Saturday, January 28, 2023
Homeदेश-समाजनाम नहीं बता सकते, क्योंकि वह 14 साल का ही है, लेकिन इस उम्र...

नाम नहीं बता सकते, क्योंकि वह 14 साल का ही है, लेकिन इस उम्र में भी उसने इस्लामी आतंकी हमले की साजिश रची

"आपने कुछ संदिग्ध देखा जो आपकी चिंता को बढ़ाता है और आतंकवादी गतिविधियों से कहीं से जुड़ा होने के संकेत करे, तो बेझिझक उसकी रिपोर्ट करें। यदि आपने किसी विशेष स्थान पर या किसी विशेष समय में किसी संदिग्ध व्यवहार को महसूस किया, तो अपने संदेहों को पुलिस के साथ साझा करें।"

इस्लामी आतंकी हमले की साजिश रचने के आरोप में ब्रिटेन में एक 14 साल का बच्चा पकड़ा गया है। नाबालिग होने के कारण उसकी पहचान का खुलासा नहीं किया गया है।

ब्रिटेन के हैम्पशायर से कानून प्रवर्तन अधिकारियों ने 14 वर्षीय नाबालिग को हिरासत में लिया। उसे गुरुवार को एक अदालत में पेश किया गया

14 साल के इस लड़के पर बुधवार को ब्रिटेन के आतंकवाद संबंधी कानून की इस्लामी आतंकवाद संबंधी धारा 5 (1) (ए) के उल्लंघन के तहत आरोप तय किए गए। आतंकवाद रोधी पुलिस ने एक बयान में कहा कि पहले उस लड़के को 12 जून को हैम्पशायर पुलिस ने गिरफ्तार किया था, मगर बाद में उसकी गिरफ्तारी आतंकवाद विरोधी कानून के तहत हुई।

जानकारी के मुताबिक, लड़के को पुलिस ने पहले पिछले हफ्ते शुक्रवार को हैम्पशायर कांस्टेबुलरी से गिरफ्तार किया। बाद में CTPSE जासूसों की मदद से नाबालिग को आतंकवाद अधिनियम की धारा 41 के तहत पकड़ लिया गया।

CTPSE (Counter Terrorism Policing South East) ने कहा, “इस्लामिक आतंकवाद के आरोपों में हैम्पशायर में लड़के की गिरफ्तारी ईस्टले (Eastleigh) के समुदाय को चिंतित कर सकती है, लेकिन हैम्पशायर कांस्टेबुलरी इस जाँच पर काउंटर टेररिज्म पुलिसिंग साउथ ईस्ट में सहयोगियों के साथ मिलकर काम कर रहा है और हम आपको आश्वस्त करना चाहते हैं कि यह मामला अलग है। इससे समुदाय को कोई जोखिम नहीं है।”

इस बीच आतंकवाद विरोधी इकाई ने आम लोगों से भी अपील की कि अगर उन्हें कुछ भी संदिग्ध दिखे तो उसकी जानकारी दें, क्योंकि वह आतंकवादी गतिविधि से जुड़ा हो सकता है।

CTPSE ने कहा, “अगर आपको लगता है कि आपने कुछ संदिग्ध देखा जो आपकी चिंता को बढ़ाता है और आतंकवादी गतिविधियों से कहीं से जुड़ा होने के संकेत करे, तो बेझिझक उसकी रिपोर्ट करें। अपनी सोच पर विश्वास रखें, दूसरों पर भरोसा न करें और यदि आपने किसी विशेष स्थान पर या दिन के किसी विशेष समय में किसी विशेष संदिग्ध व्यवहार को महसूस किया, तो अपने संदेहों को पुलिस के साथ साझा करें।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

हमारा सनातन धर्म भारत का राष्ट्रीय धर्म: बोले CM योगी, ऐतिहासिक नीलकंठ महादेव मंदिर में की पूजा

सीएम योगी ने देश की सुरक्षा और विरासत की रक्षा के लिए लोगों से व्यक्तिगत स्वार्थ से ऊपर उठकर राष्ट्रीय धर्म के साथ जुड़ने का आह्वान किया।

शेयर गिराओ, उससे अरबों कमाओ: अडानी पर आरोप लगाने वाला Hindenburg रिसर्च का काला चिट्ठा, अमेरिका में चल रही जाँच

Hindenburg रिसर्च: संस्थापक रह चुका है ड्राइवर। जानिए उस कंपनी के बारे में जिसने अडानी समूह के 2 लाख करोड़ रुपए डूबा दिए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
242,733FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe