Tuesday, December 7, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयकराची में हनुमान मंदिर पर बुलडोजर चलाकर पठान ने बनाया घर: बहुमूल्य प्राचीन मूर्तियाँ...

कराची में हनुमान मंदिर पर बुलडोजर चलाकर पठान ने बनाया घर: बहुमूल्य प्राचीन मूर्तियाँ गायब

"अल्पसंख्यकों के पूजास्थल ध्वस्त करके, तुम केवल भावनाएँ आहत नहीं कर रहे, बल्कि इतिहास भी नष्ट कर रहे हो। कराची के सिंध में स्थित पौराणिक हनुमान मंदिर पर एक रसूखदार ने बुलडोजर चलवा दिया क्योंकि वह वहाँ घर बनाना चाहता था।"

पाकिस्तान के कराची में एक पठान ने घर बनाने के लिए प्राचीन हनुमान मंदिर पर बुलडोजर चला दिया। मंदिर से पौराणिक वस्तुएँ और बहुमूल्य मूर्तियाँ भी गायब बताई जा रही हैं।

इसकी जानकारी मंदिर के महाराज ने एक न्यूज चैनल को दी। महाराज ने बताया कि कोरोना वायरस के समय में मंदिर-मस्जिद सब बंद रहने के आदेश दिए गए थे। इसलिए वह खामोश होकर बैठ गए। लेकिन अब उन्हें मालूम चला कि उनका मंदिर तोड़ दिया गया है। यह सूचना देते हुए मंदिर के महाराज बेहद दुखी थे और रोते उन्होंने अपना बयान दिया है।

‘वॉयस ऑफ पाकिस्तान मायनॉरिटी’ ने इसकी वीडियो ट्विटर पर अपलोड की है। इस ट्वीट में लिखा है, “अल्पसंख्यकों के पूजास्थल ध्वस्त करके, तुम केवल भावनाएँ आहत नहीं कर रहे, बल्कि इतिहास भी नष्ट कर रहे हो। कराची के सिंध में स्थित पौराणिक हनुमान मंदिर पर एक रसूखदार ने बुलडोजर चलवा दिया क्योंकि वह वहाँ घर बनाना चाहता था।”

इसके बाद दूसरी ट्वीट में अकॉउंट से महाराज की वीडियो अपलोड की गई। महाराज को कहते सुना जा सकता है कि उन्होंने मंदिर की खबर सुनने के बाद बड़े महाराज से अनुरोध किया कि वे क्या कर रहे हैं? उन लोगों की पूजा रुकी हुई है।

वे कहते हैं, “हमने बड़े महाराज से कहा कि हमारी पूजा 5-6 महीने से रुकी हुई है। आप कहते हो कि हो जाएगा-हो जाएगा। लेकिन अब ये मुकाम आ गया है कि इन्होंने हमारा मंदिर तोड़ दिया।” इतना कहते ही महाराज रोने लगते हैं।

महाराज बताते हैं कि मंदिर के पास रह रहे लोगों को घर से बाहर कर दिया गया है। उनकी जगह पर जो घर बनने जा रहे हैं उसके लिए 5 लोगों ने बुकिंग की है। लेकिन उन्हें भी अभी घर नहीं मिले हैं।

इसके बाद एक अन्य युवक ने बताया कि इस मामले पर पहले से विवाद था। लेकिन कुछ समय पहले लोगों ने जगह की घेराबंदी की और फिर बिना किसी को कुछ भी बताए मंदिर को तोड़ दिया।

युवक ने बताया कि मंदिर से मूर्तियाँ भी गायब हैं और जब पूछा जा रहा है कि मूर्तियों को कहाँ रखा गया, तो वह कहते हैं कि उन्हें कुछ पता ही नहीं है। ज्ञात हो कि इस संबंध में मंदिर प्रशासन ने पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई है, लेकिन अभी तक इस पर कोई फैसला नहीं आया है। स्थानीय लोगों का कहना है कि अभी इस मसले पर बात चल रही है।

गौरतलब है कि इससे पहले पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों के धार्मिक स्थल पर हमले की खबर पर एक मामला गुरुद्वारे का भी आया था। जब एक इस्लामी उलेमा ने भाई तारू सिंह के नाम पर बने गुरुद्वारे की भूमि पर कब्जा कर लिया था और वीडियो जारी करके धमकी भी दी थी।

पाकिस्तान मौलवी
मौलवी ने गुरुद्वारे की जमीन पर किया कब्जा

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

फेसबुक से रोहिंग्या मुस्लिमों ने माँगे ₹11 लाख करोड़, ‘म्यांमार में नरसंहार’ के लिए कंपनी पर ठोका केस

UK और अमेरिका में रह रहे रोहिंग्या शरणार्थियों ने हेट स्पीच फैलाने का आरोप लगाकर फेसबुक के ख़िलाफ़ ये केस किया है।

600 एकड़ में खाद कारखाना, 750 बेड्स वाला AIIMS: गोरखपुर को PM मोदी की ₹10,000 Cr की सौगात, हर साल 12.7 लाख मीट्रिक टन...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गोरखपुर को AIIMS और खाद कारखाना समेत ₹10,000 करोड़ के परियोजनाओं की सौगात दी। सीए योगी ने भेंट की गणेश प्रतिमा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
142,120FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe