Saturday, July 31, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयफर्जी लाइसेंसधारी पायलट्स की खबर के चलते अब EU ने भी लगाया पाकिस्तानी फ्लाइट्स...

फर्जी लाइसेंसधारी पायलट्स की खबर के चलते अब EU ने भी लगाया पाकिस्तानी फ्लाइट्स पर 6 माह का बैन

यह मामला पाकिस्तान में फर्जी लाइसेंस वाले पायलट्स के खुलासे के बाद प्रकाश में आया है। PIA के कुछ पायलटों के लाइसेंस फर्जी होने की खबरों के आधार पर यूरोपियन यूनियन एयर सेफ्टी एजेंसी ने ये फैसला लिया है।

यूरोपियन यूनियन एयर सेफ्टी एजेंसी (EASA) ने पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (PIA) की उड़ानों पर छह महीने के लिए रोक लगा दी है। इस फैसले के बाद जुलाई 01, 2020 से अगले छह महीने तक, यानी दिसंबर 2020 तक PIA की उड़ानें यूरोप नहीं जा सकेंगी।

यह मामला पाकिस्तान में फर्जी लाइसेंस वाले पायलट्स के खुलासे के बाद प्रकाश में आया है। PIA के कुछ पायलटों के लाइसेंस फर्जी होने की खबरों के आधार पर यूरोपियन यूनियन एयर सेफ्टी एजेंसी ने ये फैसला लिया है।

कुछ ही दिन पहले पाकिस्तान के उड्डयन मंत्री गुलाम सरवर खान ने अपने देश की संसद में कराची विमान हादसे की जाँच रिपोर्ट पेश करते हुए 262 पायलटों के लायसेंस फर्जी होने की बात कही थी। ईएएसए ने पाकिस्तानी अधिकारियों द्वारा 860 से अधिक पायलटों को 260 से अधिक जारी किए गए ‘फर्जी’ लाइसेंसों के बारे में उड्डयन मंत्री गुलाम सरवर खान के संसद में किए गए खुलासे प्रकटीकरण का संदर्भ दिया।

पाकिस्तान स्थित कराची में हादसे का शिकार हुए प्लेन की जाँच में पाया गया कि उस विमान को चला रहे पॉयलट्स का ठीक तरह से ट्रेंड ना होना भी इस विमान हादसे की एक वजह थी।

इसके साथ ही पाकिस्तान में कोरोना वायरस के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं और कुल केस की संख्या दो लाख को पार कर चुकी है, ऐसे में हर देश अब काफी सतर्कता बरत रहा है। यूरोपियन यूनियन से पहले पाकिस्तान में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए इमरान सरकार के लचर रवैए को देखते हुए संयुक्त अरब अमीरात (UAE) के जनरल सिविल एविएशन अथॉरिटी (GCAA) और वियतनाम की एविएशन ऑथोरिटी ने भी पाकिस्तान से आने वाली सभी उड़ानों को निलंबित करने की घोषणा की है।

हाल ही में एक रिपोर्ट में यह भी खुलासा हुआ था कि यूनाइटेड किंगडम पहुँचने वाले कोरोना वायरस के कुल मामलों के 50% से अधिक के लिए पाकिस्तान जिम्मेदार है। रिपोर्ट्स के अनुसार, 1 मार्च से अब तक पाकिस्तान में यूनाइटेड किंगडम से लगभग 190 उड़ानें उतरी हैं। सार्वजनिक स्वास्थ्य रिकॉर्ड से पता चला है कि कुल 30 लोग जो विदेश से ब्रिटेन आए थे, उनका कोरोना वायरस का इलाज हुआ था।

इनमें बताया गया कि पाकिस्तान से कई यात्रियों को ब्रिटेन पहुँचने पर आईसीयू में भर्ती होना पड़ा। इससे पहले, संयुक्त अरब अमीरात ने 30 यात्रियों को हॉन्गकॉन्ग जाने वाली एक फ्लाइट में कोरोना वायरस का पता चलने के बाद पाकिस्तान से अपनी उड़ानें रद्द कर दी थीं।

रिपोर्ट्स के अनुसार, लगभग 2 पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (पीआईए) उड़ानें हर दिन ब्रिटेन पहुँचती हैं। भले ही शुरुआती उड़ानें ब्रिटिश और पाकिस्तानी नागरिकों को निकालने के लिए थीं, बाद में, दैनिक यात्रा के लिए उड़ान संचालन फिर से शुरू कर दिया गया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

20 से ज्यादा पत्रकारों को खालिस्तानी संगठन से कॉल, धमकी- 15 अगस्त को हिमाचल प्रदेश के CM को नहीं फहराने देंगे तिरंगा

खालिस्तान समर्थक सिख फॉर जस्टिस ने हिमाचल प्रदेश के 20 से अधिक पत्रकारों को कॉल कर धमकी दी है कि 15 अगस्त को सीएम तिरंगा नहीं फहरा सकेंगे।

‘हमारे बच्चों की वैक्सीन विदेश क्यों भेजी’: PM मोदी के खिलाफ पोस्टर पर 25 FIR, रद्द करने से सुप्रीम कोर्ट का इनकार

सुप्रीम कोर्ट ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना वाले पोस्टर चिपकाने को लेकर दर्ज एफआईआर को रद्द करने से इनकार कर दिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,104FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe