Sunday, October 17, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयहमास और PIJ के टॉप 30+ आतंकियों को उड़ा दिया: नाम और फोटो के...

हमास और PIJ के टॉप 30+ आतंकियों को उड़ा दिया: नाम और फोटो के साथ इजराइल ने कहा – अभी और मारेंगे

इजराइल डिफेंस फोर्स ने 30 से अधिक सेंट्रल हमास और फिलिस्तीनी इस्लामिक जिहाद के आतंकियों के नाम और तस्वीरें जारी की हैं, जो गाजा में हवाई हमले में मारे गए। आईडीएफ ने कहा कि निचले क्रम के दर्जनों गुर्गों को भी मार गिराया है।

इजराइल और फिलिस्तीन के बीच खूनी संघर्ष सातवें दिन भी जारी है। इसी बीच इजराइल डिफेंस फोर्स (IDF) ने रविवार (16 मई 2021) को 30 से अधिक सेंट्रल हमास और फिलिस्तीनी इस्लामिक जिहाद (Palestinian Islamic Jihad) के आतंकियों के नाम और तस्वीरें जारी की हैं, जो गाजा में हवाई हमले में मारे गए हैं। आईडीएफ का कहना है कि उसने आतंकी समूहों के दर्जनों निचले क्रम के गुर्गों को भी मार गिराया है।

शनिवार (15 मई 2021) की रात एक टेलीविजन को दिए बयान में प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने गाजा में इजराइल की सैन्य कार्रवाई को सही ठहराते हुए कहा, ”इजराइल अपने शहरों में इस्लामिक आतंकी संगठन हमास द्वारा किए गए हमलों को बर्दाश्त नहीं करेगा। हम पर हमला करने वालों को करारा जवाब दिया जाएगा। हमारा ऑपरेशन अभी जारी है और जब तक जरूरी होगा, ये जारी रहेगा।”

नेतन्याहू ने ट्वीट करके कहा, ”गाजा ऑपरेशन न्यायसंगत और नैतिक है, लड़ाई कुछ दिन अभी और जारी रहेगी। यह संघर्ष तब शुरू हुआ जब हमास ने सोमवार (10 मई 2021) की शाम को अकारण ही ​यरूशलेम पर रॉकेट दागे।”

नेतन्याहू ने आगे कहा, “मैं दुनिया को याद दिलाना चाहता हूँ कि हमारे शहरों पर फायरिंग कर हमास दोहरा युद्ध अपराध कर रहा है। वे हमारे नागरिकों को निशाना बना रहे हैं और फिलिस्तीनी नागरिकों के पीछे छिप रहे हैं। हमास उन्हें प्रभावी ढंग से मानव ढाल के रूप में इस्तेमाल कर रहे हैं।”

इजराइल के पीएम ने कहा कि 5 दिन हो गए हैं, जब पिछले हफ्ते हमास ने बिना किसी कारण के हमले में येरूशलम और अन्य इजराइली शहरों पर रॉकेट दागे थे। इसके कारण लाखों इजराइलियों को बम शेल्टर्स में जाने को मजबूर किया गया था, क्योंकि हमारे शहरों पर मिसाइलों की बारिश हुई थी।”

पीएम ने कहा कि हमास को हराना न केवल इजराइल के हितों की रक्षा करता है, बल्कि यह उन सभी के हितों की रक्षा करता है जो मध्य पूर्व में शांति, स्थिरता और सुरक्षा चाहते हैं। उन्होंने अंतरराष्ट्रीय समुदाय में इजराइल के कई दोस्तों को धन्यवाद दिया, जिन्होंने आत्मरक्षा में इजराइल द्वारा की गई कार्रवाई का पुरजोर समर्थन किया है।

उन्होंने कहा, “मैं अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन को धन्यवाद देना चाहता हूँ और मैं यूरोपीय देशों सहित कई देशों को धन्यवाद देना चाहता हूँ, जिन्होंने अपनी सरकारी इमारतों पर एकजुटता में इजराइल का झंडा फहराया।” नेतन्याहू ने बाइडन को आत्मरक्षा के अधिकार का अमेरिका द्वारा बिना शर्त दिए गए समर्थन के लिए भी धन्यवाद दिया।

नेतन्याहू ने बताया कि इजराइल के शहरों में लोद से लेकर बैट यम, अक्को से हाइफा तक देखी गई हिंसा भयानक है। उन्होंने कहा कि उनका देश अपने नागरिकों के खिलाफ नरसंहार बर्दाश्त नहीं करेगा। उन्होंने कहा कि वो प्रार्थना स्थलों और सरकारी संपत्ति का कोई नुकसान बर्दाश्त नहीं करेंगे।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बेअदबी करने वालों को यही सज़ा मिलेगी, हम गुरु की फौज और आदि ग्रन्थ ही हमारा कानून’: हथियारबंद निहंगों को दलित की हत्या पर...

हथियारबंद निहंग सिखों ने खुद को गुरू ग्रंथ साहिब की सेना बताया। साथ ही कहा कि गुरु की फौजें किसानों और पुलिस के बीच की दीवार हैं।

सरकारी नौकरी से निकाला गया सैयद अली शाह गिलानी का पोता, J&K में रिसर्च ऑफिसर बन कर बैठा था: आतंकियों के समर्थन का आरोप

अलगाववादी नेता रहे सैयद अली शाह गिलानी के पोते अनीस-उल-इस्लाम को जम्मू कश्मीर में सरकारी नौकरी से निकाल बाहर किया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,125FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe