Saturday, May 18, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयमुंबई हमलों के मास्टरमाइंड हाफिज सईद को टेरर फंडिंग मामले में 31 साल की...

मुंबई हमलों के मास्टरमाइंड हाफिज सईद को टेरर फंडिंग मामले में 31 साल की जेल, अमेरिका ने भी रखा है ₹75 करोड़ का ईनाम

वैसे, ये कोई नई बात नहीं है कि सईद को सजा सुनाई गई है, इससे पहले भी उसे आतंकवादियों के वित्त पोषण के मामले में 36 वर्षों की सजा सुनाई गई थी। फिलहाल वो लखपत जेल में सजा काट रहा है।

हाफिज सईद (Hafiz Saeed) दुनिया का वो खतरनाक आतंकवादी है, जिसका जिक्र होते ही मुंबई हमले (Mumbai Terror Attack) के जख्म ताजा हो जाते हैं। जमात-उद-दावा (JUD) चीफ हाफिज सईद के संगठन लश्कर-ए-तैयबा ने ही मुंबई पर आतंकी हमला किया था। इसी क्रम में अब आतंकवाद के दो मामलों में उसे 31 साल की सजा सुनाई गई है। साथ ही 3 लाख 40 हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया है।

रिपोर्ट के मुताबिक, हाफिज सईद को ये सजा टेरर फंडिंग के मामले में कोर्ट ने सुनाई है। हाफिज काउंटर टेररिज्म डिपार्टमेंट जुलाई 2019 में लाहौर से गुजरांवाला जाते वक्त गिरफ्तार किया गया था। हालाँकि, ये कोई नई बात नहीं है कि सईद को सजा सुनाई गई है, इससे पहले भी उसे आतंकवादियों के वित्त पोषण के मामले में 36 वर्षों की सजा सुनाई गई थी। फिलहाल वो लखपत जेल में सजा काट रहा है।

दो साल पहले भी हो चुकी है सजा

लश्कर ए तैयबा और जमात उद दावा चीफ हाफिज सईद को 2020 में ही आतंकी फंडिंग के मामले में पंजाब की एक कोर्ट ने 10 साल की सजा सुनाई थी। साथ ही उस पर 1.1 लाख रुपए के जुर्माने के साथ ही सईद की संपत्तियों को जब्त करने का भी आदेश दिया गया था। इसी मामले में सईद को दो अन्य साथियों जफर इकबाल और याहया मुजाहिद को भी साढ़े 10 साल कैद की सजा सुनाई गई थी। इसके अलावा अब्दुल रहमान मक्की को 6 महीने की कैद हुई थी।

UN घोषित कर चुका है वैश्विक आतंकी

गौरतलब है कि हाफिज सईद को संयुक्त राष्ट्र वैश्विक आतंकी घोषित कर चुका है। उस पर अमेरिका ने भी 1 करोड़ डॉलर (75,91,23,500 रुपए) का ईनाम रखा है। उल्लेखनीय है कि साल 2008 में मुंबई में बर्बर आतंकी हमला हुआ था, जिसमें 6 अमेरिकियों समेत 166 लोगों की मौत हो गई थी। इसका मास्टरमाइंड हाफिज ही था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

स्वाति मालीवाल बन गई INDI गठबंधन में गले की फाँस? राहुल गाँधी की रैली के लिए केजरीवाल को नहीं भेजा गया न्योता, प्रियंका कह...

दिल्ली में आयोजित होने वाली राहुल गाँधी की रैली में शामिल होने के लिए AAP प्रमुख अरविंद केजरीवाल को न्योता नहीं दिया गया है।

‘अनुच्छेद 370 को हमने कब्रिस्तान में गाड़ दिया, इसे वापस नहीं लाया जा सकता’: PM मोदी बोले- अलगाववाद को खाद-पानी देने वाली कॉन्ग्रेस ने...

पीएम मोदी ने कहा, "आजादी के बाद गाँधी जी की सलाह पर अगर कॉन्ग्रेस को भंग कर दिया गया होता, तो आज भारत कम से कम पाँच दशक आगे होता।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -