Friday, August 19, 2022
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयPak में भी हो रहा दिल्ली चुनाव परिणाम का इंतजार, विदेश मंत्री कुरैशी ने...

Pak में भी हो रहा दिल्ली चुनाव परिणाम का इंतजार, विदेश मंत्री कुरैशी ने कहा- BJP की होगी बड़ी हार

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी के बयान से तो यही लगता है। कुरैशी ने दावा किया है कि भाजपा को काफ़ी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने भविष्यवाणी करते हुए कहा कि भाजपा इस चुनाव में बुरी तरह हारने वाली है।

दिल्ली विधानसभा चुनाव का परिणाम मंगलवार (फरवरी 11, 2020) को आने वाले हैं। इसके लिए जहाँ भारत में हर ओर लोग इंतजार कर रहे हैं क्योंकि मामला देश की राजधानी का है, वहीं पाकिस्तान में भी चुनाव परिणाम का बेसब्री से इन्तजार हो रहा है। कम से कम वहाँ के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी के बयान से तो यही लगता है। कुरैशी ने दावा किया है कि भाजपा को काफ़ी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने भविष्यवाणी करते हुए कहा कि भाजपा इस चुनाव में बुरी तरह हारने वाली है।

कराची में एक सभा को सम्बोधित करते हुए कुरैशी ने कहा कि भाजपा ने 2019 लोकसभा चुनावों में भले ही भारी जीत दर्ज कर ली, उसके बाद से उन्हें 3 राज्यों में परेशानियों का सामना करना पड़ा है। बकौल पाकिस्तानी विदेश मंत्री, हार का कारण सीएए होगा। नागरिकता संशोधन क़ानून को लेकर उन्होंने कहा कि इसके कारण मोदी से एक बड़ा तबका नाराज़ है। उन्होंने कहा कि मोदी ने नागरिकता पर जो फैसले लिए हैं, उसके कारण उनकी पार्टी को बुरी हार मिलेगी।

कुरैशी ने कहा कि जम्मू कश्मीर में जो ‘अत्याचारी नीति’ अपनाई है, उसके कारण उसे चुनाव में हार मिलने जा रही है। उन्होंने दावा किया कि सीएए और एनआरसी के कारण पूरे भारत में भारी विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। हालाँकि, इस दौरान पाकिस्तान को अन्य देशों से समर्थन न मिल पाने का उनका दुःख भी झलका। उन्होंने कहा कि भारत का सभी देश समर्थन इसीलिए करते हैं क्योंकि वो बहुत बड़ा बाजार है और अन्य देशों को अपना बाजार खोने का डर है।

उन्होंने दावा किया कि भाजपा जब से सत्ता में आई है, तब से भारत की विकास दर आधे से भी कम हो गई है। उन्होंने कहा कि भारत फिर से ‘पुलवामा जैसे घटना’ करा सकता है, ताकि वहाँ की जनता देश की आर्थिक समस्याओं की तरफ ध्यान न देकर पाकिस्तान की बातें करें। बता दें कि पुलवामा में हुए पाकिस्तान समर्थित आतंकी हमले में 40 सीआरपीएफ के जवान वीरगति को प्राप्त हो गए थे।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आतंकियों के लिए फंड्स मैनेज कर रहा था कपड़ा कारोबारी मोहम्मद यासीन, दिल्ली से धराया: विदेश से मँगा कर कश्मीर में भेजे लाखों

दिल्ली पुलिस ने लश्कर और अल-बदर जैसे आतंकी संगठनों के लिए फंड्स मैनेज करने वाले एक हवाला एजेंट मोहम्मद यासीन को गिरफ्तार किया है।

‘कम बुद्धि वाला व्यक्ति भी समझ जाएगा’: पत्रकार ने कोयला आयात को लेकर फैलाया झूठ, बिजली के दाम बढ़ने का दिखाया डर तो मंत्रालय...

'बिजनेस स्टैंडर्ड' की सहायक संपादक ने कोयला आयात को लेकर झूठ फैलाया। बिजली के दाम बढ़ने का दिखाया डर। ऊर्जा मंत्रालय ने लगाई फटकार।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
215,315FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe