Saturday, September 25, 2021
Homeराजनीति'बिच्छू कहीं भी होगा तो डँसेगा': CM योगी ने सपा को घेरा, कहा- राम...

‘बिच्छू कहीं भी होगा तो डँसेगा’: CM योगी ने सपा को घेरा, कहा- राम भक्तों पर गोली चलवाना तालिबानी मानसिकता

सीएम योगी ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि पिछली सरकार माफिया और गुंडे चलाते थे, लेकिन हमारी सरकार में असामाजिक तत्वों में कानून का भय है।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार (सितंबर 12, 2021) को समाजवादी पार्टी पर निशाना साधा। उस पर ‘तालिबानी मानसिकता’ रखने का आरोप लगाया। उन्होंने नागरिकों से ऐसी मानसिकता को बर्दाश्त नहीं करने की अपील भी की। मुख्यमंत्री ने कहा, “राम भक्तों पर गोली चलाने वाली तालिबान समर्थक जातिवादी-वंशवादी मानसिकता को प्रदेश की जनता कतई बर्दाश्त न करे। याद रखिएगा! बिच्छू कहीं भी होगा तो डँसेगा।”

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री का संदर्भ 1990 की उस घटना से थी जब अयोध्या में निहत्थे कारसेवकों पर मुलायम सिंह यादव की सरकार ने गोलियाँ चलाई थी। यह त्रासदी स्वतंत्र भारत के इतिहास के सबसे काले दिनों में से एक है।

उत्तर प्रदेश के सीएम योगी रविवार को संत कबीर नगर में थे। यहाँ उन्होंने 126 करोड़ की लागत से नव-निर्मित जिला कारागार का लोकार्पण एवं 119 करोड़ रुपए की अन्य विकास परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया। इस दौरान बस्ती कारागार में बंद जिले के 5 बंदियों के बच्चों को पोषण किट भी दी गई। 

सीएम योगी ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि पिछली सरकार माफिया और गुंडे चलाते थे, लेकिन हमारी सरकार में असामाजिक तत्वों में कानून का भय है। शहर कोतवाली क्षेत्र के बनकटिया में स्थित जिला कारागार लोकार्पण अवसर पर CM योगी ने अफसरों को हिदायत देते हुए कहा कि जेल को जेल ही रहने ही दें। इसे अपराधियों के मौज-मस्ती की जगह न बनने दें।

उन्होंने कहा कि पूर्व की सरकारों में प्रदेश में अपराधी खुलेआम घूमते थे और जमीनों पर कब्जा करते थे। भाजपा की सरकार बनने के बाद सबसे पहले भूमाफियाओं पर लगाम लगाई। कई बड़े माफियाओं के घरों पर बुलडोजर चलवाया। जिसके बाद माफिया प्रदेश छोड़कर फरार हो गए। मुख्यमंत्री ने कहा कि माफिया के लिए हमारा संदेश बिलकुल स्पष्ट है। माफिया यदि गरीब, किसान, व्यापारी का जीना हराम करेगा तो हमारी सरकार उसका जीना हराम कर देगी। उन्होंने कहा कि साढ़े चाल साल में साढे चार लाख बेरोजगारों को नौकरी दी। जो लोग योग्य थे उन्हे नौकरी मिली, जबकि पूर्ववर्ती सरकारों में भाई-भतीजावाद चलता था और सिफारिश पर नौकरी मिलती थी।

संत कबीर नगर में जिला कारागार और अन्य परियोजनाओं का लोकार्पण करते सीएम योगी आदित्यनाथ (साभार: @CMOfficeUP)

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सूबे के सभी जिलों में मेडिकल कॉलेज की स्थापना होगी। कई जिलों में मेडिकल कॉलेज शुरू हो गए हैं। जिन जिलों में अभी इसकी शुरूआत नहीं हुई है वहाँ भी पीपीपी मॉडल से मेडिकल कॉलेज स्थापित किया जाएगा। इसके साथ ही गोरखपुर में एम्स बनकर तैयार हो गया है, जिसका लोकार्पण शीघ्र ही किया जाएगा। 

उन्होंने कहा कि पूर्व की सरकारें विकास को लेकर कभी गंभीर नहीं रहीं। भाई भतीजावाद, जाति-पाति और दबंगई चरम पर थी। लेकिन जब से यूपी में भाजपा की सरकार बनी तब से विकास की गति तेज हुई है। इसमें संत कबीर नगर जिला भी शामिल है। उन्होंने कहा कि खलीलाबाद को रेडीमेड का हब बनाने की अपार संभावना है। इसके लिए संसाधन उपलब्ध कराने और मार्केट की व्यवस्था करने के लिए सरकार ने प्रयास किए हैं। आने वाले दिनों में बखिरा का बर्तन उद्योग भी पूरी दुनिया में अपनी पहचान कायम करेगा। इसके लिए योजना शुरू की गई है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने वाले युवाओं को यात्रा भत्ता दिए जाने का निर्णय लिया गया है, जबकि स्नातक, परास्नातक, इंजीनियरिंग, फार्मेसी करने वाले छात्रों को टेबलेट उपलब्ध कराए जाएँगे। उन्होंने कहा कि पूर्वांचल के कई जिले बाढ़ की चपेट में हैं। बाढ़ पीड़ितों को राहत सामग्री उपलब्ध हो, इसके लिए जनप्रतिनिधियों को भी आगे आना होगा। 

उन्होंने कहा कि सरकार ने साढे चार लाख युवाओं को पारदर्शी तरीके से नौकरी प्रदान की है। 90 हजार सरकारी नौकरियाँ और आने वाली हैं। विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं के परिणाम नियमित रूप से जारी हो रहे हैं व नौजवानों को नौकरियों के नियुक्ति पत्र प्रदान किए जा रहे हैं। प्रदेश की 30,000 महिला पुलिस अधिकारी व महिला आरक्षी ‘मिशन शक्ति’ के साथ जुड़कर प्रत्येक बालिका, बहन-बेटियों को सुरक्षा की गारंटी दे रही है।

कुशीनगर को कई योजनाओं की सौगात

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ संत कबीर नगर जिले में लोगों को करोड़ों की सौगात देने का बाद कुशीनगर पहुँचे। यहाँ सीएम योगी ने 281.45 करोड़ की लागत से राजकीय मेडिकल कॉलेज और 310.44 करोड़ की अन्य 96 विकास परियोजनाओं का शिलान्यास किया। साथ ही मुख्यमंत्री ने 14.17 करोड़ की 11 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण भी किया। इनमें पेयजल से सम्बन्धित जल निगम की 18 परियोजनाएँ तथा जिला पंचायत के विश्राम स्थल निर्माण कार्य की परियोजना शामिल हैं।

कन्या सुमंगला योजना से भविष्य सँवारने की कवायद

आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों की लड़कियों की शिक्षा और उनके अच्छे भविष्य के लिए उत्तर प्रदेश में एक बहुत ही अच्छी योजना चल रही है। इस योजना में बेटी पढ़ाई में मदद दी जाती है। पढ़ाई के हर स्तर पर यूपी सरकार मदद करती है। इस योजना का नाम है कन्‍या सुमंगला योजना। योगी सरकार की इस योजना में बेटियों की शिक्षा और स्वास्थ्य, दोनों का ही ख्याल रखा जाता है। जानकारी के मुताबिक इस योजना के तहत 9.91 लाख लोगों को लाभान्वित किया जा चुका है।

वहीं पति की मृत्यु के बाद निराश्रित महिला पेंशन योजना के अंतर्गत साल 2017 से 2021 कुल 12.36 लाख नए लाभार्थी जुड़े हैं। साल 2021-22 में 1.73 लाख पात्र नवीन लाभार्थी जोड़े गए हैं। अब तक 29.68 लाख महिलाओं को लाभान्वित किया जा चुका है।

85 प्रतिशत गन्ने का बकाया चुकाया गया

उत्तर प्रदेश सरकार ने राज्य के गन्ना किसानों का लगभग 85 फीसदी बकाया चुका दिया है। यह पिछले 50 वर्षों में एक सीजन में सबसे अधिक और सबसे तेज भुगतान है। गन्ना विकास विभाग की ओर से जारी विज्ञप्ति में कहा गया है कि पिछले चार वर्षों में गन्ना किसानों को दी गई कुल राशि लगभग 1,42,650 करोड़ रुपए है। जानकारी के मुताबिक 2020-2021 के फसल सीजन में 120 चीनी मिलें फंक्शन में थी। उन्होंने 33,025 करोड़ रुपए के 1,028 लाख टन गन्ने की खरीद की है। 27,465 करोड़ रुपए का बकाया चुकाया गया है। साथ ही 53 मिलों ने भी 100 प्रतिशत बकाया चुकाया है। मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने बाकी भुगतान भी जल्‍दी कराए जाने का निर्देश दिया है। बता दें कि गन्ना पेराई सीजन इस बार अक्टूबर 2020 में शुरू हुआ और जुलाई 2021 तक चला।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कहीं स्तनपान करते शिशु को छीन कर 2 टुकड़े किए, कहीं बार-बार रेप के बाद मरी माँ की लाश पर खेल रहा था बच्चा’:...

एक शिशु अपनी माता का स्तनपान कर रहा था। मोपला मुस्लिमों ने उस बच्चे को उसकी माता की छाती से छीन कर उसके दो टुकड़े कर दिए।

‘तुम चोटी-तिलक-जनेऊ रखते हो, मंदिर जाते हो, शरीयत में ये नहीं चलेगा’: कुएँ में उतर मोपला ने किया अधमरे हिन्दुओं का नरसंहार

केरल में जिन हिन्दुओं का नरसंहार हुआ, उनमें अधिकतर पिछड़े वर्ग के लोग थे। ये जमींदारों के खिलाफ था, तो कितने मुस्लिम जमींदारों की हत्या हुई?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
124,198FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe