Tuesday, June 25, 2024
Homeदेश-समाजधनबाद के शाहनवाज ने पुलवामा के बलिदानियों का उड़ाया मज़ाक, गिरफ़्तार

धनबाद के शाहनवाज ने पुलवामा के बलिदानियों का उड़ाया मज़ाक, गिरफ़्तार

अभी यह मामला ठंडा भी नहीं हुआ है और एक अन्य युवक मज़हर हाश्मी ने भी कुछ ऐसी ही विवादित टिप्पणी की है, जिसको लेकर लोग गुस्से में हैं।

धनबाद स्थित आज़ाद नगर निवासी शाहनवाज़ ने पुलवामा आतंकी हमले में वीरगति को प्राप्त हुए जवानों का मज़ाक बनाया। उसकी इस हरकत के बाद धनबाद के भूली इलाक़े में जनाक्रोश भड़क उठा और लोगों ने थाना का घेराव किया।

स्थानीय विधायक राज सिन्हा

ताज़ा सूचना के अनुसार, पुलिस ने युवक शाहनवाज़ को मुंबई से गिरफ़्तार कर लिया है। इस से पहले फेसबुक पर शाहनवाज की आपत्तिजनक टिप्पणी की जानकारी मिलते ही लोग बेकाबू हो गए। जनता द्वारा पुलिस थाने का घेराव करने के बाद अतिरिक्त अधिकारियों को पुलिस बल के साथ बुलाया गया लेकिन स्थिति क़ाबू में नहीं हुई।

लोकल समाचारपत्र में शाहनवाज़ की ख़बर

घटना की सूचना मिलते ही विधायक राज सिन्हा समर्थकों के साथ मौके पर पहुँचे। विधायक ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की। लेकिन लोगों ने टायर जलाना शुरू कर दिया। पुलिस द्वारा कई बार चेतावनी देने के बावजूद भीड़ पर पुलिस को मजबूरन लाठियाँ भाँजनी पड़ी। विधायक ने भी पुलिस पर शाहनवाज़ को गिरफ़्तार करने का दबाव बनाया। चारो तरफ से दबाव बढ़ता देख पुलिस सक्रिय हुई और एक स्पेशल टीम को मुंबई भेज कर शाहनवाज को गिरफ़्तार किया। उस पर राजद्रोह का मुक़दमा दर्ज कर लिया गया है।

स्थानीय निवासी रवि कुमार मंडल की फेसबुक पोस्ट

आजाद नगर के निवासियों ने भी शाहनवाज के परिवार को मोहल्ले से निकालने के लिए बैठक किया। शाहनवाज 9 भाई व 1 बहन है। शहर के बुद्धिजीवियों एवं बुज़ुर्गों ने कहा कि शाहनवाज़ के कारण पूरे देश में तनाव पैदा हो गया है व इलाके का नाम भी बदनाम हो रहा है। विधायक सिन्हा ने कहा कि शाहनवाज़ की हरक़त समाज तोड़ने वाली है। मुंबई के पवई थाना क्षेत्र से गिरफ़्तार शाहनवाज़ को धनबाद लाने की प्रक्रिया पूरी की जा रही है। उसे धनबाद लाकर मेडिकल जाँच कराने के बाद जेल भेज दिया जाएगा।

स्थानीय अख़बार की कतरन

तनाव को देखते हुए भूली व आज़ाद नगर को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया है। आधा दर्ज़न से भी अधिक थानेदारों व 200 से भी अधिक की संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है। हर आने-जाने वाले पर नज़र रखी जा रही है। पुलिस घर-घर जा कर लोगों को समझाने-बुझाने में भी लगी है। अभी यह मामला ठंडा भी नहीं हुआ है और एक अन्य युवक मज़हर हाश्मी ने भी कुछ ऐसी ही विवादित टिप्पणी की है, जिसको लेकर लोग गुस्से में हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शिखर बन जाने पर नहीं आएँगी पानी की बूँदे, मंदिर में कोई डिजाइन समस्या नहीं: राम मंदिर निर्माण समिति के चेयरमैन नृपेन्द्र मिश्रा ने...

श्रीराम मंदिर निर्माण समिति के मुखिया नृपेन्द्र मिश्रा ने बताया है कि पानी रिसने की समस्या शिखर बनने के बाद खत्म हो जाएगी।

दर-दर भटकता रहा एक बाप पर बेटे की लाश तक न मिली, यातना दे-दे कर इंजीनियरिंग छात्र की हत्या: आपातकाल की वो कहानी, जिसमें...

आज कॉन्ग्रेस पार्टी संविधान दिखा रही है। जब राजन के पिता CM, गृह मंत्री, गृह सचिव, पुलिस अधिकारी और सांसदों से गुहार लगा रहे थे तब ये कॉन्ग्रेस पार्टी सोई हुई थी। कहानी उस छात्र की, जिसकी आज तक लाश भी नहीं मिली।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -