Sunday, May 19, 2024
Homeबड़ी ख़बरबंगाल: वोटिंग से पहले BJP कार्यकर्ता पर बम से हमला, तृणमूल के गुंडो पर...

बंगाल: वोटिंग से पहले BJP कार्यकर्ता पर बम से हमला, तृणमूल के गुंडो पर शक की सुई

चुनावों के चलते भाजपा के कार्यकर्ताओं पर होती हिंसा दिन पर दिन बढ़ती ही जा रही है। पश्चिम बंगाल में TMC का राजनीतिक दुश्मनी भरा व्यवहार आम हो गया है।

पश्चिम बंगाल में सोमावार (अप्रैल 22, 2019) को इटाहर विधानसभा क्षेत्र के चाकला में मतदान से कुछ घंटों पहले बम से हमले की घटना सामने आई है। इस हमले में 2 लोगों के गंभीर रूप से घायल होने की खबर है।

प्रभात खबर में छपी रिपोर्ट के मुताबिक घायलों को रायगंज जिला अस्पताल में इलाज के लिए भेजा गया है। सुबह 7 बजे क्षेत्र में मतदान शुरू होने से पूर्व इस घटना के कारण स्थानीय लोगों में डर का माहौल बन गया है।

बम हमले की खबर सुनते ही घटनास्थल पर बड़ी संख्या में ईटाहर थाना पुलिस के साथ केंद्रीय बल भी पहुँचे। अस्पताल में भर्ती हुए दो घायलों में से एक ने अपना नाम लालन चौधरी बताते हुए खुद को भाजपा का कार्यकर्ता बताया है।

लालन की मानें तो उन पर यह हमला बाजार से लौटने के दौरान हुआ। एक ओर जहाँ इस हमले का आरोप तृणमूल के बदमाशों पर लगाया जा रहा है। वहीं दूसरी ओर तृणमूल इस घटना में अपना हाथ होने से इनकार कर रही है।

गौरतलब है कि चुनावों के चलते भाजपा के कार्यकर्ताओं पर होती हिंसा दिन पर दिन बढ़ती ही जा रही है। पश्चिम बंगाल में तो TMC का राजनीतिक दुश्मनी भरा व्यवहार आम हो गया है। 11 अप्रैल को सम्पन्न हुए लोकसभा चुनाव के पहले चरण के दौरान भी पश्चिम बंगाल में हिंसा की कई घटनाएँ दर्ज की गईं थी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिसे वामपंथन रोमिला थापर ने ‘इस्लामी कला’ से जोड़ा, उस मंदिर को तोड़ इब्राहिम शर्की ने बनवाई थी मस्जिद: जानिए अटाला माता मंदिर लेने...

अटाला मस्जिद का निर्माण अटाला माता के मंदिर पर ही हुआ है। इसकी पुष्टि तमाम विद्वानों की पुस्तकें, मौजूदा सबूत भी करते हैं।

रोफिकुल इस्लाम जैसे दलाल कराते हैं भारत में घुसपैठ, फिर भारतीय रेल में सवार हो फैल जाते हैं बांग्लादेशी-रोहिंग्या: 16 महीने में अकेले त्रिपुरा...

त्रिपुरा के अगरतला रेलवे स्टेशन से फिर बांग्लादेशी घुसपैठिए पकड़े गए। ये ट्रेन में सवार होकर चेन्नई जाने की फिराक में थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -