Wednesday, December 1, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयखुद उड़ाता था यहूदियों का मजाक, दुनिया को बताया- मुझे सूअर कहा: इंग्लैंड क्रिकेट...

खुद उड़ाता था यहूदियों का मजाक, दुनिया को बताया- मुझे सूअर कहा: इंग्लैंड क्रिकेट में बवाल मचा अजीम रफीक माँग रहा माफी

10 साल पहले अजीम ने नस्लीय टिप्पणी आतिफ शेख (एक एशियाई खिलाड़ी) के ख़िलाफ़ की थी। अजीम उसके ऊपर बिल का भुगतान न करने का आरोप लगा रहा था और कह रहा था कि वो बिल नहीं भर रहा क्योंकि वो यहूदी है।

इंग्लैंड के नामी खिलाड़ियों से नस्लभेदी टिप्पणी सुनने के कारण चर्चा में आए यॉर्कशायर के पूर्व क्रिकेटर अजीम रफीक एक बार फिर खबरों में हैं। इस बार वजह उनके खुद के बयान हैं जिसके लिए उन्होंने 10 साल बाद माफी माँगी है। उन्होंने ट्विटर पर एक पोस्ट शेयर करते हुए कहा कि एक दशक पहले उन्होंने यहूदियों पर अपनी बयानबाजी की थी। वह उसके लिए आज माफी माँगते हैं। उनके मुताबिक 10 साल बाद वो बिलकुल अलग इंसान हैं।

उन्होंने लिखा, “मुझे आज 2011 की एक फोटो भेजी गई। मैंने इसे देखा तो यह मेरे ही अकाउंट से थी और इसे मैंने ही किया था। मेरे पास कोई बहाना नहीं है। मुझे इस बात का पछतावा है। मैंने अब इसे हटा दिया है ताकि इससे कोई और नुकसान न हो। मैं उस समय 19 साल का था। मैं उम्मीद करता हूँ और विश्वास करता हूँ कि आज मैं अलग इंसान हूँ। मैं अपने आप पर काफी क्रोधित हूँ और पूरे यहूदी समुदाय से क्षमा माँगता हूँ। साथ ही उन सभी लोगों से भी, जो इससे आहत हुए हैं।”

अजीम का माफी वाला पोस्ट

यहाँ बता दें कि इंग्लैंड के खिलाड़ियों पर नस्लवाद का आरोप लगाने वाले अजीम रफीक अपने पुराने मैसेजों के कारण विवादो में हैं। उनके मैसेज इस समय हर जगह सोशल मीडिया पर वायरल है। इसमें उन्होंने यहूदियों को लेकर टिप्पणी की हुई है। इन्हीं संदेशों को लोग शेयर कर रहे हैं और जो पोस्ट उन्होंने माफी माँगने के लिए साझा किया है उसके नीचे भी यूजर्स उस चैट को पेस्ट कर रहे हैं। जिसमें साफ तौर पर यहूदियों का उल्लेख देखा जा सकता है।

10 साल पहले की गई टिप्पणी

सामने आई जानकारी के मुताबिक, 10 साल पहले अजीम ने ये टिप्पणी आतिफ शेख (एक एशियाई खिलाड़ी) के ख़िलाफ़ की थी। अजीम उसके ऊपर बिल का भुगतान न करने का आरोप लगा रहा था और कह रहा था कि वो बिल नहीं भर रहा क्योंकि वो यहूदी है। मेल ऑनलाइन से बात करते हुए रफीक ने कहा, “मैं आतिफ से आज बात की और मैंने माफी माँगी। मैंने कहा ही है कि मैं उन लोगों के सामने बहुत ज्यादा शर्मिंदा हूँ जो इस पोस्ट से आहत हुए। आतिफ से फोन पर बात करके भी मैंने माफी माँगी।”

उल्लेखनीय है कि अजीम ने इंग्लैड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन पर नस्लवादी और असंवेदनशील टिप्पणी करने का आरोप लगाया था। इसके अलावा मैथ्यू हॉगर्ड के ख़िलाफ उन्हें ‘राफा द काफिर (Raffa the Kaffir)’ से लेकर ‘सूअर (Pigs)’ और ‘हाथी धोने वाला (Elephant washer)’ तक कहा गया था।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कभी ज़िंदा जलाया, कभी काट कर टाँगा: ₹60000 करोड़ का नुकसान, हत्या-बलात्कार और हिंसा – ये सब देश को देकर जाएँगे ‘किसान’

'किसान आंदोलन' के कारण देश को 60,000 करोड़ रुपए का घाटा सहना पड़ा। हत्या और बलात्कार की घटनाएँ हुईं। आम लोगों को परेशानी झेलनी पड़ी।

बारबाडोस 400 साल बाद ब्रिटेन से अलग होकर बना 55वाँ गणतंत्र देश: महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का शासन पूरी तरह से खत्म

बारबाडोस को कैरिबियाई देशों का सबसे अमीर देश माना जाता है। यह 1966 में आजाद हो गया था, लेकिन तब से यहाँ क्वीन एलीजाबेथ का शासन चलता आ रहा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
140,754FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe