Sunday, July 14, 2024
Homeराजनीतितृणमूल के गुंडों ने BJP विधायक सब्यसाची दत्ता की सरेआम पिटाई की, तमाशबीन बन...

तृणमूल के गुंडों ने BJP विधायक सब्यसाची दत्ता की सरेआम पिटाई की, तमाशबीन बन देखती रही बंगाल पुलिस

सब्यसाची राजारहाट न्यू टाउन विधानसभा क्षेत्र से विधायक हैं। वो 2015-19 तक विधाननगर के पहले मेयर रहे हैं और इलाक़े में एक जाना-पहचाना नाम हैं। भाजपा में शामिल होने से पहले वो तृणमूल कॉन्ग्रेस में ही थे।

पश्चिम बंगाल में एक बार फिर से तृणमूल कॉन्ग्रेस के कार्यकर्ताओं द्वारा भाजपा नेताओं के साथ बदसलूकी करने का मामला सामने आ रहा है। सोमवार (जून 8, 2020) को पश्चिम बंगाल भाजपा के नेता सब्यसाची दत्ता के साथ बदसलूकी की गई।

उनके साथ टीएमसी के गुंडों ने धक्का-मुक्की की। सब्यसाची दत्ता वहाँ भाजपा के कुछ चोटिल कार्यकर्ताओं को देखने पहुँचे थे। वीडियो से पता चलता है कि ममता बनर्जी की पार्टी के लोगों ने उनकी पिटाई भी की

सब्यसाची राजारहाट न्यू टाउन विधानसभा क्षेत्र से विधायक हैं। वो 2015-19 तक विधाननगर के पहले मेयर रहे हैं और इलाक़े में एक जाना-पहचाना नाम हैं। भाजपा में शामिल होने से पहले वो तृणमूल कॉन्ग्रेस में ही थे

राज्यसभा सांसद स्वप्न दासगुप्ता ने सब्यसाची दत्ता की पिटाई की निंदा करते हुए कहा कि ममता बनर्जी के ‘जंगल राज’ में लोकतंत्र की स्थिति ये है कि टीएमसी के गुंडों ने पुलिस के सामने ये सब किया लेकिन पुलिस शांत रही। भाजपा के अन्य कार्यकर्ताओं को भी दौड़ाया गया।

सब्यसाची ने तृणमूल नेताओं निताई दत्ता और कृष्णपाद दत्ता पर मारपीट का आरोप लगाया है। उन्होंने जानकारी दी कि इस घटना को लेकर पुलिस के समक्ष शिकायत दर्ज करा दी गई है।

निताई को पश्चिम बंगाल के मंत्री सुहित बोस का करीबी बताया जाता है। बोस ममता बनर्जी सरकार में फायर एंड इमरजेंसी सर्विसेज विभाग में मंत्री हैं। अभी तक टीएमसी की तरफ से इस मामले में कोई स्पष्टीकरण नहीं आया है।

पश्चिम बंगाल के भाजपा कार्यकर्ताओं ने वीडियो शेयर किया है, जिसमें सब्यसाची दत्ता को तृणमूल के गुंडे खदेड़ते और पिटाई करते दिख रहे हैं। साथ ही लोगों ने पूछा कि जब एक विधायक और पूर्व मेयर के साथ इस तरह का व्यवहार किया जा रहा है तो बंगाल में आम भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ क्या होता होगा, ये सोचने वाली बात है। पश्चिम बंगाल में भाजपा कार्यकर्ताओं और संघ के स्वयंसेवकों की हत्या होती रही है। टीएमसी के गुंडों पर अक्सर आरोप लगते हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मांस-मछली से मुक्त हुआ गुजरात का पालिताना, इस्लाम और ईसाइयत से भी पुराना है इस शहर का इतिहास: जैन मंदिर शहर के नाम से...

शत्रुंजय पहाड़ियों की यह पवित्रता और शीर्ष पर स्थित धार्मिक मंदिर, साथ ही जैन धर्म का मूल सिद्धांत अहिंसा है जो पालिताना में मांस की बिक्री और खपत पर प्रतिबंध लगाने की मांग का आधार बनता है।

US में पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को लगी गोली, हमलावर सहित 2 की मौत: PM मोदी ने जताया दुख, कहा- ‘राजनीति में हिंसा की...

गोलीबारी के दौरान सुरक्षाबलों ने हमलावर को मार गिराया। इस हमले में डोनाल्ड ट्रंप घायल हो गए और उनके कान से निकला खून उनके चेहरे पर दिखा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -