Wednesday, July 24, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयब्रिटिश संसद में 312 सालों में पहली बार कपड़े उतार कर हुआ नग्न विरोध...

ब्रिटिश संसद में 312 सालों में पहली बार कपड़े उतार कर हुआ नग्न विरोध प्रदर्शन

जुलाई 1978 में माल्टा के पूर्व प्रधानमंत्री डोम मिन्टॉफ की बेटी याना ने स्कॉटिश होम रूल पर बहस के दौरान गैलरी से सांसदों पर घोड़े की लीद से भरे बैग फेंके थे। लेकिन अंतःवस्त्रों में प्रदर्शन का यह पहला वाक़या है।

312 साल पुरानी ब्रिटेन की संसद के इतिहास में सोमवार (अप्रैल 01, 2019) को पहली बार लगभग नग्न होकर प्रदर्शन किया गया। ये कार्यकर्ता ब्रेक्जिट करार की शर्तों में क्लाइमेट चेंज के मुद्दा शामिल नहीं करने पर नाराज थे और इस बात से नाराज पर्यावरण कार्यकर्ताओं ने अन्तःवस्त्रों में प्रदर्शन किया।

एक्सिंटशन रेबेलियन ग्रुप के 11 कार्यकर्ताओं ने संसद (हाउस ऑफ़ कॉमन्स) पब्लिक गैलरी में 20 मिनट तक अर्धनग्न होकर प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारी गैलरी में बनी काँच की दीवार से सटकर खड़े थे और इनकी पीठ सांसदों की तरफ थी। इनकी छाती पर ‘सबकी जिंदगी के लिए’ (For All Life) जैसे नारे लिखे थे। पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को सार्वजनिक स्थल की गरिमा भंग करने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया।

1978 में घोड़े की लीद फेंक कर हुआ था प्रदर्शन

जुलाई 1978 में माल्टा के पूर्व प्रधानमंत्री डोम मिन्टॉफ की बेटी याना ने स्कॉटिश होम रूल पर बहस के दौरान गैलरी से सांसदों पर घोड़े की लीद से भरे बैग फेंके थे। ये बैग फट गए थे और गंदगी बेंच व सांसदों पर फैल गई थी। इस तरह से एक बार साल 2004 में प्रदर्शनकारियों द्वारा बैंगनी आटा फेंका गया था। फादर्स फॉर जस्टिस के कार्यकर्ताओं ने तत्कालीन प्रधानमंत्री टोनी ब्लेयर पर पर्पल फ्लोर (बैंगनी आटा) फेंका था। प्रदर्शनकारी तलाकशुदा पिता की बच्चों से मुलाकात के कानून को लचीला बनाने की माँग कर रहे थे।

1707 में बनी थी ब्रिटेन की संसद

ध्यान रहे कि ब्रिटेन की संसद 1707 में बनी थी। दुनिया के कई लोकतंत्रों के लिए यह उदाहरण है, इसलिए इसे मदर ऑफ पार्लियामेंट भी कहा जाता है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एंजेल टैक्स’ खत्म होने का श्रेय लूट रहे P चिदंबरम, भूल गए कौन लेकर आया था: जानिए क्या है ये, कैसे 1.27 लाख StartUps...

P चिदंबरम ने इसके खत्म होने का श्रेय तो ले लिया, लेकिन वो इस दौरान ये बताना भूल गए कि आखिर ये 'एंजेल टैक्स' लेकर कौन आया था। चलिए 12 साल पीछे।

पत्रकार प्रदीप भंडारी बने BJP के राष्ट्रीय प्रवक्ता: ‘जन की बात’ के जरिए दिखा चुके हैं राजनीतिक समझ, रिपोर्टिंग से हिला दी थी उद्धव...

उन्होंने कर्नाटक स्थित 'मणिपाल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी' (MIT) से इलेक्ट्रॉनिक एवं कम्युनिकेशंस में इंजीनियरिंग कर रखा है। स्कूल में पढ़ाया भी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -