Tuesday, December 7, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयइजराइल के लोगों को मारने के लिए फिलिस्तीनी इस्लामी आतंकी लोड कर रहे थे...

इजराइल के लोगों को मारने के लिए फिलिस्तीनी इस्लामी आतंकी लोड कर रहे थे रॉकेट, धमाके में खुद के ही उड़े परखच्चे

चारों आतंकवादियों को फिलिस्तीन इस्लामिक जिहाद विंग के आतंकियों के रूप में पहचाना गया। कहा जा रहा है जब घटना घटी उस समय ये लोग उस रॉकेट को लोड कर रहे थे जिसके निशाने पर इजराइल की आबादी थी।

फिलिस्तीन (Palestinian) के इस्लामी आतंकवादी समूहों के चार आतंकवादियों ने सोमवार (अगस्त 24, 2020) को शेजैया के पास गाजा सिटी के एक शिविर में बम तैयार करने के दौरान खुद को ही धमाके में उड़ा लिया।

रिपोर्ट्स के अनुसार, चारों आतंकवादियों को फिलिस्तीन इस्लामिक जिहाद विंग के आतंकियों के रूप में पहचाना गया। कहा जा रहा है जब घटना घटी उस समय ये लोग उस रॉकेट को लोड कर रहे थे जिसके निशाने पर इजराइल की आबादी थी।

बता दें इससे पहले भी साल 2018 में इस तरह की एक घटना सामने आई थी। उस समय भी इस्लामिक जिहाद समूह के चार आतंकियों की मौत ऐसे ही हुई थी। वह भी इजराइल पर हमले की तैयारी में जुटे थे। मगर, उत्तरी गाजा शहर में आतंकवादी शिविरों के पास हुए बम विस्फोट पर फिलिस्तीन मीडिया ने दावा किया था कि विस्फोट इजरायल वायु सेना के हमलों के कारण हुए। जबकि इजराइल के सुरक्षा अधिकारियों ने उस क्षेत्र में आतंकी समूहों के ख़िलाफ़ किसी भी एक्शन से इंकार किया था और आशंका जाहिर की थी कि हो सकता है ये विस्फोट उनके ‘काम’ के दौरान हुआ हो।

इस घटना के बाद आतंकवादी समूह ने घोषणा भी की थी कि ‘कब्जे वाली भूमि से आपराधिक लोगों को हटाने की तैयारी के समय’ एक विस्फोट में चार आतंकवादी – इयाद जमाल अल-जिदी, मुताज़ अमीर अल-मुबिद, याह्या फरीद अल-मुबिद और याक़ूब ज़ायदेह मारे गए।

बता दें कि हालिया घटना के बाद हमास के एक सदस्य ने सोमवार को मीडिया से बात करते हुए कहा कि वे यहूदियों की जमीन पर ऐसी हिंसा जारी रखेंगे, जब तक कि उनकी माँग पूरी नहीं हो जाती। हमास के नेता इस्माइल राडवान ने कहा, “इस घेराबंदी को तोड़ना हमारा अधिकार है।”

आतंकी हमले पर क्या बोला इजराइल

हाल ही में, गाजा से लगातार रॉकेट फायरिंग और आगजनी व बैलून हमलों के जवाब में इजरायल डिफेंस फोर्सेज उनके भूमिगत बुनियादी ढाँचे, हथियार उत्पादन सुविधाओं, सीमेंट कारखानों पर बमबारी कर रही हैं।

इजराइल के लड़ाकू जेट और टैंकों ने रविवार को दक्षिणी गाजा में हमास के आतंकी ठिकानों पर बमबारी की थी। जिसके बाद आतंकी समूहों ने सैकड़ों विस्फोटक उपकरणों और फायरब्रिजों को दक्षिणी इजराइल की ओर लॉन्च किया था। आईडीएफ ने कहा कि उन्होंने “दक्षिणी गाजा में हमास के आतंकी समूह की सैन्य चौकियों और भूमिगत ढाँचे पर हमला किया।”

इजराइल ने हमलों के बाद गाजापट्टी में अपना एकमात्र कमर्शियल क्रॉसिंग भी बंद कर दिया। उन्होंने केवल भोजन, दवा और मानवीय सहायता की अनुमति दी है। इज़राइल ने इसके अलावा तटीय परिक्षेत्र के आसपास मछली पकड़ने के क्षेत्र को भी बंद कर दिया है।

इसके अलावा यह भी उल्लेखनीय है कि साल 2007 में फिलिस्तीन प्रशासन के निष्कासन के बाद गाजापट्टी पर इजराइल और मिस्र ने नाकाबंदी की हुई है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

फेसबुक से रोहिंग्या मुस्लिमों ने माँगे ₹11 लाख करोड़, ‘म्यांमार में नरसंहार’ के लिए कंपनी पर ठोका केस

UK और अमेरिका में रह रहे रोहिंग्या शरणार्थियों ने हेट स्पीच फैलाने का आरोप लगाकर फेसबुक के ख़िलाफ़ ये केस किया है।

600 एकड़ में खाद कारखाना, 750 बेड्स वाला AIIMS: गोरखपुर को PM मोदी की ₹10,000 Cr की सौगात, हर साल 12.7 लाख मीट्रिक टन...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गोरखपुर को AIIMS और खाद कारखाना समेत ₹10,000 करोड़ के परियोजनाओं की सौगात दी। सीए योगी ने भेंट की गणेश प्रतिमा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
142,120FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe