Sunday, October 17, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयअमेरिका के जवाब में 'ड्रैगन' ने दिखाया अपना असली रंग: चीन ने बंद किया...

अमेरिका के जवाब में ‘ड्रैगन’ ने दिखाया अपना असली रंग: चीन ने बंद किया चेंगडू स्थित अमेरिकी वाणिज्य दूतावास

चीन के विदेश मंत्रालय ने इस मामले की सूचना जारी की। जारी की गई सूचना में चीनी विदेश मंत्रालय ने कहा दक्षिण पश्चिमी चेंगडू शहर स्थित अमेरिकी दूतावास का लाइसेंस रद्द किया जा रहा है। इसके बाद यह अमेरिकी दूतावास पूरी तरह बंद कर दिया जाएगा।

अमेरिका की तरफ से कड़ी प्रतिक्रिया मिलने के बाद चीन ने भी बड़ा कदम उठाया है। चीन ने दक्षिण पश्चिमी चेंगडू शहर स्थित अमेरिकी वाणिज्य दूतावास बंद कर दिया है। ख़बरों के मुताबिक़ चीन ने यह कार्रवाई अमेरिका के ह्यूस्टन स्थित चीनी वाणिज्य दूतावास बंद करने के बाद की है। 

चीन के विदेश मंत्रालय ने इस मामले की सूचना जारी की। जारी की गई सूचना में चीनी विदेश मंत्रालय ने कहा दक्षिण पश्चिमी चेंगडू शहर स्थित अमेरिकी दूतावास का लाइसेंस रद्द किया जा रहा है। इसके बाद यह अमेरिकी दूतावास पूरी तरह बंद कर दिया जाएगा। 

चीन के विदेश मंत्रालय ने यह भी लिखा यह कदम ‘जैसे को तैसा’ (tit-for-tat move) पद्धति पर आधारित है। अमेरिका द्वारा की गई कार्रवाई का न तो कोई कारण था और न ही कोई आधार। इसके जवाब में हमने यह ज़रूरी और न्यायसंगत कदम उठाया है।   

अमेरिका के विदेश मंत्री माईक पॉम्पियो ने गुरूवार के दिन कहा ह्यूस्टन स्थित चीनी वाणिज्य दूतावास जासूसी का अड्डा बन चुका है। हाल ही में अमेरिका ने इस वाणिज्य दूतावास को बंद करने का आदेश दिया था। पॉम्पियो ने इस बारे में कई अहम बातें कही, उनके मुताबिक़ चीन के इस काउंसलेट में कई गई कानूनी गतिविधियाँ चल रही थीं। साथ ही तमाम अमेरिकी कंपनी के व्यापार सम्बन्धी दस्तावेज़ भी चुराए जा रहे थे।

इसके बाद पॉम्पियो ने कहा “अंततः हमने यह फैसला लिया है कि इस सप्ताह में यह चीन का यह वाणिज्य दूतावास बंद कर दिया जाएगा। यहां जासूसी और अमेरिकी बौद्धिक विषय वस्तु (intellectual property) की चोरी के अलावा कुछ और नहीं होता है।” पॉम्पियो के मुताबिक़ “अगर आज़ाद दुनिया वामपंथी चीन को नहीं बदलती तो वामपंथी चीन हमें बदल कर रख देगा।”

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बेअदबी करने वालों को यही सज़ा मिलेगी, हम गुरु की फौज और आदि ग्रन्थ ही हमारा कानून’: हथियारबंद निहंगों को दलित की हत्या पर...

हथियारबंद निहंग सिखों ने खुद को गुरू ग्रंथ साहिब की सेना बताया। साथ ही कहा कि गुरु की फौजें किसानों और पुलिस के बीच की दीवार हैं।

सरकारी नौकरी से निकाला गया सैयद अली शाह गिलानी का पोता, J&K में रिसर्च ऑफिसर बन कर बैठा था: आतंकियों के समर्थन का आरोप

अलगाववादी नेता रहे सैयद अली शाह गिलानी के पोते अनीस-उल-इस्लाम को जम्मू कश्मीर में सरकारी नौकरी से निकाल बाहर किया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,125FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe