Monday, June 17, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयलंदन में भारतीय युवती की हत्या: फ़्लैट में साथ रहने वाले ब्राजील के युवक...

लंदन में भारतीय युवती की हत्या: फ़्लैट में साथ रहने वाले ब्राजील के युवक पर ही आरोप, साथ में एक अन्य महिला को भी घोंपा चाकू

पहले पुलिस ने दो लोगों को इस मामले में हिरासत में लिया। इसके बाद एक और व्यक्ति की तस्वीर जारी करते हुए कहा गया कि वो इस मामले में वॉन्टेड है।

हैदराबाद की युवती तेजस्विनी रेड्डी की लंदन में हत्या कर दी गई है। 27 वर्षीय युवती की हत्या UK की राजधानी स्थित वेम्ब्ले के नील्ड क्रिसेंट में की गई। पीड़िता और हत्यारा, दोनों एक ही फ़्लैट में रहते थे। मृतका की पहचान कोट्ठाम तेजस्विनी रेड्डी के रूप में हुई है। तेजस्विनी के अलावा एक और महिला को चाकुओं से गोदा गया, जिसकी उम्र 28 साल बताई जा रही है। उक्त महिला को एक अस्पताल में शिफ्ट किया गया।

फ़िलहाल उसे खतरे से बाहर बताया जा रहा है। लंदन मेट्रोपोलिटन पुलिस ने बताया है कि ये घटना मंगलवार (13 जून, 2023) की है। सुबह 10 बजने से ठीक एक मिनट पहले लंदन एम्बुलेंस सर्विस को फोन कॉल गया कि दो महिलाएँ चाकू घोंपे जाने के बाद जमीन पर पड़ी हुई हैं और काफी सारा खून बह रहा है। पुलिस के पहुँचने से पहले ही तेजस्विनी मर चुकी थीं। वहीं दूसरी महिला को नॉर्थ लंदन हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया।

पहले पुलिस ने दो लोगों को इस मामले में हिरासत में लिया। इसके बाद एक और व्यक्ति की तस्वीर जारी करते हुए कहा गया कि वो इस मामले में वॉन्टेड है। आखिरकार उसे भी गिरफ्तार कर लिया गया। इससे पहले जिन दो लोगों को गिरफ्तार किया गया था, उनमें एक महिला भी थीं। दोनों को पूछताछ के लिए पुलिस थाने लाया गया। हत्या का आरोप ब्राजील मूल के व्यक्ति पर लगा है। तेजस्विनी उस फ्लैट में रहती थीं, क्योंकि वो उनके दफ्तर से नजदीक था।

तेजस्विनी उच्च-शिक्षा के लिए लंदन गई थीं। ब्राजील का उक्त व्यक्ति भी उसी फ्लैट में रहता था। फ़्लैट का किचन कॉमन था। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के आ जाने के बाद पुलिस हत्यारे की आधिकारिक पुष्टि करेगी और उसकी पहचान बताएगी। 23 वर्षीय आरोपित को घटनास्थल से कुछ ही दूर हैरो से गिरफ्तार किया गया। जिस महिला को थाने ले जाया गया था, उससे छोड़ दिया गया है। जासूसों की टीम को भी इस घटना में लगाया गया है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

ऋषिकेश AIIMS में भर्ती अपनी माँ से मिलने पहुँचे CM योगी आदित्यनाथ, रुद्रप्रयाग हादसे के पीड़ितों को भी नहीं भूले

उत्तराखंड के ऋषिकेश से करीब 50 किलोमीटर की दूरी पर स्थित यमकेश्वर प्रखंड का पंचूर गाँव में ही योगी आदित्यनाथ का जन्म हुआ था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -