Friday, July 30, 2021
Homeराजनीतिममता बनर्जी की जीत के नशे में TMC कार्यकर्ताओं ने BJP वर्कर की लूट...

ममता बनर्जी की जीत के नशे में TMC कार्यकर्ताओं ने BJP वर्कर की लूट ली दुकान: वीडियो वायरल

एक और वीडियो सामने आया है जहाँ एक मुस्लिम महिला को यह कहते हुए सुना जा सकता है कि दुकान उसके भाई की थी और वह भाजपा कार्यकर्ता था। उसी वीडियो में देखी गई एक अन्य मुस्लिम महिला रो रही थी क्योंकि दुकान लूट ली गई थी।

इंटरनेट पर एक वीडियो वायरल हो रहा है। वायरल हो रहे इस वीडियो में लोगों को एक दुकान को लूटते हुए देखा जा सकता है। सोशल मीडिया पर दावा किया जा रहा है कि यह वीडियो पश्चिम बंगाल में टीएमसी की जीत के शुरुआती रूझानों के बाद शूट किया गया है। बताया जा रहा है कि दुकान को इसलिए लूट लिया गया, क्योंकि यह भाजपा कार्यकर्ता का था।

जिस दुकान में लूटपाट की गई, वह हावड़ा के शिबपुर में स्थित है।

अब एक और वीडियो सामने आया है जहाँ एक मुस्लिम महिला को यह कहते हुए सुना जा सकता है कि दुकान उसके भाई की थी और वह भाजपा कार्यकर्ता था। उसी वीडियो में देखी गई एक अन्य मुस्लिम महिला रो रही थी क्योंकि दुकान लूट ली गई थी।

भाजपा पर टीएमसी की जीत के बाद पश्चिम बंगाल में हिंसा का प्रकोप जारी है। अभिजीत सरकार को कथित तौर पर टीएमसी की भीड़ द्वारा मौत के घाट उतार दिया गया था। चुनाव जीतने के कुछ ही घंटों के भीतर, टीएमसी ने हेस्टिंग्स में बीजेपी के पार्टी कार्यालय का घेराव किया, आरामबाग में पार्टी कार्यालय को जला दिया और बीजेपी नेता शुभेंदु अधिकारी पर हमला किया जिन्होंने ममता बनर्जी को हराया।

बता दें कि हत्या से कुछ देर पहले अभिजीत सरकार ने फेसबुक लाइव के माध्यम से अपनी बात रखी थी। उन्हें पता भी नहीं था कि फेसबुक पर लाइव कैसे आते हैं, लेकिन उन्होंने किसी तरह वीडियो बनाया और बताया कि TMC के गुंडे लगातार बमबारी कर रहे थे और उन्होंने उनके घर और दफ्तर को तहस-नहस कर डाला। उन्होंने कहा कि उनकी एक ही गलती है कि वे भाजपा कार्यकर्ता हैं। एक अन्य वीडियो में उन्होंने बताया कि उनके घर और NGO दफ्तर को तोड़ डाला गया है। कुत्ते के 5 बच्चे को मार डाला गया।

अभिजीत ने कहा था कि उन्हें किसी भी पार्टी के जीतने से कोई दिक्कत नहीं है, लेकिन बेरहम तरीके से उनके घर को ध्वस्त किया जा रहा है। इन दोनों वीडियो के अपलोड करने के बाद पीट-पीट कर उनकी हत्या कर दी गई। कई भाजपा कार्यकर्ताओं ने विभिन्न माध्यमों से डर जताया है कि ममता के तीसरी बार सत्ता में लौटने से उनका जीना दूभर हो सकता है और उनकी जान को TMC वालों से खतरा हो सकता है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

तालिबान की मददगार पाकिस्तानी फौज, ढेर कर अफगान सेना ने दुनिया को दिखाए सबूत: भारत के बनाए बाँध को भी बचाया

अफगानिस्तान की सेना ने तालिबान को कई मोर्चों पर पीछे धकेल दिया है। उनकी मदद करने वाले पाकिस्तानी फौज से जुड़े कई लड़ाकों को भी मार गिराया है।

स्वतंत्र है भारतीय मीडिया, सूत्रों से बनी खबरें मानहानि नहीं: शिल्पा शेट्टी की याचिका पर बॉम्बे हाईकोर्ट

कोर्ट ने कहा कि उनका निर्देश मीडिया रिपोर्ट्स को ढकोसला नहीं बताता। भारतीय मीडिया स्वतंत्र है और सूत्रों पर बनी खबरें मानहानि नहीं है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,014FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe