इसे केंद्रीय मंत्री मंडाविया और जितेंद्र सिंह ने लॉन्च किया।

NRIs और महानगरों का हीरो, जिसे हम पर थोप दिया गया: SRK नहीं मिथुन-देओल-गोविंदा ही रहे गाँवों के फेवरिट, मुट्ठी भर लोगों के इलीट...

शाहरुख़ खान सिनेमा के मल्टीप्लेक्स युग की देन है, जिसे महानगरों में लोकप्रियता मिली और फिर एक इलीट समूह ने उसे 'किंग' कह दिया। SRK को आज भी गाँवों के लोग पसंद नहीं करते।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
242,635FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe