Wednesday, June 19, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय'अमेरिका में मुस्लिमों को नहीं घुसने देंगे': फिर से राष्ट्रपति की दौर में शामिल...

‘अमेरिका में मुस्लिमों को नहीं घुसने देंगे’: फिर से राष्ट्रपति की दौर में शामिल डोनाल्ड ट्रम्प का खुला ऐलान – हर तरह से इजरायल का देंगे साथ

डोनाल्ड ट्रंप ने अब कहा है कि वो इजरायल का ऐसा समर्थन करेंगे, जैसा समर्थन अब तक नहीं हुआ। वो खुल कर हर लड़ाई में इजरायल का साथ देंगे।

अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति और रिपब्लिकन पार्टी की ओर से इस बार भी राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार बनने की दावेदारी कर रहे डोनाल्ड ट्रंप ने ऐलान कर दिया है कि वो राष्ट्रपति बनेंगे, तो अमेरिका में मुस्लिमों की एंट्री पर बैन लगा देंगे। उन्होंने ऐलानिया तौर पर इजरायल के ऐसे समर्थन की बात कही है, जितना अब तक कभी नहीं किया गया। उन्होंने मुस्लिमों पर ‘ट्रैवल बैन’ की याद दिलाते हुए कहा कि वो इस बार और भी कड़ा कदम उठाएँगे। हालाँकि, उनके इस बयान की व्हाइट हाउस ने निंदा की है।

लास वेगस में रिपब्लिकन-यहूदी कंवेंशन में बोलते हुए डोनाल्ट ट्रंप ने खुला ऐलान किया कि वो सत्ता में आते ही न सिर्फ 2017 के ‘ट्रैवल बैन’ को फिर से लागू करेंगे, बल्कि उससे भी कड़े कदम उठाएँगे। उन्होंने याद दिलाया कि उनके राष्ट्रपति रहते 7 मुस्लिम बहुल देशों पर अमेरिका ने ट्रैवल बैन लगा दिया था। उनके इस कदम की काफी निंदा हुई थी। इसके बावजूद उन्होंने अपने कदम वापस नहीं खींचे। उनके इस आदेश को जो बाईडेन ने सत्ता में आने के बाद 2021 में ही वापस ले लिया था।

डोनाल्ड ट्रंप ने अब कहा है कि वो इजरायल का ऐसा समर्थन करेंगे, जैसा समर्थन अब तक नहीं हुआ। वो खुल कर हर लड़ाई में इजरायल का साथ देंगे। डोनाल्ड ट्रम्प ने सभा में कहा, “हम कट्टरपंथी इस्लामी आतंकवादियों को अपने देश से बाहर रखेंगे।” उन्होंने जब ये ऐलान किया, तो उस समय कन्वेंशन सेंटर में रिपब्लिकन पार्टी के कुछ सबसे बड़े यहूदी दानदाता भी मौजूद थे। जिसकी वजह से उनके इस ऐलान को अगले चुनाव में यहूदियों का खुला समर्थन पाने की कोशिश समझा जा रहा है।

बता दें कि डोनाल्ड ट्रंप को इजरायल का समर्थक माना जाता है। उनके राष्ट्रपति रहते ही अमेरिका ने येरूशलम को इजरायल की राजधानी माना था और इजरायल का मुस्लिमों देशों के साथ अब्राहम समझौता कराया था। उनके इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतान्याहू के साथ बेहद अच्छे संबंध हैं और वो खुलकर इजरायल का समर्थन करते हैं।

7 अक्टूबर को हमास ने किया था इजरायल पर सबसे बड़ा हमला

गौरतलब है कि हमास ने 7 अक्टूबर, 2023 की सुबह इजरायल में जल, थल और हवा के रास्ते हमला किया। हमास ने इजरायल पर हजारों रॉकेट छोड़े। इन हमलों में 1400 से अधिक लोगों की मौत हो गई, तो 3 हजार से अधिक लोग घायल हो गए।

इस हमले के दौरान हमास ने 225 से अधिक इजरायलियों को बंधक बना लिया और गाजा पट्टी लेकर गए। हालाँकि, इस हमले के बाद इजरायल ने हमास पर पलटवार किया है और इजरायल के हमलों में अब तक 7000 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। इजरायल ने उत्तरी गाजा को खाली करने का अल्टीमेटम दिया है, और गाजा पर अभी भी हमला जारी है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘अच्छा! तो आपने मुझे हराया है’: विधानसभा में नवीन पटनायक को देखते ही हाथ जोड़ कर खड़े हो गए उन्हें हराने वाले BJP के...

विधानसभा में लक्ष्मण बाग ने हाथ जोड़ कर वयोवृद्ध नेता का अभिवादन भी किया। पूर्व CM नवीन पटनायक ने कहा, "अच्छा! तो आपने मुझे हराया है?"

‘माँ गंगा ने मुझे गोद ले लिया है, मैं काशी का हो गया हूँ’: 9 करोड़ किसानों के खाते में पहुँचे ₹20000 करोड़, 3...

"गरीब परिवारों के लिए 3 करोड़ नए घर बनाने हों या फिर पीएम किसान सम्मान निधि को आगे बढ़ाना हो - ये फैसले करोड़ों-करोड़ों लोगों की मदद करेंगे।"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -