Saturday, April 20, 2024
Homeदेश-समाजनाम नहीं बता सकते, क्योंकि वह 14 साल का ही है, लेकिन इस उम्र...

नाम नहीं बता सकते, क्योंकि वह 14 साल का ही है, लेकिन इस उम्र में भी उसने इस्लामी आतंकी हमले की साजिश रची

"आपने कुछ संदिग्ध देखा जो आपकी चिंता को बढ़ाता है और आतंकवादी गतिविधियों से कहीं से जुड़ा होने के संकेत करे, तो बेझिझक उसकी रिपोर्ट करें। यदि आपने किसी विशेष स्थान पर या किसी विशेष समय में किसी संदिग्ध व्यवहार को महसूस किया, तो अपने संदेहों को पुलिस के साथ साझा करें।"

इस्लामी आतंकी हमले की साजिश रचने के आरोप में ब्रिटेन में एक 14 साल का बच्चा पकड़ा गया है। नाबालिग होने के कारण उसकी पहचान का खुलासा नहीं किया गया है।

ब्रिटेन के हैम्पशायर से कानून प्रवर्तन अधिकारियों ने 14 वर्षीय नाबालिग को हिरासत में लिया। उसे गुरुवार को एक अदालत में पेश किया गया

14 साल के इस लड़के पर बुधवार को ब्रिटेन के आतंकवाद संबंधी कानून की इस्लामी आतंकवाद संबंधी धारा 5 (1) (ए) के उल्लंघन के तहत आरोप तय किए गए। आतंकवाद रोधी पुलिस ने एक बयान में कहा कि पहले उस लड़के को 12 जून को हैम्पशायर पुलिस ने गिरफ्तार किया था, मगर बाद में उसकी गिरफ्तारी आतंकवाद विरोधी कानून के तहत हुई।

जानकारी के मुताबिक, लड़के को पुलिस ने पहले पिछले हफ्ते शुक्रवार को हैम्पशायर कांस्टेबुलरी से गिरफ्तार किया। बाद में CTPSE जासूसों की मदद से नाबालिग को आतंकवाद अधिनियम की धारा 41 के तहत पकड़ लिया गया।

CTPSE (Counter Terrorism Policing South East) ने कहा, “इस्लामिक आतंकवाद के आरोपों में हैम्पशायर में लड़के की गिरफ्तारी ईस्टले (Eastleigh) के समुदाय को चिंतित कर सकती है, लेकिन हैम्पशायर कांस्टेबुलरी इस जाँच पर काउंटर टेररिज्म पुलिसिंग साउथ ईस्ट में सहयोगियों के साथ मिलकर काम कर रहा है और हम आपको आश्वस्त करना चाहते हैं कि यह मामला अलग है। इससे समुदाय को कोई जोखिम नहीं है।”

इस बीच आतंकवाद विरोधी इकाई ने आम लोगों से भी अपील की कि अगर उन्हें कुछ भी संदिग्ध दिखे तो उसकी जानकारी दें, क्योंकि वह आतंकवादी गतिविधि से जुड़ा हो सकता है।

CTPSE ने कहा, “अगर आपको लगता है कि आपने कुछ संदिग्ध देखा जो आपकी चिंता को बढ़ाता है और आतंकवादी गतिविधियों से कहीं से जुड़ा होने के संकेत करे, तो बेझिझक उसकी रिपोर्ट करें। अपनी सोच पर विश्वास रखें, दूसरों पर भरोसा न करें और यदि आपने किसी विशेष स्थान पर या दिन के किसी विशेष समय में किसी विशेष संदिग्ध व्यवहार को महसूस किया, तो अपने संदेहों को पुलिस के साथ साझा करें।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘PM मोदी की गारंटी पर देश को भरोसा, संविधान में बदलाव का कोई इरादा नहीं’: गृह मंत्री अमित शाह ने कहा- ‘सेक्युलर’ शब्द हटाने...

अमित शाह ने कहा कि पीएम मोदी ने जीएसटी लागू की, 370 खत्म की, राममंदिर का उद्घाटन हुआ, ट्रिपल तलाक खत्म हुआ, वन रैंक वन पेंशन लागू की।

लोकसभा चुनाव 2024: पहले चरण में 60+ प्रतिशत मतदान, हिंसा के बीच सबसे अधिक 77.57% बंगाल में वोटिंग, 1625 प्रत्याशियों की किस्मत EVM में...

पहले चरण के मतदान में राज्यों के हिसाब से 102 सीटों पर शाम 7 बजे तक कुल 60.03% मतदान हुआ। इसमें उत्तर प्रदेश में 57.61 प्रतिशत, उत्तराखंड में 53.64 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe