Saturday, June 22, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय'भारत का दामाद' बना ब्रिटेन का PM, लेकिन एक दिक्कत है..

‘भारत का दामाद’ बना ब्रिटेन का PM, लेकिन एक दिक्कत है..

लंदन के 2008 से 2016 तक मेयर रहने के दौरान जॉनसन ने खुद को 'भारत का दामाद' बताने के लिए अपनी पत्नी के भारतीय मूल का होने का कई बार जिक्र किया था। जॉनसन और व्हीलर के चार बच्चे हैं।

लंदन के पूर्व मेयर बोरिस जॉनसन (Boris Johnson) को ब्रिटेन का अगला प्रधानमंत्री चुना गया है। यह जानकारी ब्रिटिश मीडिया के हवाले से एएनआई ने दी है। बोरिस जॉनसन ब्रिटेन की प्रधानमंत्री टेरेसा मे की जगह लेंगे। उन्होंने पीएम पद की रेस में जेरमी हंट को हराया। कंजर्वेटिव पार्टी के नेता जॉनसन बुधवार (जुलाई 24, 2019) को प्रधानमंत्री पद की शपथ लेंगे। बोरिस जॉनसन ब्रिटेन के पूर्व विदेश मंत्री भी रह चुके हैं।

कभी खुद को बताते थे ‘भारत का दामाद’

बोरिस जॉनसन और उनकी पत्नी मैरीना व्हीलर की शादी को करीब 25 साल हो चुके हैं। मैरीना व्हीलर भारतीय मूल की हैं और पेशे से वकील हैं। हालाँकि, दोनों ही वर्ष 2018 में अपने रिश्ते के समाप्त होने की घोषणा कर चुके हैं। सितंबर 2018 को उन्होंने एक दूसरे से तलाक लेने की योजना बनाई थी। दरअसल, ऐसे दावे किए जा रहे थे कि जॉनसन ने अपनी पत्नी को धोखा दिया है।

लंदन के 2008 से 2016 तक मेयर रहने के दौरान जॉनसन ने खुद को ‘भारत का दामाद’ बताने के लिए अपनी पत्नी के भारतीय मूल का होने का कई बार जिक्र किया था। जॉनसन और व्हीलर के चार बच्चे हैं। 

चुनाव के दौरान गर्लफ्रेंड के साथ विवाद को लेकर चर्चा में रहे जॉनसन

एक ओर बोरिस जॉनसन का अपनी भारतीय मूल की पत्नी के साथ तलाक का केस चल रहा है, वहीं अपनी महिला मित्र के साथ विवाद को लेकर भी वो सुर्ख़ियों में रह चुके हैं। दरअसल, चुनाव के दौरान ही लंदन में उनकी महिला मित्र के साथ हुए उनके झगड़े की पुलिस में शिकायत दर्ज कर दी गई थी। पिछले साल जॉनसन का उनकी गर्लफ्रेंड कोरी साइमंड्स के साथ प्रेम संबंध सार्वजनिक हो गया था। जिसके बाद उनकी भारतीय मूल की पत्नी मरीना व्हीलर ने तलाक की अर्जी दी थी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नालंदा विश्वविद्यालय को ब्राह्मणों ने ही जलाया था, 11वीं सदी का शिलालेख है साक्ष्य!!

नालंदा विश्वविद्यालय को ब्राह्मणों ने ही जलाया था, बख्तियार खिलजी ने नहीं। ब्राह्मण+बुर्के वाली के संभोग को खोद निकाला है इस इतिहासकार ने।

10 साल जेल, ₹1 करोड़ जुर्माना, संपत्ति भी जब्त… पेपर लीक के खिलाफ आ गया मोदी सरकार का सख्त कानून, NEET-NET परीक्षाओं में गड़बड़ी...

परीक्षा आयोजित करने में जो खर्च आता है, उसकी वसूली भी पेपर लीक गिरोह से ही की जाएगी। केंद्र सरकार किसी केंद्रीय जाँच एजेंसी को भी ऐसी स्थिति में जाँच सौंप सकती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -