Tuesday, June 6, 2023
Homeराजनीति'10 सालों में जितना रोजगार नहीं... योगी सरकार ने पाँच साल में दिया': स्वामी...

’10 सालों में जितना रोजगार नहीं… योगी सरकार ने पाँच साल में दिया’: स्वामी प्रसाद मौर्य ने बता दिया सच, बीजेपी बोली- फिर सपा में क्यों गए?

हाल ही में बीजेपी में शामिल हुए आरपीएन सिंह को लेकर डिबेट हो रही थी और स्वामी प्रसाद मौर्य आरपीएन सिंह पर निशाना साध रहे थे। मौर्य ये साबित करने की कोशिश कर रहे थे कि आरपीएन सिंह का सियासी कद उनके सामने छोटा है। इस पर एंकर ने सवाल किया कि योगी सरकार में पाँच साल तक श्रम मंत्री रहते हुए आपने कितने लोगों को रोजगार दिया था?

उत्तर प्रदेश चुनाव (Uttar Pradesh Assembly Polls) से पहले दल-बदल करते हुए भाजपा छोड़कर समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) में शामिल हुए स्वामी प्रसाद मौर्य (Swami Prasad Maurya) बुरे फँस गए हैं। उन्होंने स्वीकार कर लिया है कि जितना रोजगार (Jobs) पिछली सरकारों ने बीते 10 साल में नहीं दिया, उतना रोजगार योगी आदित्यनाथ (Yogi Aadityanath) की सरकार ने केवल पाँच साल में दिया है। उन्होंने बताया कि योगी सरकार के पाँच साल के कार्यकाल में श्रम मंत्री के रूप में निजी क्षेत्र में उन्होंने पाँच लाख लोगों को रोजगार दिया है।

सपा की साइकिल की सवारी कर रहे मौर्य टीवी चैनल आज तक के कार्यक्रम हल्ला बोल में बतौर अतिथि आए थे। सामने थीं एंकर अंजना ओम कश्यप। हाल ही में बीजेपी में शामिल हुए आरपीएन सिंह को लेकर डिबेट हो रही थी और स्वामी प्रसाद मौर्य आरपीएन सिंह (RPN Singh) पर निशाना साध रहे थे। मौर्य ये साबित करने की कोशिश कर रहे थे कि आरपीएन सिंह का सियासी कद उनके सामने छोटा है। इस पर एंकर ने सवाल किया कि योगी सरकार में पाँच साल तक श्रम मंत्री रहते हुए आपने कितने लोगों को रोजगार दिया था?

यही वो सवाल था, जिस पर स्वामी प्रसाद मौर्य फँस गए। उन्होंने एंकर के सवाल के जवाब में योगी सरकार के कार्यकाल की तारीफ कर दी। मौर्य ने कहा, “श्रमिकों के कल्याण के लिए 2009 में बोर्ड का गठन हुआ। 2009 से लेकर 2017 तक कुल मिलाकर सात लाख श्रमिक लाभार्थी थे। हमारे कार्यकाल में एक करोड़ लाभार्थी हुए। पूर्व की सरकारों के कार्यकाल में मात्र 34 लाख मजदूरों का रजिस्ट्रेशन हुआ था, लेकिन आज 1.30 करोड़ से अधिक श्रमिकों का रजिस्ट्रेशन हुआ है।”

स्वामी प्रसाद मौर्य ने चैनल पर यह भी दावा किया कि जितना रोजगार पिछली सरकारों के 10 सालों में नहीं दिया गया, उन्होंने श्रम मंत्री रहते हुए निजी क्षेत्रों में पाँच लाख से अधिक रोजगार दिए। स्वामी प्रसाद मौर्य के इस बयान के बाद बीजेपी ने उन पर कटाक्ष किया है। बीजेपी ने कहा कि अगर योगी सरकार ने इतना अच्छा काम किया है तो वो फिर बीजेपी छोड़कर सपा में क्यों चले गए?

गौरतलब है कि योगी सरकार में श्रम एवं रोजगार मंत्री रहे स्वामी प्रसाद मौर्य ने बीजेपी छोड़कर हाल ही में समाजवादी पार्टी थाम लिया था। उस दौरान कोविड प्रोटोकॉल का उल्लंघन करते हुए लखनऊ में हजारों की संख्या में भीड़ भी जुटाई गई थी। इसके बाद सपा के खिलाफ महामारी एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

इलाज से लेकर व्हीलचेयर और कृत्रिम अंग तक… पूरे 10 तरीकों से ट्रेन दुर्घटना के पीड़ितों की मदद करेगा ‘रिलायंस फाउंडेशन’; राशन, रोजगार और...

रिलायंस स्टोर्स के माध्यम से प्रभावित परिवारों को अगले 6 महीनों के लिए आटा, चीनी, दाल, चावल, नमक और खाना पकाने के तेल सहित मुफ्त राशन देने का भी ऐलान किया गया है। अडानी समूह उठा चुका है अनाथों की स्कूली शिक्षा की जिम्मेदारी।

कॉन्ग्रेस कार्यकर्ताओं ने युवक को पीटा, घुटने के बल बिठा कर मँगवाई माफ़ी: वायरल हो रहा है वीडियो, CM सिद्धारमैया को कहा था ‘सिद्धरामुल्ला...

कर्नाटक में कॉन्ग्रेसियों की गुंडागर्दी सामने आई। कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया को 'सिद्धरमुल्ला' कहने वाले को पीटा, घुटने के बल बिठा कर मँगवाई माफ़ी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
260,011FollowersFollow
415,000SubscribersSubscribe