Thursday, September 23, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयमस्जिद के पास से जुलूस निकालने पर बांग्लादेश में हिंदुओं पर हमला, कट्टरपंथियों की...

मस्जिद के पास से जुलूस निकालने पर बांग्लादेश में हिंदुओं पर हमला, कट्टरपंथियों की भीड़ ने मंदिरों में की तोड़फोड़, कई घरों-दुकानों को लूटा

दरअसल, शुक्रवार (6 अगस्त) रात करीब नौ बजे महिला श्रद्धालुओं के एक समूह ने पूर्व पारा मंदिर से शियाली श्मशान घाट तक जुलूस निकाला था। उन्होंने रास्ते में एक मस्जिद पार की थी, इस दौरान इमाम ने जुलूस का विरोध किया था।

पाकिस्तान के बाद अब बांग्लादेश में अल्पसंख्यक हिंदुओं के मंदिरों को निशाना बनाया गया है। शनिवार (7 अगस्त) को बांग्लादेश में कुछ कट्टरपंथियों ने अल्पसंख्यक हिंदू समुदाय के कई घरों, दुकानों पर हमला किया और चार मंदिरों में तोड़फोड़ की। यह घटना बांग्लादेश के खुलना जिले के रूपशा उपजिला के शियाली गाँव की है।

बांग्लादेश हिंदू यूनिटी काउंसिल ने अपने ट्विटर हैंडल पर कट्टरपंथी इस्लामिक आतंकियों द्वारा मंदिर में तोड़फोड़ की कुछ तस्वीरें शेयर की हैं। ये तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो गई हैं। ट्वीट में लिखा है, ”खुलना जिले के रूपशा उपजिला में शनिवार को सैकड़ों कट्टरपंथी इस्लामिक आतंकियों ने शियाली (Shiali) और गोवारा (Gowara) गाँव पर हमला किया। उन्होंने इलाके के सभी मंदिरों और 58 हिंदुओं के घरों में तोड़फोड़ की। पुलिस ने इस मामले में अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की है। यहाँ तक कि बांग्लादेश में किसी भी मीडिया ने इस घटना को सबके सामने लाना जरूरी नहीं समझा।”

समकाल (Samakaal) की एक रिपोर्ट के अनुसार, हमला शनिवार को शाम करीब 5:45 बजे किया गया। हथियारों से लैस आतंकियों ने घात लगाकर गाँव पर हमला किया था। हिंसा के दौरान 4 मंदिरों को तहस-नहस कर दिया गया और हिंदुओं के घरों में तोड़फोड़ की गई। इसके अलावा, आतंकियों ने 6 दुकानों को भी नष्ट कर दिया। घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस अधीक्षक (एसपी) समेत वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों की टीम मौके पर पहुँची। घटना के बाद से गाँव के लोगों में भय व तनाव का माहौल है। स्थिति को नियंत्रित करने के लिए गाँव में पुलिस बल तैनात कर दिया है।

स्थानीय निवासियों और पूजा परिषद के नेताओं के मुताबिक, शुक्रवार (6 अगस्त) रात करीब नौ बजे महिला श्रद्धालुओं के एक समूह ने पूर्व पारा मंदिर से शियाली श्मशान घाट तक जुलूस निकाला था। उन्होंने रास्ते में एक मस्जिद पार की थी, इस दौरान इमाम (इस्लामी मौलवी) ने जुलूस का विरोध किया। इससे हिंदू भक्तों और मौलवी के बीच तीखी नोक-झोंक हुई। तय हुआ कि शनिवार को इस मामले को पुलिस के समक्ष उठाया जाएगा।

हथियारों से लैस आतंकियों ने हिंदुओं पर किया हमला, मंदिरों को किया अपवित्र

उस दिन गाँव में कई बदमाश हथियार, हंसिया, फावड़ा लेकर पहुँचे और जमकर तोड़फोड़ की। उन्होंने गणेश मल्लिक (फॉर्मेसी), श्रीबास मल्लिक (किराना), सौरभ मल्लिक (चाय और किराना), अनिर्बन हीरा (चाय की दुकान) और उनके पिता मजूमदार सहित स्थानीय हिंदुओं की दुकानों में तोड़फोड़ की। साथ ही शिबपद धार नाम के एक व्यक्ति के आवास को भी लूट लिया। बदमाशों ने उनके घर में ‘गोविंदा मंदिर’ को भी नष्ट कर दिया। जिन अन्य मंदिरों को अपवित्र किया गया, उनमें शियाली पुरबापारा का ‘हरि मंदिर’, दुर्गा मंदिर और शियाली महाश्मशान मंदिर शामिल हैं। मंदिर में रखी कई मूर्तियों को भी तोड़ दिया गया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

100 मलयाली ISIS में हुए शामिल- 94 मुस्लिम, 5 कन्वर्टेड: ‘नारकोटिक्स जिहाद’ पर घिरे केरल के CM ने बताया

केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने बुधवार को खुलासा किया कि 2019 तक केरल से ISIS में शामिल होने वाले 100 मलयालियों में से लगभग 94 मुस्लिम थे।

इस्लामी कट्टरपंथ से डरा मेनस्ट्रीम मीडिया: जिस तस्वीर पर NDTV को पड़ी गाली, वह HT ने किस ‘दहशत’ में हटाई

इस्लामी कट्टरपंथ से डरा हुआ मेन स्ट्रीम मीडिया! ऐसा हम नहीं कह रहे बल्कि हिंदुस्तान टाइम्स ने ऐसा एक बार फिर खुद को साबित किया। जब कोरोना से सम्बंधित तमिलनाडु की एक खबर में वही तस्वीर लगाकर हटा बैठा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,886FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe