Sunday, July 21, 2024
HomeराजनीतिTMC गुंडों के सामने तनकर खड़ी रहने वाली प्रिया साहा को बीजेपी का टिकट:...

TMC गुंडों के सामने तनकर खड़ी रहने वाली प्रिया साहा को बीजेपी का टिकट: जानें ‘स्ट्रीट फाइटर’ की खूबियाँ, इसलिए बनीं पार्टी की पसंद

बीजेपी ने लोकसभा चुनाव 2024 के उम्मीदवारों की पहली सूची जारी कर दी है। इस सूची में 28 महिलाओं को टिकट दिया गया है। इन्हीं उम्मीदवारों में से एक प्रिया साहा भी हैं, जिन्हें बोलपुर से मैदान में उतारा गया है।

बीजेपी ने लोकसभा चुनाव 2024 के लिए 195 उम्मीदवारों की पहली सूची जारी कर दी है। इस सूची में 28 महिलाओं को टिकट दिया गया है। इन्हीं उम्मीदवारों में से एक प्रिया साहा भी हैं, जिन्हें बोलपुर से मैदान में उतारा गया है। बोलपुर एससी सीट है। उन्हें पहली बार लोकसभा चुनाव के लिए मैदान में उतारा गया है। प्रिया साहा को टीएमसी के गुंडों के सामने जमकर खड़े रहने के लिए जाना जाता है। वो स्ट्रीट फाइटर रह चुकी हैं, उनकी ये खूबी उनकी पर्सनालिटी में भी झलकती है।

विधानसभा चुनाव भी लड़ चुकी हैं प्रिया

प्रिया साहा पश्चिम बंगाल में बीजेपी के युवा और निडर चेहरों में से एक है। महज 35 साल की उम्र में वो बीरभूम जिले की सैंथिया (एससी) विधानसभा सीट से साल 2021 में विधानसभा चुनाव लड़ चुकी हैं। वो नजदीकी मुकाबले में 2021 का चुनाव हार गई थी। उनके घर पर टीएमसी के गुंडों ने हमला भी किया था और परिजनों के साथ मारपीट भी की थी। उन्हें टीएमसी के लोग मैदान से हटने के लिए धमका रहे रहे थे। इसके बावजूद वो मैदान पर न सिर्फ डटी रही, बल्कि टीएमसी को कड़ी टक्कर भी दी थी।

पश्चिम बंगाल से 3 महिलाओं को टिकट

बीजेपी ने पश्चिम बंगाल से 3 महिला उम्मीदवारों को मैदान में उतारा है। मालदा दक्षिण सीट से श्रीरूपा मित्रा चौधुरी को बीजेपी ने मैदान में उतारा है। वो मौजूदा समय में मालदा की इंग्लिश बाजार विधानसभा सीट से विधायक हैं। वो लंबे समय से सामाजिक कार्यों से जुड़ी रही हैं। उन्हें मानवाधिकार कार्यकर्ता के रूप में भी जाना जाता है। वहीं, बीजेपी ने हुगली लोकसभा सीट से एक बार फिर से लॉकेट चटर्जी को मैदान में उतारा है। लॉकेट चटर्जी मौजूदा लोकसभा सांसद भी हैं। वो बीजेपी की पश्चिम बंगाल शाखा की महासचिव भी हैं। लॉकेट चटर्जी को ममता बनर्जी के कट्टर विरोधियों में से माना जाता है।

बीजेपी ने इन महिला उम्मीदवारों को मैदान में उतारा

लोकसभा चुनाव के लिए बीजेपी की पहली सूची में जिन 28 महिलाओं को टिकट दिया गया है, उसमें असम की गुवाहाटी सीट से बिजुली कलिता मेधि, छत्तीसगढ़ के जांजगीर-चंपा सीट से कमलेश जांगड़े, कोरबा से सुश्री सरोज पांडे, महासमुंद से रूप कुमारी चौधरी, दिल्ली की नई दिल्ली सीट से सुश्री बांसुरी स्वराज, पश्चिमी दिल्ली से कमलजीत सहरावत, गुजरात की बनासकांठा सीट से डॉक्टर रेखा बेन हितेश भाई चौधरी, जामनगर से पूनमबेन माडम, झारखंड की कोडरमा सीट से अन्नपूर्णा देवी, सिंहभूम से गीता कोड़ा, केरल की कासरगोड सीट से एम एल अश्विनी, पोन्नानी से निवेदिता सुब्रमण्यन का नाम है।

बीजेपी ने अलपुझा से शोभा सुरेंद्रन, मध्य प्रदेश की भिंड सीट से संध्या राय, सागर से लता वानखेड़े, शहडोल से हिमाद्री सिंह, रतलाम से अनीता नागर सिंह चौहान, राजस्थान की नागौर सीट से ज्योति मिर्धा, तेलंगाना की हैदराबाद सीट से डॉक्टर माधवी लता, उत्तराखंड की टेहरी गढ़वाल सीट से माला राज्य लक्ष्मी शाह, उत्तर प्रदेश की मथुरा सीट से हेमा मालिनी, धौरहरा से रेखा वर्मा, अमेठी से स्मृति ईरानी, फतेहपुर से साध्वी निरंजन ज्योति, लालगंज से नीलम सोनकर, पश्चिम बंगाल की मालदा दक्षिण सीट से श्रीरूपा मित्रा चौधुरी, हुगली से लॉकेट चैटर्जी, बोलपुर से प्रिया साहा को मिला टिकट

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

भारत के ओलंपिक खिलाड़ियों को मिला BCCI का साथ, जय शाह ने किया ₹8.50 करोड़ मदद का ऐलान: पेरिस में पदकों का रिकॉर्ड तोड़ने...

बीसीसीआई के सचिव जय शाह ने बताया कि ओलंपिक अभियान के लिए इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन (IOA) को बीसीसीआई 8.5 करोड़ रुपए दे रही है।

वामपंथी सरकार ने चलवाई गोली, मारे गए 13 कॉन्ग्रेस कार्यकर्ता: जानें क्यों ममता बनर्जी मना रहीं ‘शहीद दिवस’, TMC ने हाईजैक किया कॉन्ग्रेस का...

कभी शहीद दिवस कार्यक्रम कॉन्ग्रेस मनाती थी, लेकिन ममता बनर्जी ने कॉन्ग्रेस पार्टी से अलग होने के बाद युवा कॉन्ग्रेस के 13 कार्यकर्ताओं की हत्या को अपने नाम के साथ जोड़ लिया और उसका इस्तेमाल कम्युनिष्टों की जड़ काटने में किया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -