Tuesday, September 28, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय3 साल की बेटी खेलने की जिद कर रही थी, माँ-बॉयफ्रेंड कर रहे थे...

3 साल की बेटी खेलने की जिद कर रही थी, माँ-बॉयफ्रेंड कर रहे थे सेक्स… इतना मारा कि मर गई

कोर्ट ने इस मामले में आरोपित महिला को 15 साल की सजा सुनाई है। वहीं उसके प्रेमी को 14 साल की सजा मुकर्रर हुई है। इन दोनों ने बेटी को इतना मारा था कि उसके पेट और छाती में चोटें आई थीं।

3 साल की बेटी को टिकटॉक वीडियोज में एक प्रॉप की तरह इस्तेमाल करने वाली माँ ने एक बेहद तुच्छ कारण के चलते उसकी हत्या कर दी। आपको जानकर हैरानी होगी कि तमाम वीडियोज में अपनी बेटी के साथ नजर आने वाली निकोला प्रीस्ट नामक महिला ने सेक्स के दौरान खलल पड़ने पर अपने BF के साथ मिलकर मासूम की पिटाई की, जिसके बाद उसकी तबीयत बिगड़ी और आखिर में उसने दम तोड़ दिया।

पूरा मामला पिछले साल 9 अगस्त 2020 को खुला। इंगलैंड के बर्मिंघम में अपनी माँ के साथ रहने वाली कायली-जायदे प्रीस्ट को उसकी माँ निकोला प्रीस्ट (23) और उसके प्रेमी कैलम रेडफर्न (22) ने मारा था। हत्या कितनी बेरहमी से हुई थी इसका अंदाजा इस बात से लगा सकते हैं कि बच्ची की छाती और पेट पर गंभीर चोट के निशान पाए गए थे।

दोनों को मासूम से यह दिक्कत थी कि उनके सेक्स करने के दौरान वह उन्हें तंग कर रही थी। अब कोर्ट ने इस मामले में आरोप तय करते हुए महिला को 15 साल की सजा सुनाई है। वहीं उसके प्रेमी को 14 साल की सजा मुकर्रर हुई है। इस बीच महिला की कुछ टिकटॉक वीडियोज सामने आई हैं। इसमें देख सकते हैं कि कैसे लड़की के साथ प्रीस्ट कभी डांस करती है तो कभी अलग तरीके से उसका इस्तेमाल करती है। कायली-जायदे की मौत के एक माह बाद भी एक वीडियो पोस्ट की गई। इस वीडियो में प्रीस्ट ने बैकग्राउंड में एक गाना चलाया और अपने किए पर शर्मिंदा दिखाई दी।

पिछले हफ्ते इस मामले की सुनवाई में कोर्ट में बताया गया कि कैसे निकोला प्रीस्ट और उसके BF ने मासूम को मारा। दरअसल, घटना वाले दिन करीब 7 बजे कायली-जायदे को सोने को कहा गया और वे दोनों अपने कमरे में चले गए। लेकिन कई बच्चों की तरह कायली लौटी और खेलने की जिद करने लगी। इसी के बाद उसे इतना पीटा गया कि मरने से पहले बच्ची सिर्फ उल्टियाँ कर रही थी।

कोर्ट में जस्टिस फॉक्सटन क्यूसी ने फैसला सुनाते हुए कहा कि बच्ची को जो आखिरी बार उल्टियाँ हुईं उसका कारण भी वो मार थी जो उसे निकोला प्रीस्ट और कैलम ने दी। उन्होंने कहा कि इसमें कोई शक नहीं है कि जब कायली ने रोना शुरू किया तो इससे दोनों को सेक्स के दौरान दिक्कत हुई और गुस्से में उसे इतना मारा कि उसे जान गँवानी पड़ी। कोर्ट ने यह भी पाया कि अगर शुरू में जब कायली की हालत बिगड़ी तो दोनों में से कोई भी डॉक्टर के पास कॉल कर देता तो बच्ची की जान बच जाती। महिला की ऐसी हरकत देखने के बाद लोग उसे राक्षसी और लापरवाह माँ कह रहे हैं।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

महंत नरेंद्र गिरि के मौत के दिन बंद थे कमरे के सामने लगे 15 CCTV कैमरे, सुबूत मिटाने की आशंका: रिपोर्ट्स

पूरा मठ सीसीटीवी की निगरानी में है। यहाँ 43 कैमरे लगाए गए हैं। इनमें से 15 सीसीटीवी कैमरे पहली मंजिल पर महंत नरेंद्र गिरि के कमरे के सामने लगाए गए हैं।

अवैध कब्जे हटाने के लिए नैतिक बल जुटाना सरकारों और उनके नेतृत्व के लिए चुनौती: CM योगी और हिमंता ने पेश की मिसाल

तुष्टिकरण का परिणाम यह है कि देश के बहुत बड़े हिस्से पर अवैध कब्जा हो गया है और उसे हटाना केवल सरकारों के लिए कानून व्यवस्था की चुनौती नहीं बल्कि राष्ट्रीय सभ्यता के लिए भी चुनौती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
124,823FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe