Wednesday, July 6, 2022
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयहमारे पास पाकिस्तान के ISIS से रिश्तों के पुख्ता सुबूत हैं- अफगानिस्तान के पूर्व...

हमारे पास पाकिस्तान के ISIS से रिश्तों के पुख्ता सुबूत हैं- अफगानिस्तान के पूर्व खुफिया प्रमुख का दावा

उन्होंने कहा कि अफगानिस्तान न सिर्फ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सच्चा दोस्त मानता है, बल्कि आतंकवाद के खिलाफ उनके द्वारा उठाए गए ठोस कदमों का भी समर्थन करता है।

भारत के पड़ोसी देश अफगानिस्तान में इस बार उपराष्ट्रपति के पद के लिए उम्मीदवार अमरुल्लाह सलेह ने भारतीय मीडिया सीएनएन न्यूज-18 से बातचीत में दावा किया कि पाकिस्तान के ISIS से संबंध हैं। सलेह के मुताबिक उनके पास अपने दावे के पुख्ता सबूत भी हैं कि पाकिस्तान ISIS आतंकियों को फंडिंग करता है।

इस साक्षात्कार में उन्होंने बताया कि कुछ समय पहले काबुल में सुरक्षाबलों ने कुछ ISIS आतंकियों को पकड़ा था। जिन्होंने पूछताछ में खुलासा किया था कि उन्हें पाकिस्तान से फंडिंग मिलती हैं। पाकिस्तान इन्हें आतंक फैलाने के लिए हथियार भी मुहैया कराता है, जिसके अफगानिस्तान के पास पक्के सबूत हैं।

सलेह ने इस बातचीत में कश्मीर पर फैसला लेने पर मोदी सरकार की तारीफ़ भी की। साथ ही, उन्होंने भारत से खुन्नस खाए पाकिस्तान पर अफगान से बदला लेने का आरोप भी लगाया। उन्होंने कहा कि अफगानिस्तान न सिर्फ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सच्चा दोस्त मानता है, बल्कि आतंकवाद के खिलाफ उनके द्वारा उठाए गए ठोस कदमों का भी समर्थन करता है।

न्यूज 18 की रिपोर्ट के मुताबिक सलेह ने पाकिस्तान द्वारा कश्मीर मुद्दे का अंतरराष्ट्रीयकरण करने का पुरजोर विरोध किया और दावा किया कि पाक अफगानिस्तान से बदला लेने की कोशिश में है, जो कि अमानवीयता है और जिसे आतंकवाद कहते हैं।

कश्मीर मसले पर पूछे गए सवाल में सलेह ने कहा, “हमारे विचार से भारत एक देश है और जम्मू-कश्मीर उसके क्षेत्र में आता है। ऐसे में जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाने का कदम भारत का आंतरिक मामला है। हमें नहीं लगता कि ये कोई ऐसा मामला है, जिस पर पाकिस्तान को मुद्दा बनाना चाहिए। साथ ही इसे अंतरराष्ट्रीय मंच पर भी नहीं ले जाना चाहिए।

उल्लेखनीय है कि अमरुल्लाह सलेह ने इस दौरान पीएम मोदी को संदेश देते हुए ये भी कहा कि वो अफगानिस्तान के साथ और जुड़े ताकि दोनों देशों के बीच दोस्ती मजबूत और गहरी हो। साथ ही कामना की कि मोदी भारत और अफगानिस्तान दोनों के लिए एक मजबूत स्तंभ के रूप में खड़े रहें।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जीसस क्राइस्ट पर टिप्पणी, केरल के मौलवी के खिलाफ केस दर्ज: BJP नेता ने की थी शिकायत, कहा – ईसाइयों की भावनाएँ आहत हुईं

केरल पुलिस ने ईसा मसीह पर अपमानजनक टिप्पणी करने के मामले में मुस्लिम मौलवी वसीम अल हिकामी के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।

‘खाते दरगाह की हैं, दुकान नूपुर शर्मा के समर्थन में बंद करते हैं’: अजमेर के एक और चिश्ती का भड़काऊ बयान, कहा- मुस्लिम बर्दाश्त...

अजमेर के सरवर चिश्ती ने हिन्दुओं से कहा, "हमने नूपुर शर्मा की गिरफ़्तारी की माँग की, इसी का जुलूस था। आप किस बात के लिए जुलूस निकाल रहे हैं?"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
204,046FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe