Friday, May 31, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयबड़े युद्ध की तैयारी में चीन! ताइवान से चल रहे तनाव के बीच सामने...

बड़े युद्ध की तैयारी में चीन! ताइवान से चल रहे तनाव के बीच सामने आया युद्धाभ्यास का वीडियो

कई देशों के रक्षा विशेषज्ञ यह स्वीकार करते हैं कि आज के समय में चीन और ताइवान युद्ध के मुहाने पर खड़े हैं और एक छोटी सी भी तनावपूर्ण घटना दक्षिण चीन सागर समेत पूरे हिन्द-प्रशांत क्षेत्र में संघर्ष का कारण बन सकती है।

ताइवान और दक्षिण चीन सागर मे चल रहे तनाव के बीच चीन ने एक बड़े युद्धाभ्यास का वीडियो जारी किया है। वीडियो में चीन के इस युद्धाभ्यास की तीव्रता को देखकर ऐसा लग रहा है मानो वह किसी बड़े युद्ध की तैयारी कर रहा हो। चीन के सैन्य विशेषज्ञ भी इस युद्धाभ्यास को ताइवान के साथ संभावित युद्ध से जोड़ कर देख रहे हैं।

चीन द्वारा जारी किए गए इस वीडियो से यह ज्ञात नहीं हुआ है कि यह युद्धाभ्यास कब और कहाँ किया गया लेकिन यह वीडियो ऐसे समय में आया है जब अमेरिका, फ्रांस, ऑस्ट्रेलिया और जापान एक संयुक्त सैन्य अभ्यास में शामिल हुए। चीन के सैन्य विशेषज्ञ सोंग झोंगपिंग ने भी कहा है कि चीन की सेना द्वारा यह अभ्यास ताइवान से संभावित युद्ध के चलते किया जा रहा है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार वीडियो में चीन का 40,000 टन वजनी युद्धपोत ‘टाइप 075’ देखा गया जो एक साथ 30 हेलिकॉप्टर और 1,000 सैनिकों को ले जाने की क्षमता रखता है।

पिछले कुछ सालों से लगातार ताइवान और चीन के बीच तनाव की स्थिति बनी हुई है। एक ओर जहाँ ताइवान का शीर्ष नेतृत्व कहता आया है कि उनका देश चीन की संपत्ति नहीं है बल्कि एक प्रभुत्व सम्पन्न देश है वहीं दूसरी ओर चीन, ताइवान पर अपना अधिकार बताता रहता है। इसके अलावा अमेरिका के विदेश मंत्रालय ने भी ताइवान के अपने संबंधों को बढ़ाने की शुरुआत की थी। इस पर चीन के विदेश मंत्रालय द्वारा चेतावनी दी गई थी।

पिछले कई महीनों से ताइवान ने लगातार यह शिकायत की कि चीन के लड़ाकू विमान ताइवान के एयर डिफेंस आइडेंटिफिकेशन जोन (ADIZ) के अंदर घुसे। हालाँकि चीन अभी भी ताइवान के वायुक्षेत्र का उल्लंघन कर रहा है और उसकी यह गैर-जिम्मेदाराना हरकत यह बताती है कि चीन, ताइवान के साथ तनाव को समाप्त करने के लिए बिल्कुल भी गंभीर नहीं है।

कई देशों के रक्षा विशेषज्ञ यह स्वीकार करते हैं कि आज के समय में चीन और ताइवान युद्ध के मुहाने पर खड़े हैं और एक छोटी सी भी तनावपूर्ण घटना दक्षिण चीन सागर समेत पूरे हिन्द-प्रशांत क्षेत्र में संघर्ष का कारण बन सकती है।    

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

200+ रैली और रोडशो, 80 इंटरव्यू… 74 की उम्र में भी देश भर में अंत तक पिच पर टिके रहे PM नरेंद्र मोदी, आधे...

चुनाव प्रचार अभियान की अगुवाई की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने। पूरे चुनाव में वो देश भर की यात्रा करते रहे, जनसभाओं को संबोधित करते रहे।

जहाँ माता कन्याकुमारी के ‘श्रीपाद’, 3 सागरों का होता है मिलन… वहाँ भारत माता के 2 ‘नरेंद्र’ का राष्ट्रीय चिंतन, विकसित भारत की हुंकार

स्वामी विवेकानंद का संन्यासी जीवन से पूर्व का नाम भी नरेंद्र था और भारत के प्रधानमंत्री भी नरेंद्र हैं। जगह भी वही है, शिला भी वही है और चिंतन का विषय भी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -