Tuesday, September 28, 2021
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षाअयोध्या में राम जन्मभूमि को दहलाने की बड़ी साजिश नाकाम, 4 खूंखार आतंकी गिरफ्तार:...

अयोध्या में राम जन्मभूमि को दहलाने की बड़ी साजिश नाकाम, 4 खूंखार आतंकी गिरफ्तार: जम्मू में JeM मॉड्यूल का भंडाफोड़

गिरफ्तार हुए आतंकी इजहार खान ने खुलासा किया है कि पाकिस्तान में बैठे कमांडर मुनाजिर उर्फ शाहिद ने उसे अमृतसर के पास ड्रोन से गिराए गए हथियार को इकट्ठा कर आतंकियों को सौंपने के लिए कहा था।

जम्मू-कश्मीर में स्वतंत्रता दिवस से एक दिन पहले पुलिस ने बड़े आतंकी हमले का प्लान ध्वस्त कर जैश-ए-मोहम्मद (JeM) के 4 आतंकियों को गिरफ्तार कर लिया है। शनिवार (14 अगस्त) को अधिकारियों ने इसकी जानकारी दी। पुलिस ने कहा कि जम्मू में आतंकवादियों की मौजूदगी को जड़ से खत्म करने की कार्रवाई के तहत जम्मू पुलिस ने जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादियों और उनके सहयोगियों को गिरफ्तार किया है।

पुलिस ने कहा, “वे ड्रोन से गिराए गए हथियारों को इकट्ठा कर उन्हें कश्मीर घाटी में जैश के सक्रिय आतंकवादियों तक पहुँचने की योजना बना रहे थे। इसके अलावा, आतंकवादियों का 15 अगस्त को जम्मू में वाहन IED धमाका करने का प्लान था। वे देश के अन्य हिस्सों में महत्वपूर्ण जगहों की रेकी करने में भी लगे थे।”

एडीजीपी, जम्मू ने बताया कि आतंकियों की गिरफ्तारी एक बड़ी सफलता है। इससे एक बड़े आतंकी हमले को टाला गया है। उन्होंने बताया कि पुलिस आतंकियों से पूछताछ करने में लगी हुई है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पुलिस ने सबसे पहले आतंकी मुंतजिर मंजूर उर्फ सैफुल्ला पुत्र मंजूर अहमद भट निवासी पुलवामा को गिरफ्तार किया। उससे पूछताछ के बाद जैश के तीन अन्य आतंकवादियों तौसीफ अहमद शाह, आतंकी इजहार खान उर्फ सोनू खान पुत्र इंतेजार खान निवासी मिरदान मोहल्ला कंडाला शामली (उत्तर प्रदेश) और जहाँगीर अहमद भट पुत्र मुश्ताक अहमद भट निवासी बांदजू पुलवामा को गिरफ्तार किया गया।

मंजूर अहमद भट आतंकवादी संगठन जैश का एक प्रमुख सदस्य है, जिसके पास से पुलिस को एक पिस्तौल, एक मैगजीन, 8 लाइव राउंड और दो चीनी हैंड ग्रेनेड बरामद हुए हैं। उसके पास से कश्मीर घाटी में हथियार सप्लाई के लिए इस्तेमाल होने वाले उसके ट्रक को भी जब्त कर लिया गया है।

श्रीराम जन्मभूमि की रेकी करने से पहले ही हुए गिरफ्तार

गौरतलब है कि गिरफ्तार हुए आतंकी इजहार खान ने खुलासा किया है कि पाकिस्तान में बैठे कमांडर मुनाजिर उर्फ शाहिद ने उसे अमृतसर के पास ड्रोन से गिराए गए हथियार को इकट्ठा कर आतंकियों को सौंपने के लिए कहा था। उसने बताया कि उसे पानीपत तेल रिफाइनरी की रेकी करने के लिए भी कहा गया था, जिसके वीडियो उसने पाकिस्तान को भेजे थे। फिर उसे अयोध्या श्रीराम जन्मभूमि की रेकी करने का काम सौंपा गया, लेकिन इस काम को पूरा करने से पहले ही उसे गिरफ्तार कर लिया गया।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

महंत नरेंद्र गिरि के मौत के दिन बंद थे कमरे के सामने लगे 15 CCTV कैमरे, सुबूत मिटाने की आशंका: रिपोर्ट्स

पूरा मठ सीसीटीवी की निगरानी में है। यहाँ 43 कैमरे लगाए गए हैं। इनमें से 15 सीसीटीवी कैमरे पहली मंजिल पर महंत नरेंद्र गिरि के कमरे के सामने लगाए गए हैं।

अवैध कब्जे हटाने के लिए नैतिक बल जुटाना सरकारों और उनके नेतृत्व के लिए चुनौती: CM योगी और हिमंता ने पेश की मिसाल

तुष्टिकरण का परिणाम यह है कि देश के बहुत बड़े हिस्से पर अवैध कब्जा हो गया है और उसे हटाना केवल सरकारों के लिए कानून व्यवस्था की चुनौती नहीं बल्कि राष्ट्रीय सभ्यता के लिए भी चुनौती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
124,823FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe