Sunday, May 29, 2022
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयएक नन ऐसी भी: जुआ खेलने के लिए ₹6 करोड़ की चोरी, लग्जरी ट्रिप...

एक नन ऐसी भी: जुआ खेलने के लिए ₹6 करोड़ की चोरी, लग्जरी ट्रिप पर उड़ाए स्कूल के पैसे

"मैंने पाप किया है। मैंने कानून तोड़ा है और मेरे पास कोई बहाना नहीं है।"

अमेरिका के कैलिफोर्निया में 80 साल की एक नन को जेल की सजा सुनाई गई है। एक कैथोलिक स्कूल का प्रिंसिपल रहते हुए सिस्टर मैरी मार्गरेट ने 835,000 डॉलर (करीब 6.23 करोड़ रुपए) की चोरी की। इस पैसे को जुआ खेलने और लग्जरी छुट्टियॉं बिताने पर खर्च किया।

रिपोर्ट के मुताबिक, मैरी मार्गरेट क्रेपर को 10 वर्षों के दौरान धोखाधड़ी और मनी लॉन्ड्रिंग का दोषी ठहराया गया। वह सेंट जेम्स कैथोलिक स्कूल में प्रिंसिपल थी। चोरी किए गए पैसे का इस्तेमाल नन ने आलीशान रिसॉर्ट्स लेक ताहो में लग्जरी ट्रिप लेने के लिए किया था। कोर्ट में मैरी मार्गरेट ने अपना जुर्म कबूल करते हुए कहा, “मैंने पाप किया है। मैंने कानून तोड़ा है और मेरे पास कोई बहाना नहीं है।” क्रैपर ने आगे कहा, “मेरे कार्य मेरी कसमों, मेरी आज्ञाओं, कानून और सबसे बढ़कर उस विश्वास का उल्लंघन था, जो इतने सारे लोगों ने मुझ पर कर रखा था। मैं गलत हूँ इतने सारे लोगों को दुख देने के लिए माफी चाहती हूँ।”

संघीय अदालत में सुनवाई के दौरान दोषी नन के वकील मार्क ब्रायन ने दलील दी कि उसे ‘जुए की लत’ थी और ये कोई बहाना नहीं, बल्कि एक स्पष्टीकरण है। जज ओटिस डी राइट ने कहा कि मार्गरेट कई दशकों तक एक अच्छी शिक्षिका रही। लेकिन, समय के साथ वो अपने कर्तव्यों से भटक गईं। अदालत ने क्रेपर को एक साल और एक दिन की सजा सुनाई है। इसके अलावा उसे स्कूल को $800,000 (करीब 59,764,816 रुपए) का भुगतान भी करना होगा। जज ने क्रेपर के 28 साल के करियर पर टिपप्णी करते हुए कहा कि हो सकता है कि इस दौरान उन्होंने हजारों छात्रों के जीवन पर सकारात्मक प्रभाव डाला हो, लेकिन सच ये भी है कि ये भयानक उदाहरण भी छात्रों को प्रभावित करेगा।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नूपुर शर्मा का सिर कलम करने वाले को ₹20 लाख इनाम का ऐलान, बताया ‘गुस्ताख़-ए-रसूल’: मुस्लिमों को उकसा रहा AltNews वाला जुबैर

तहरीक-ए-लब्बैक (TLP) वही समूह है जिसने कुछ दिनों सियालकोट में पहले श्रीलंकाई नागरिक की हत्या कर दी थी। अब नूपुर शर्मा का सिर कलम करने पर रखा इनाम।

‘शरिया लॉ में बदलाव कबूल नहीं’: UCC के विरोध में देवबंद के मौलवियों की बैठक, कहा – ‘सब सह कर हम 10 साल से...

देवबंद में आयोजित 'जमीयत उलेमा ए हिन्द' की बैठक में UCC का विरोध किया गया। मौलवियों ने सरकार पर डराने का आरोप लगाया। कहा - ये देश हमारा है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
189,861FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe